Home/भारतीय राजनीति Archives - My India
क्या नेहरू-गांधी की विरासत को आगे बढ़ा पाने में सक्षम हो पाएंगी प्रियंका गांधी?

23 जनवरी 2019 को, प्रियंका गांधी वाड्रा को कांग्रेस पार्टी की महासचिव के रूप में नियुक्त किया गया था। 2019 के लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले ही इनका पार्टी में आना, वास्तव में एक महत्वपूर्ण कदम है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की छोटी बहिन प्रियंका को पार्टी की तरफ से पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी भी बनाया गया है। वास्तव में, ऐसा पहली बार है कि प्रियंका गाँधी को पार्टी के भीतर औपचारिक रूप [...]

जाति में क्या है? हमारे नेताओं से पूछिए! 

ब्रेड और मक्खन की तरह राजनीति और जाति भी साथ-साथ चलती है। हमारे “धर्मनिरपेक्ष” राष्ट्र की स्थापना के बाद से हमारी राजनीति धर्म के नाम पर ही चल रही है और आने वाले दशकों तक ऐसे ही चलती रहेगी। हालांकि, जैसा कि 2019 के लोकसभा चुनाव करीब हैं, जाति आधारित राजनीति की एक नई लहर भारत में दौड़ने लगी है। आपको लगता होगा कि विधानसभा चुनावों के साथ हमारी राजनीतिक पार्टियां घोषणा पत्र की खामियों [...]

तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने राहुल गांधी को कहा "मसखरा"

भारतीय राजनीति बुद्धि और शिष्टता का खेल है, जिसे कोई चुनाव के समीप आते-आते खो देता है। प्रतिद्वंदियों ने बहुत ही चालाकी से दिल खोलकर शब्दों का प्रहार करने शुरू कर दिया है। 6 सितंबर को अटकलबाजियों से घिरे तेलंगाना में कुछ ऐसी ही घटना घटी। जब एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री, कल्वाकुंतला चंद्रशेखर राव (केसीआर) ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्हें “देश का सबसे बड़ा [...]

अटल बिहारी वाजपेयी- एक प्रभावशाली व्यक्ति

“मौत की उम्र ही क्या, दो पल भी नहीं” अटल बिहारी वाजपेयी, जो एक लेखक, राजनेता और कवि थे, का निधन 16 अगस्त 2018 को हो गया। बहुरूप से लोगों का हित करने वाले व्यक्ति ने अपने पीछे एक बहुत बड़ी विरासत छोड़ी है जिसे आने वाली पीढ़ियों द्वारा याद किया जाएगा। अटल बिहारी वाजपेयी जी के शब्द और दुनिया के प्रति उनके दृष्टिकोण आज के समय में प्रासंगिक है। वह भारत के सबसे उम्रदराज [...]

भारत में लोकतंत्र सफल है या विफल? भारत भले ही दुनिया की सबसे पुरानी सभ्यता हो पर राष्ट्र के तौर पर काफी युवा है। भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्रिक देश है। भारत में लोकतंत्र तब आया जब 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ। यह संविधान विश्व का सबसे लंबा लिखित संविधान है। भारत में लोकतंत्र को एक मशीन की तरह आसानी से चलना चाहिए लेकिन कुछ हानिकारक तत्व इस काम में [...]