Home / History

Category Archives: History

गुरु पूर्णिमा 2018: महत्व, इतिहास और उत्सव

गुरु पूर्णिमा का उत्सव, हमारे गुरुओं को याद करने और उनसे आशीर्वाद लेने का एक शुभ अवसर होता है। “गुरु” का अर्थ विडंबनापूर्ण है अर्थात ‘गु’ का अर्थ है अंधेरा और ‘रू’ का अर्थ है अंधेरे को खत्म करने का प्रतीक। इसलिए, दोनों शब्द का एक सच्ची भावना बनाकर गुरु के रूप का वर्णन करते हैं जो हमारे मस्तिष्क और आत्मा को उजागर करते हैं तथा हमारे जीवन के सभी अधंकार को दूर कर देते [...]

भारत और गणित के बीच रिश्ता कोई नया नहीं है। यह 1200 ईसा पूर्व और 400 ईस्वी से 1200 ईस्वी के स्वर्ण युग तक जाता है जब भारत के महान गणितज्ञों ने इस क्षेत्र में बड़ा योगदान दिया था। भारत ने दुनिया को दशमलव प्रणाली, शून्य, बीजगणित, उन्नत ट्रिगनोमेट्री यानि त्रिकोणमिति, नेगेटिव नंबर यानि नकारात्मक संख्या और इसके अलावा बहुत कुछ दिया है। 15 वीं शताब्दी में केरल के एक स्कूल के गणितज्ञ ने त्रिकोणमिति [...]

भारत में हुए शीर्ष 10 आतंकवादी हमले

यहाँ पर ऐसे आतंकवादी हमलों की एक सूची है जिन्होंने भारत को हिलाकर रख दिया 26/11 आतंकी हमला- भारत में सबसे खतरनाक आतंकवादी हमला नवंबर 2008 को हुआ था, जब 10 आतंकवादियों ने रिहाई के लिए भारत की वाणिज्यिक राजधानी को चार दिनों तक अपनी हिरासत में ले लिया था। यह नरसंहार 26 तारीख को हुआ था, जब आतंकवादी समुद्र के माध्यम से देश में प्रवेश करने में सफल हुए थे और यह खूनी खेल [...]

राजा राम मोहन राय - एक समाज सुधारक

राजा राम मोहन राय एक भारतीय सामाजिक-शिक्षा सुधारक थे, जिन्हें “आधुनिक भारत के निर्माता” और “आधुनिक भारत के पिता” और “बंगाल पुनर्जागरण के पिता” के नाम से भी जाना जाता था। जिन्होंने 18 वीं शताब्दी के दौरान समाज में प्रचलित सामाजिक बुराइयों को खत्म करने में बहुत योगदान दिया। उन्होंने आने वाली पीढ़ियों के लिए अपनी मातृभूमि को बेहतर जगह बनाने का हर संभव प्रयास किया। राजा राम मोहन राय के बारे में राजा राम [...]

इंडिया गेट का इतिहास – इसका निर्माण किसने करवाया

दिल्ली, भारत का एक अभिन्न अंग है जो शहीदों को समर्पित है इंडिया गेट उन लोगों की याद में बना है, जिन्होंने देश के लिए अपने जीवन को समर्पित कर दिया था। यह स्मारक नई दिल्ली में राजपथ मार्ग पर स्थित है, जो भारत की विरासत के रूप में जाना जाता है। इंडिया गेट एड्विन लैंडसियर लूट्यन्स द्वारा डिजाइन किया गया था और इसका निर्माण 1931 में पूरा हुआ था। शुरूआत में इस स्मारक का [...]

भारतीय संस्कृति में योग

योग, आध्यात्मिक भारत को जानने और समझने का एक तरीका है। इसके साथ ही योग भारत की संस्कृति और विरासत से भी जुड़ा हुआ है। संस्कृत में, योग का अर्थ है “एकजुट होना”। योग स्वस्थ जीवन जीने के तरीके का वर्णन करता है। योग में ध्यान लगाने से मन अनुशासित होता है। योग से शरीर का उचित विकास होता है और यह सुदृढ़ होता है। योग के अनुसार, यह वास्तव में हमारे स्वास्थ्य पर अपना [...]

भारत की दिलचस्प पुरातात्विक खोजें

पहले कौन आया, चूजा या अंडा       ब्रह्मांड की उत्पत्ति हमेशा एक रहस्य रही है और यह दुनिया कैसे विकसित हुई यह जानने की जिज्ञासा हर उम्र के लोगों में रहती है। पुरातत्ववेत्ता हमेशा इस बात का उत्तर और सुराग खोजने के लिए सर्वेक्षण करते रहते हैं जो इस दुनिया को थोड़ी बहुत जानकारी प्रदान करते हैं कि वर्तमान में हमारी जिंदगी कैसी है और जो उस जीवन से कितना अलग है? विश्व धरोहर स्थल [...]

डॉ. बी आर अंबेडकर

डॉ. बी आर अंबेडकर (भीमराव रामजी अम्बेडकर) जिन्हें बाबासाहेब के नाम से जाना जाता है, महार के अछूत जाति परिवार में पैदा हुए थे। लेकिन उनके लिए इस चरम पर पहुँचना कोई बड़ी बात नहीं थी । वह एक महान शिक्षक, वक्ता, दार्शनिक, नेता बन गए और इस तरह के कई अधिक पुरस्कार अर्जित किए। इसके अलावा वह भारत में कॉलेज शिक्षा प्राप्त करने वाले अपनी जाति में पहले व्यक्ति थे, क्योंकि अछूतों को शिक्षा पाने [...]

सिख धर्म: मानवता और समानता के संदेश का प्रसार

गुरु नानक देव जी द्वारा संस्थापित, सिख धर्म विश्व का पाँचवां सबसे बड़ा धर्म माना जाता है। यह धर्म अपने 25 करोड़ अनुयायियों के माध्यम से विश्वव्यापी ईश्वर तथा साथ ही परमात्मा की दृष्टि में सभी के लिए समान स्थित और अवसरों के संदेशों का प्रसार करता है। सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव का जन्मदिन गुरुपुरब शुभकामना संदेश के साथ एक त्यौहार के रूप में मनाया जाता है। यह एक ऐसे धर्म के [...]

औरंगाबाद में अजंता की गुफाएं-

स्थान: औरंगाबाद, महाराष्ट्र भारतीय कला का शानदार नमूना महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में स्थित एक पृथक घाटी में छिपा हुआ है। विश्व प्रसिद्ध विरासत स्थल, अजंता गुफाएं भारत में सबसे पुरानी गुफा स्मारकों में से एक हैं, जो दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व में निर्मित की गई हैं। इन गुफाओं को बौद्ध भिक्षु कारीगरों द्वारा कलात्मक रूप से पत्थरों को तराश कर बनाई गई थी, जो यही पर रहना, पूजा करना और शिक्षा देना का कार्य [...]