Home / Government

Category Archives: Government

जब 2009 में पहली बार शिक्षा का अधिनियम पारित हुआ था, तो इसके आलोचक यह सोचते थे कि क्या यह पूरी तरह से क्रियान्वित हो पाएगा। आरटीई एक क्रियाशीलता का हिस्सा है न कि कोई जादू की छड़ी, जो निश्चित रूप से वंचित बच्चों को शिक्षा प्रदान करने वाली चुनौतियों का समापन कर देगा। आरटीई (शिक्षा का अधिकार) ने स्कूलों में कुछ विशेष रूप से मूल सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं और जिसके फलस्वरूप सुविधाहीन स्कूली [...]

डॉ. बी.आर. अम्बेडकर का स्मरण

मैं इस बात को हमेशा याद रखती हूँ कि कैसे सामूहिक रूप से कुछ लोगों के बारे में बात की जाए और कैसे उनके बारे में अधिक से अधिक जानकारी फैलाई जाए, जिन्होंने हमारे लिए संघर्ष किया या फिर उससे भी कही ज्यादा। ऐतिहासिक दृष्टि से बाबासाहेब अम्बेडकर जैसे एक महत्वपूर्ण व्यक्तित्व के मामले में, यह और भी बड़ा सत्य है। भारत के अधिकाशः लोग डॉ. अम्बेडकर को भारतीय संविधान के निर्माता के रूप में [...]

भारतीय वायुसेना

भारतीय वायुसेना, इंडियन डिफेंस सर्विस की हवाई शाखा, की आधिकारिक तौर पर स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को भारतीय गगनमंडल की रक्षा करने के लिए की गई थी। भारत का राष्ट्रपति भारतीय वायुसेना का सर्वोच्च कमांडर होता है। भारतीय वायुसेना के पद की प्रक्रिया, रॉयल एयर फोर्स की संरचना पर आधारित है। “महिमा के साथ आकाश को स्पर्श करें” यह भारतीय वायुसेना का आदर्श वाक्य है। आइए भारतीय वायुसेना के पद की संरचना पर नजर डालते [...]

भारतीय संविधान का इतिहास

1946 में अंग्रेजों ने भारत को स्वतंत्रता देने पर गंभीरता से विचार करना शुरू कर दिया था। अंग्रेजों ने भारतीय संविधान का प्रारूप तैयार करने के लिए व संविधान सभा स्थापित करने की संभावना पर चर्चा करने के लिए, ब्रिटिश सरकार और विभिन्न भारतीय राज्यों के प्रतिनिधियों से एक साथ मिलने  योजना के कारण, भारत में एक कैबिनेट मिशन भेजा गया था। यहाँ पर भारत के संविधान के बारे में कुछ कम ज्ञात तथ्य दिए [...]

अंगदान

वह प्रक्रिया जिसके द्वारा जैविक ऊतकों या अंगों को एक मृत या जीवित व्यक्ति से प्राप्त करके या निकालकर, उन्हें किसी दूसरे प्राप्तकर्ता के शरीर में जिसे इसकी आवश्यकता होती है, उसमें प्रत्यारोपित किया जाता है, तो उस प्रक्रिया को अंगदान कहते हैं। अंग या ऊतक को प्राप्त करने या प्रत्यारोपित करने की प्रक्रिया को हार्वेस्टिंग के रूप में जाना जाता है। अंगदान किसी के भी जीवन को बचा सकता है, लेकिन भारत में लोगों [...]

मूर्ति बर्बरता- एक विनाशकारी विचारधारा

पिछले कुछ हफ्तों से, भारत के विभिन्न हिस्सों से प्रसिद्ध राजनीतिक और सामाजिक सुधारकों की मूर्तियों की तोड़-फोड़ की घटनाओं से संबंधित खबरें आ रही हैं। मूर्तियों के विध्वंस की सबसे पहली घटना त्रिपुरा से आई थी, जब कुछ दिन बाद भाजपा-आईपीएफटी गठबंधन ने 25 वर्षीय वाम-मोर्चा सरकार पर अपना कब्जा कर लिया था। तब से, इस तरह के परिमाण वाली घटनाओं की खबरें केरल, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल राज्यों से सुनने को [...]

भारतीय अर्थव्यवस्थाः विश्व वर्चस्व की ओर

चुनावी जनादेश के बाद भाजपा की अगुवाई वाली एनडीए ने 2014 में लोकसभा चुनावों में भारी बहुमत से जब से अपनी सरकार बनाई है, तब से भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूती से आगे की ओर बढ़ रही है। क्योंकि भारतीय अर्थव्यवस्था के बारे में आमतौर पर उद्योगों, बाजारों और जनता में एक नया उत्साह था। भारतीय आर्थिक स्थिति में सुधार लाने में नई सरकार का बहुत बड़ा योगदान रहा। पिछले चार सालों में, सरकार वैश्विक अर्थव्यवस्था के [...]

भारतीय लोकतंत्र में मीडिया की भूमिका

लोकतंत्र को पूरे विश्व में स्थापित करने के लिए मीडिया ने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। 18वीं शताब्दी के बाद से, विशेष रूप से अमेरिकी स्वतंत्रता आंदोलन और फ्रांसीसी क्रांति के समय से, मीडिया जनता तक पहुंँचने और ज्ञान के साथ उन्हें सक्षम बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। लोकतांत्रिक देशों में विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका के कामकाज पर नजर रखने के लिए मीडिया को “चौथे स्तंभ” के रूप में जाना जाता है, जैसा [...]

यमुना नदी

यमुना नदी या जमुना जी के रूप में जानी जाने वाली इस नदी के किनारे या उसकी सहायक नदियों के पास लाखों लोग निवास करते हैं। भारतीय पौराणिक कथाओं के अनुसार, इसे धार्मिक नदी माना जाता है, क्योंकि यह नदी अपने तटीय क्षेत्र की आबादी के लिए एक जीवन रेखा के रूप में कार्य करती है। इस नदी का उद्गम हिमालय में यमुनोत्री ग्लेशियरों से होता है। यह नदी उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, [...]

महिला सशक्तिकरण

माता, बहन, बेटी, पत्नी और मित्र आदि जैसे रिश्तों के रूप में महिलाएं समाज की सेवा करने वाली सबसे महत्वपूर्ण सदस्य हैं। इन दिनों महिलाओं द्वारा दिया जाना वाला योगदान घर तक ही सीमित नहीं है, बल्कि कई महिलाएं समाज में उच्च स्थान पर भी आसीन हैं, क्योंकि आज के समय में महिलाएं खेल, वित्त, शिक्षा आदि जैसे हर क्षेत्र में श्रेष्ठ हैं। इसलिए, पिछले कुछ सालों में सरकार ने महिलाओं के उत्थान के उद्देश्य [...]