बिहार

बिहार का नक्शा

बिहार
* बिहार का नक्शा (मानचित्र)

बिहार के महत्वपूर्ण तथ्य

 
राज्यपालआर एन कोविद
मुख्यमंत्री नितेश कुमार
आधिकारिक वेबसाइटwww.gov.bih.nic.in
स्थापना का दिन1912 बिहार के रूप में, (उड़ीसा प्रांत – बिहार), 26 जनवरी 1950
क्षेत्रफल94,163 वर्ग किमी
घनत्व1,102 प्रति वर्ग किमी
जनसंख्या (2011)104,099,452
पुरुषों की जनसंख्या (2011)54,278,157
महिलाओं की जनसंख्या (2011)49,821,295
जिले38
राजधानीपटना
नदियाँकोसी, गंगा, सरयू, गंडक, कमला, पनर, सौरा, पुनपुन
वन एवं राष्ट्रीय उद्यानवाल्मीकि राष्ट्रीय उद्यान, राजगीर अभयारण्य, भीमबांध अभयारण्य, गौतम बुद्ध अभयारण्य, उदयपुर अभयारण्य
भाषाएँहिंदी, भोजपुरी, मैथिली, अंगिका, मगही
पड़ोसी राज्यझारखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल
राजकीय पशुबैल
राजकीय पक्षी गौरैया
राजकीय वृक्षपीपल
राजकीय फूलगेंदा
नेट राज्य घरेलू उत्पाद (2011)20708
साक्षरता दर (2011)63.82%
1000 पुरुषों पर महिलायें916
विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र243
संसदीय निर्वाचन क्षेत्र40

बिहार के बारे में


बिहार का प्राचीन नाम ’विहार’ था, जिसका मतलब मठ होता है। यह भारत के पूर्वी भाग में स्थित है। क्षेत्रफल के हिसाब से बिहार भारत का बारहवां सबसे बड़ा और आबादी के मान से तीसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य है। बंगाल के तिकोने क्षेत्र में पहुंचने से पहले गंगा नदी इस राज्य से बहती है जिसके कारण यह राज्य वनस्पति और जीव-जन्तुओं से समृद्ध है। बिहार का वन क्षेत्र भी विशाल है जो कि 6,764 वर्ग किमी है। यह राज्य भाषाई तौर पर प्रभावकारी है क्योंकि यहां कई भाषाएं बोली जाती हैं, जैसे भोजपुरी, मैथिली, मगही, बज्जिका और अंगिका। बिहार की राजधानी पटना है, जिसका नाम पहले पाटलीपुत्र था। भारत के कुछ महान राजाओं जैसे समुद्रगुप्त, चन्द्रगुप्त मौर्य, विेक्रमादित्य और अशोक के शासन में बिहार शक्ति, संस्कृति और शिक्षा का केन्द्र बन गया। यहां उस समय के दो महान शिक्षा केन्द्र भी थे, विक्रमशिला और नालंदा विश्वविद्यालय। बिहार में आज भी यहां के 3,000 साल पुराने इतिहास की गवाही देते कई प्राचीन स्मारक मौजूद हैं और विश्वभर के लाखों पर्यटक इन्हें देखने आते हैं। राज्य में स्थित महाबोधि मंदिर को यूनेस्को द्वारा विरासत स्थल घोषित किया गया है।

बिहार का इतिहास


प्राचीन बिहार जिसका नाम मगध था ने, 1,000 सालों तक सत्ता, शिक्षा और संस्कृति के क्षेत्र में निर्णायक भूमिका निभाई। मौर्य नाम का पहला भारतीय साम्राज्य 352 ईस्वी में मगध में ही शुरु हुआ और उसकी राजधानी पाटलीपुत्र यानी आज का पटना थी। 240 ईस्वी में मगध में गुप्त साम्राज्य आया। गुप्त के नेतृत्व में भारत ने विश्व अर्थव्यवस्था पर प्रभुत्व हासिल किया। बिहार के सासाराम के महान पश्तून शासक शेर शाह सूरी ने सन् 1540 में उत्तर भारत की बागडोर संभाली। वह मुगलकाल के सबसे प्रगतिशील शासकों में से एक थे और उनके शासन में बिहार खूब फलाफूला। मुगलों के पतन के बाद बिहार बंगाल के नवाबों के नियंत्रण में आ गया।

बिहार का भूगोल


बिहार की स्थिति ठीक 24ह्-20´ और 27ह्-31’ उत्तरी अक्षांश के बीच और 82ह्-19’ और 88ह्-17’ पूर्व देशांतर है। इस हिसाब से बिहार भारत के उत्तर पूर्वी भाग में स्थित है। बिहार चारों ओर से जमीन से घिरा राज्य है, यह पूर्व में पश्चिम बंगाल, पश्चिम में उत्तर प्रदेश, उत्तर में नेपाल और दक्षिण में झारखंड राज्य से घिरा है। बिहार की मिट्टी स्वाभाविक तौर पर उपजाउ है और इसकी यह विशेषताएं भारतीय-गंगा समतल क्षेत्र की गंगा जलोड़ मिट्टी के कारण हैं, पश्चिम चंपारण में दलदली मिट्टी और उत्तरी बिहार में तैराई मिट्टी मिलती है। गंगा और उसकी सहायक नदियां बिहार में पश्चिम से पूर्व की ओर बहती हैं। बिहार के उत्तर में हिमालय पर्वत है जो वास्तव में नेपाल से शुरु होता है और इसके दक्षिण में कैमूर पठार और छोटानागपुर पठार है।

बिहार की सरकार और राजनीति


आजादी के बाद से बिहार की सामाजिक, आर्थिक स्थिति में गिरावट का दौर रहा जिस वजह से यह देश के पिछड़े राज्यों में गिना जाने लगा। बिहार की दो प्रमुख राजनीतिक पार्टियां हैं, एनडीए जिसमें भाजपा, जनता दल शामिल हैं और राष्ट्रीय जनता दल की अगुवाई वाला गठबंधन। बेहतर प्रशासन हेतु बिहार को नौ संभागों और 38 जिलों में बांटा गया है। आजादी के बाद आपातकाल के दौरान बिहार ने जयप्रकाश नारायण के नेतृत्व में चुनाव कराकर देश को बता दिया कि वह तानाशाही की जगह लोकतंत्र को चुनने में विश्वास रखता है। बिहार में सन् 1990 में जनता दल सत्ता में आया और लालू प्रसाद यादव मुख्यमंत्री बने। हालांकि वह भी बिहार का विकास करने में विफल रहे और भ्रष्टाचार बढ़ने पर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर अपनी पत्नी को मुख्यमंत्री बना दिया। यह वह वक्त था जब बिहार ने सारे सामाजिक पहलुओं में गिरावट देखी।

बिहार में शिक्षा


विकास के लिए शिक्षित दिमाग की आवश्यकता होती है, इसलिए शिक्षा किसी भी देश या राज्य की वर्तमान परिदृश्य को दर्शाती है। बिहार इस क्षेत्र में आगे तो बढ़ रहा है लेकिन यह अभी भी बस एक शुरुआत से ज्यादा कुछ नहीं है। आधुनिक बिहार में शिक्षा के बुनियादी ढांचे की बहुत कमी है जो मांग और आपूर्ति के बीच बहुत अंतर पैदा करती है। बिहार में शिक्षक अनुपस्थिति दर 37.8 प्रतिशत है और इसका शिक्षक-छात्र अनुपात और छात्र-कक्षा अनुपात सबसे अधिक है। बिहार में लगभग 10 प्रतिशत प्राथमिक स्कूलों में पीने हेतु साफ पानी भी नहीं है।

बिहार की ’आउट आॅफ स्कूल’ दर भी बहुत प्रभावशाली नहीं है। हालांकि धीरे-धीरे ही सही लेकिन स्थिति बेहतर हो रही है। आउट आॅफ स्कूल दर जो कि सन् 2006 में 12.8 प्रतिशत थी सन् 2007 में गिरकर 6.3 प्रतिशत हो गई। ईसाई मिशनरियों द्वारा संचालित निजी मिशनरी स्कूलों और मुस्लिम मौलवियों के मदरसों के अलावा बिहार में कई केन्द्रीय विद्यालय और जवाहर नवोदय स्कूल हैं। राज्य के ज्यादातर स्कूल बिहार विद्यालय परीक्षा मंडल के अंतर्गत आते हैं।

अर्थव्यवस्था


आजादी के बाद से बिहार की अर्थव्यवस्था कभी इतनी अच्छी नहीं रही जितनी आज है। नीतीश कुमार की सरकार ने ’न्याय के साथ विकास‘ को अपना मोटो बनाया जिससे बिहार की अर्थव्यवस्था में खासा सुधार हुआ। इसे एनडीटीवी ने ‘शांत बदलाव’ का नाम दिया। सन् 2007-08 में बिहार की प्रति व्यक्ति आय 11,615 रुपये थी। हालांकि सन् 2011-12 में यह बढ़कर 42.07 प्रतिशत हो गई। इसलिए अब भारत और बिहार की प्रति व्यक्ति आय के बीच के अंतर को खत्म करने के लिए समान वृद्धि दर बनाए रखनी होगी। बिहार की कम प्रति व्यक्ति आय की समस्या इसके विभिन्न जिलों में प्रति व्यक्ति आय की असमानता से और बढ़ी है।

बिहार की संस्कृति


बिहार गौतम बुद्ध और भगवान महावीर की जन्मभूमि है। इसलिए आज की बिहार की संस्कृति एक महान ऐतिहासिक अतीत की विरासत है। दीवाली के अलावा कुछ ऐसे त्यौहार हैं जो सिर्फ बिहार में ही मनाए जाते हैं। ऐसा एक त्यौहार छठ पूजा है। यहां सूर्य देवता की पूजा बहुत श्रद्धा से की जाती है। सर्दियों के महीनों में मिथिला में समा चाकेवा उत्साह से मनाया जाता है, जब हिमालय पर्वत से प्रवासी पक्षी इस क्षेत्र में आते हैं। बिहार का एक और लोकप्रिय त्यौहार मकर संक्राति है। राज्य में कई लोक गीत और नृत्य हैं जो विशेष अवसरों पर प्रदर्शित किये जाते हैं। बच्चे के जन्म के समय ‘सोहर’ गाया जाता है, शादी के वक्त ‘सुमंगली’ गाते हैं, पहले धान को बोते समय ‘कटनीगीत’ गाया जाता है और फसल की कटाई के दौरान ‘रोपनीगीत’ गाते हैं। बिहार की कुछ प्रसिद्ध लोक नृत्य शैलियां गोंड नाच, धोबी नाच, झूमर नाच, जितिया नाच आदि हैं।

बिहार की भाषाएं


बिहारी नाम बिहार और उसके पड़ोसी राज्यों में बोली जाने वाली विभिन्न भाषाओं का पर्यायवाची है। मैथिली, मगही, बज्जिका, भोजपुरी और अंगिका बिहार की प्रचलित भाषाएं है। इस तथ्य के बावजूद कि यह सभी भाषाएं बिहार में व्यापक तौर पर बोली जाती हैं, मैथिली को छोड़ कर किसी और भाषा को संवैधानिक मान्यता नहीं मिली। हिन्दी बिहार की प्रमुख भाषा है, शिक्षा और सरकारी मामलों में हिन्दी और उर्दू का उपयोग होता है। मगही भाषा का नाम मगधी प्राकृत से बना जो कि मौर्य साम्राज्य की आधिकारिक भाषा थी और भगवान बुद्ध भी इसे बोलते थे। मगही देवनागरी लिपि में लिखी जाती है। यह बिहार के आठ जिलों और झारखंड के तीन जिलों में बोली जाती है। भोजपुरी बिहार की बहुत लोकप्रिय भाषा है यह भारत की तीसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है।

बिहार का परिवहन


बिहार का परिवहन नेटवर्क बहुत विशाल है और देश के बाकी हिस्सों से इसे जोड़े रखता है। बिहार में कुल 29 राष्ट्रीय राजमार्ग और कई राज्य राजमार्ग हैं, जो कि क्रमशः 2,910 किमी और 3,766 किमी लंबे हैं। बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम कई डीलक्स और लक्ज़री बसें चलाता है जो लोगों को बिहार के मुख्य शहरों में लाती और ले जाती हैं। हाल ही में बिहार में ईज़ीकेब की तरह कार रेंटल सेवा भी शुरु हुई है। बिहार का रेल तंत्र राज्य को प्रमुख शहरों जैसे दिल्ली, मुंबई और कोलकाता से जोड़ता है। बिहार के अच्छी तरह जुड़े रेलवे स्टेशनों में पटना, मुजफ्फरनगर, दरभंगा, गया, कैथर, छपरा, बरौनी और भागलपुर हैं।

बिहार के जिले


क्र.सं.जिला का नामजिला मुख्यालयजनसंख्या (2011) विकास दर लिंग अनुपात साक्षरता क्षेत्र (वर्ग किमी) घनत्व (/ वर्ग किमी)
1अररियाअररिया281156930.25%92153.532829992
2अरवलअरवल70084318.89%92867.4348391099
3औरंगाबादऔरंगाबाद254007326.18%92670.323303760
4बांकाबांका203476326.48%90758.173018672
5बेगूसरायबेगूसराय297054126.44%89563.8719171540
6भागलपुरभागलपुर303776625.36%88063.1425691180
7भोजपुरArrah272840721.63%90770.4724731136
8बक्सरबक्सर170635221.67%92270.1416241003
9दरभंगादरभंगा393738519.47%91156.5622781721
10गयागया439141826.43%93763.674978880
11गोपालगंजगोपालगंज256201219.02%102165.4720331258
12जमुईजमुई176040525.85%92259.793099567
13जहानाबादजहानाबाद112531321.68%92266.815691206
14कैमूरभबुआ162638426.17%92069.343363488
15कटिहारकटिहार307102928.35%91952.2430561004
16खगरियाखगरिया166688630.19%88657.9214861115
17किशनगंजकिशनगंज169040030.40%95055.461884898
18लखीसरायलखीसराय100091224.77%90262.421229815
19मधेपुरामधेपुरा200176231.12%91152.2517871116
20मधुबनीमधुबनी448737925.51%92658.6235011279
21मुंगेरमुंगेर136776520.21%87670.461419958
22मुजफ्फरपुरमुजफ्फरपुर480106228.14%90063.4331731506
23नालंदाबिहार शरीफ287765321.39%92264.4323541220
24नवादानवादा221914622.63%93959.762492889
25पश्चिम चंपारणबेतिया393504229.29%90955.75229753
26पटनापटना583846523.73%89770.6832021803
27पूर्व चंपारणमोतिहारी509937129.43%90255.7939691281
28पूर्णियापूर्णिया326461928.33%92151.0832281014
29रोहताससासाराम295991820.78%91873.373850763
30सहरसासहरसा190066126.02%90653.217021125
31समस्तीपुरसमस्तीपुर426156625.53%91161.8629051465
32सरनछपरा395186221.64%95465.9626411493
33शेखपुराशेखपुरा63634221.09%93063.86689922
34शिवहरशिवहर65624627.19%89353.784431882
35सीतामढ़ीसीतामढ़ी342357427.62%89952.0521991491
36सिवानसिवान333046422.70%98869.4522191495
37सुपौलसुपौल222907628.66%92957.672410919
38वैशालीहाजीपुर349502128.57%89566.620361717