My India - All about India

वोदका डायरीज

कलाकारः के के मेनन, राइमा सेन, मंदिरा बेदी, शारिब हाशमी निर्देशकः कुशल श्रीवास्तव निर्माताः विशाल कारेरा, विशाल राज, कुशल श्रीवास्तव, अतुल पुन्ज, विवेक सुधींद्र, कुलश्रेष्ठ प्रोडक्सन हॉउसः केस्कोप एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड, विशालराज फिल्म्स एंड प्रोडक्शन प्राइवेट लिमिटेड लेखक: वैभव बाजपेयी सिनेमेटोग्राफी: मनीष चंद्र भट्ट संगीत: संदेश शांडिल्य, हैरी आनंद और परवेज़ शैली: थ्रिलर कथानकः कुशल श्रीवास्तव द्वारा निर्देशित “वोदका डायरीज”, एक रहस्यमयी थ्रिलर फिल्म है। फिल्म की कहानी एक पुलिस अधिकारी एसीपी अश्विनी दीक्षित (मेनन) [...]

क्या दिल्ली की विस्फोट आबादी में कमी आएगी?

हाल ही में मैंने दिल्ली के बारे में ऐसा सुना है कि “यह शहर अपने साधनों से परे है।” अच्छा अगर ऐसा है, तो हाल ही में एक संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट ने शहर की बढ़ती आबादी को चिंता का हवाला दिया है, जो शायद राजधानी शहर के सामाजिक-पारिस्थितिक संतुलन को नष्ट कर रही है। यह बताया जा चुका है कि वर्ष 2014 में दिल्ली दुनिया का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला शहर है। वर्ष [...]

सोशल मीडिया और राजनीति पर इसका प्रभाव

भारतीय राजनीति बदल रही है और परिवर्तनों के इस दौर में लोगों के साथ जुड़ने के लिए सोशल मीडिया सबसे बेहतर साधन है। भारत विविधताओं वाला देश है और जिसमें हमारे देश की कुल आबादी में से लगभग 34% युवा वर्ग की भागीदारी है। इस तरह सोशल मीडिया एक विशाल समुदाय तक संदेश पहुँचाने का सबसे अच्छा साधन है जो लोगों के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। आप पार्टी द्वारा सोशल मीडिया का [...]

सुभाष चंद्र बोस का भारत के स्वतंत्रता संग्राम में योगदान

जैसे ही ब्रिटिश के खिलाफ भारत के स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास की बात आती है, तो  महत्वपूर्ण स्वतंत्रता सेनानी व्यक्तियों में सुभाष चंद्र बोस का नाम विशेष रूप से आता है। शुरूआत से ही, अति महत्वाकांक्षी बोस ने स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने का फैसला कर लिया था, यह जानने के बावजूद कि यह मार्ग मुश्किलों से भरा हुआ है, फिर भी वह इसमें शामिल हो गए थे। शुरुआत सुभाष चन्द्र बोस, जिन्हें प्यार से [...]

भारत में जेनेरिक दवाएं: अधिक जागरूकता की आवश्यकता है

ज्ञात तथ्य यह है कि भारत जेनेरिक दवाओं के मामलों में वैश्विक नेता है, जो दवाएं अफ्रीका और अमेरिका सहित कई अन्य उभरते हुए बाजारों में निर्यात की जाती है। 2 अक्टूबर 2012 को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और भारतीय चिकित्सा परिषद ने एक निर्देश जारी किया था कि भारत में जेनेरिक दवाओं को ब्रांडेड नामों के तहत नहीं, बल्कि उनके सामान्य नामों से ही बेचा जाएगा और केंद्र एवं राज्य सरकारों के अस्पतालों में सभी [...]

जयललिता की संपत्ति के बारे में कुछ रोचक तथ्य

अन्नाद्रमुक नेता जयललिता की रिहाई के साथ ही चेन्नई की गलियों में खुशियाँ लौट आयी थीं। इस आकस्मिक घटना से तमिलनाडु के तत्कालीन मुख्यमंत्री के द्वारा किए गये भ्रष्टाचार के आरोप सामने आए। यद्यपि अम्मा (जयललिता) एक ऐसे व्यक्तित्व के साथ उभरकर समाने आईं हैं जिसका परीक्षण ‘शुद्ध सोने की तरह’ किया गया हो, फिर भी उनके बारे में कुछ तथ्य बहुत ही कम ज्ञात हैं, जो हमें इस 19 साल के लंबे प्रकरण के [...]

कोलकाता के समीप सुशोभित हंसेश्वरी मंदिर

स्थान: कोलकाता, पश्चिम बंगाल के निकट बांसबेरिया शहर भगवान में विश्वास होने के नाते, मुझे हमेशा से विभिन्न धार्मिक स्थानों पर जाना पसंद है। भारत देश मंदिरों का एक विशाल केंद्र है, मैं देश के कुछ सबसे खूबसूरत और प्राचीन मंदिरों की एक सारणी खोजने के लिए भाग्यशाली रही हूँ। जिस प्रकार मेरी खोज जारी रही, मुझे एक ऐसा मंदिर मिला, जिसे लोग कुछ-कुछ भुला चुके थे, जिसको मैंने इससे पहले कभी नहीं देखा था। [...]

भारत में रॉक क्लाइंबिंग के लिए सर्वश्रेष्ठ स्थान

बाहर के विभिन्न साहसिक खेलों के साथ-साथ रॉक क्लाइंबिंग (चट्टानों पर चढ़ाई) भी भारत में सबसे साहसिक और लोकप्रिय खेलों में से एक है। इसके कई कारण हैं कि देश में रॉक क्लाइंबिंग ने इतनी ज्यादा लोकप्रियता क्यों प्राप्त कर ली है। सबसे पहला कारण, लोग कुछ ऐसा करना चाहते हैं जो आबादी से दूर हो और यह इच्छा वह रॉक क्लाइंबिंग को चुनकर पूरी कर सकते हैं। दूसरा कारण, भारत अपनी भौगोलिक स्थिति के [...]

जम्मू और कश्मीर में अमरनाथ मंदिर

भगवान शिव को समर्पित अमरनाथ मंदिर भारत में हिंदुओं के सबसे प्रतिष्ठित तीर्थ स्थलों में से एक है। अमरनाथ मंदिर जम्मू-कश्मीर राज्य में स्थित है। अमरनाथ की गुफा लगभग 12,760 फीट की ऊँचाई पर स्थित है और हर साल भगवान शिव का शिवलिंग, जो स्वाभाविक रूप से बर्फ से बनता है,शिवलिंग का दर्शन करने के लिए हजारों भक्त आते हैं। पहलगाम और बालटाल दोनों से पंचतरणी तक हेलीकॉप्टर सेवाएं उपलब्ध हैं। वहाँ से गुफा तक [...]

प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय भारतीय महिला खिलाड़ी

हालांकि काफी समय तक भारतीय महिलाएं पारंपरिक रूप से एथलेटिक में बहुत लंबे समय तक अंतर्राष्ट्रीय और यहाँ तक कि राष्ट्रीय खेलों के आयोजनों और प्रतियोगिताओं में भाग लेने से हिचकती रहीं हैं। लेकिन सन 1980 के दशक की शुरूआत से महिलाओं की नई पीढ़ी उभर कर आई, जिसने न केवल अपने सपनों को जीतने की हिम्मत दिखाई, बल्कि वैश्विक खेलों के नक्शे पर भारत को भी शिखर पर ले गईं। उनमें से ज्यादातर महिलाओं [...]