पश्चिम बंगाल

West Bengal Map in Hindi

पश्चिम बंगाल
* ऊपर दिया हुआ पश्चिम बंगाल का नक्शा (मानचित्र) जिला, अंतरराष्ट्रीय सीमा, राज्य सीमा, जिला सीमा, राज्य मुख्यालय दर्शाता है|

पश्चिम बंगाल के महत्वपूर्ण तथ्य

राज्यपालकेसरी नाथ त्रिपाठी
मुख्यमंत्रीममता बनर्जी (तृणमूल कांग्रेस)
आधिकारिक वेबसाइटwww.westbengal.gov.in
स्थापना का दिन1 नवंबर 1956
क्षेत्रफल88,752 वर्ग किमी
घनत्व1,029 प्रति वर्ग किमी
जनसंख्या (2011)91,276,115
पुरुषों की जनसंख्या (2011)46,809,027
महिलाओं की जनसंख्या (2011)44,467,088
जिले20
राजधानीकोलकाता
नदियाँहुगली, तीस्ता, जलधका, रुपनारायण
वन एवं राष्ट्रीय उद्यानगोरुमारा राष्ट्रीय उद्यान, सुंदरबन राष्ट्रीय उद्यान, बल्लवपुर वन्यजीव अभयारण्य, चपरामारि वन्यजीव अभयारण्य
भाषाएँबंगाली, हिंदी, अंग्रेजी, नेपाली
पड़ोसी राज्यअसम, सिक्किम, बिहार, झारखंड, ओडिशा
राजकीय पशुमत्स्य पालन बिल्ली
राजकीय पक्षी श्वेतकण्ठ कौड़िल्ला
राजकीय वृक्षसप्तपर्ण
राजकीय फूलपारिजात
नेट राज्य घरेलू उत्पाद (2011)48,536
साक्षरता दर (2011)86.43%
1000 पुरुषों पर महिलायें947
विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र294
संसदीय निर्वाचन क्षेत्र42

पश्चिम बंगाल के बारे में


पश्चिम बंगाल देश के उत्तरपूर्वी भाग में स्थित है। इसके उत्तर में भूटान और सिक्किम, पूर्व में बांग्लादेश और उत्तर-पूर्व में असम है। यह दक्षिण की ओर से बंगाल की खाड़ी, दक्षिण-पश्चिम की ओर से ओडिशा, उत्तर-पश्चिम की ओर से नेपाल और पश्चिम की ओर से बिहार से घिरा है। दक्षिण के जलोड़ मैदान को हुगली नदी से पानी मिलता है और हुगली की सहायक नदियां मयूरक्शी, दामोदर, कंगसाबती और रुपनारायण हैं। उत्तरी हिमालय जिसमें दार्जिलिंग, जलपईगुड़ी और कूच बिहार जिले शामिल हैं, वहां तेज बहाव वाली नदियां तीस्ता, तोरसा और जलधका से पानी आता है। उंचाई बढ़ने के साथ साथ पश्चिम बंगाल की प्रकृति और जलवायु में बदलाव आता है। हिमालय के निचली ओर उत्तरी पर्वतों से लेकर सुंदरबन के ट्राॅपिकल जंगलों तक पश्चिम बंगाल अद्भुत सौंदर्य की धरती है जिसका एक क्षेत्र दूसरे से अलग है।

पश्चिम बंगाल के तथ्य


क्षेत्र के मान से पश्चिम बंगाल भारत के छोटे राज्यों में गिना जाता है पर आबादी के हिसाब से यह सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले राज्यों में से है। यहां की राजधानी कोलकाता भारत का तीसरा सबसे बड़ा महानगर है। अन्य महत्वपूर्ण शहरों और कस्बों में हावड़ा, आसनसोल, दुर्गापुर, सिलीगुड़ी, दार्जिलिंग, खड़गपुर और हल्दिया हैं। पश्चिम बंगाल में 295 सीटों वाली एकल कक्ष विधान सभा है। राज्य से 58 सदस्य भारतीय संसद जाते हैं - 16 राज्य सभा और 42 लोक सभा। स्थानीय सरकार 20 प्रशासनिक जिलों पर आधारित है।

पश्चिम बंगाल का इतिहास


बंगाल का पूर्व ऐतिहासिक काल में एक विशिष्ट स्थान है। सिकंदर के आक्रमण के समय गंगारिदाई नाम के ताकतवर साम्राज्य का बंगाल पर शासन था। गुप्त और मौर्य के प्रभुत्व का बंगाल पर कुछ ज्यादा असर नहीं पड़ा। बाद में शशांक बंगाल के राजा बने और कहा जाता है कि सातवीं शताब्दी के पूर्वार्द्ध में उन्होंने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उसके बाद गोपाला ने पाला साम्राज्य बनाया जिसने यहां सदियों तक राज किया और विशाल राजवंश बनाया। पाला के बाद सेना साम्राज्य आया जिसका अंत दिल्ली के मुस्लिम शासकों ने किया। 16वीं सदी में मुगल काल आने तक बंगाल पर कई मुस्लिम शासकों और गवर्नरों ने राज किया।

पश्चिम बंगाल की अर्थव्यवस्था और बुनियादी ढांचा


राज्य की अर्थव्यवस्था में कृषि की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। पश्चिम बंगाल में चार में से तीन व्यक्ति प्रत्यक्ष या परोक्ष रुप से कृषि से जुड़े हैं। राज्य का जूट उत्पादन देश में सबसे अधिक है। यह चाय का भी प्रमुख उत्पादक है। राज्य की प्रमुख फसलों में आलू, तिलहन, पान, तंबाकू, गेंहू, जौ और मक्का हैं। भारत के चावल उत्पादक राज्यों में इसका महत्वपूर्ण स्थान है। राज्य का खनिज उत्पादन भी अच्छा है जिसमें डोलोमाइट, चूना पत्थर और चीनी मिट्टी शामिल हैं। यहां स्टील प्लांट, आॅटोमोबाइल विनिर्माण प्लांट और कई केमिकल, मशीनरी, निर्माण और हल्के-इंजीनियरिंग उद्योग हैं। राज्य के बुनियादी ढांचे का प्रोफाइल इस प्रकार हैः

सड़कें - सतह वाली - 25984 किमी., बिना सतह वाली - 32016 किमी., राष्ट्रीय राजमार्ग - 1631 किमी.

रेलवे - 3767 किमी., पूर्वी और दक्षिण पूर्वी रेलवे का मुख्यालय कोलकाता में है।

दूरसंचार - बुनियादी टेलीफोन - कार्यरत लाइन 797800, प्रतीक्षा सूची में 150200, एक्सप्रेस मांग 1.4 प्रति 100 आबादी पर। कोलकाता और उसके आसपास वीएसएनएल का अंतर्राष्ट्रीय गेटवे और अर्थस्टेशन है। ग्रेटर कोलकाता में मोबाइल सेल्युलर सेवा मोदी टेलेस्ट्रा और उषा मार्टिन टेलीकाॅम मलेशिया द्वारा मुहैया कराई जाती है। शेष राज्य में प्रस्तावित मोबाइल सेवा रिलायंस/एनवायएनइएक्स द्वारा है। चार आॅपरेटरों द्वारा पब्लिक रेडियो पेजिंग सेवा और कई आॅपरेटरों द्वारा ई-मेल सेवा दी जाती है।

हवाई अड्डे: घरेलू - बागडोगरा, अंतर्राष्ट्रीय - कोलकाता

प्रमुख बंदरगाह: कोलकाता, हल्दिया

पश्चिम बंगाल का भूगोल


पश्चिम बंगाल का भूगोल विविध है। यह राज्य भारत के पूर्वी भाग में स्थित है। इसके पूर्व में बांग्लादेश है। पश्चिम बंगाल के उत्तर में भूटान और सिक्किम हैं। इसके उत्तरपूर्व में असम है। राज्य के पश्चिम की ओर झारखंड और बिहार हैं। राज्य की भौगोलिक स्थिति 23 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 88 डिग्री पूर्वी देशांतर है। पश्चिम बंगाल का कुल क्षेत्रफल 88,752 वर्ग किमी. है। सन् 2011 की जनगणना के अनुसार, राज्य की आबादी 9,12,76,1115 है। पश्चिम बंगाल की जनसंख्या का घनत्व 1029 प्रति वर्ग किमी. है। राज्य की कुल आबादी में पुरुषों और महिलाओं का अनुपात 947 का है। पश्चिम बंगाल की जनसंख्या में बंगली आबादी का प्रभुत्व है। दूसरे राज्यों से आए लोगों की वजह से पश्चिम बंगाल की आबादी विविधता से समृद्ध हुई है।

पश्चिम बंगाल सरकार


राज्य के राजनीतिक परिदृश्य में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी माक्र्सवादी, भाकपा, आॅल इंडिया फाॅरवर्ड ब्लाॅक, बहुजन समाज पार्टी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी, समाजवादी पार्टी और क्षेत्रीय दल जैसे तृणमूल कांग्रेस, एसयूसीआई, सीपीआईएमएल, झारखंड मुक्ति मोर्चा, पीडीएस, जेडेएस, जेडीयू, आरएसपी आदि हैं।

पश्चिम बंगाल न्यायपालिका


पश्चिम बंगाल राज्य का सौभाग्य है कि उसके पास एक व्यवस्थित और संगठित न्यायपालिका है जो त्वरित न्याय देने में सक्षम है। संयुक्त राज्य अमेरिका की तरह भारत में सरकार की संघीय प्रणाली नहीं है। भारत में शासन की एकात्मक प्रणाली है जिसके तहत सुप्रीम कोर्ट सर्वोच्च न्यायिक प्राधिकरण है जिसे राज्य के उच्च न्यायालय समर्थन देते हैं।

पश्चिम बंगाल का समाज और संस्कृति


पश्चिम बंगाल की आबादी का तीन चैथाई गांवों में बसता है। विभिन्न धर्मों में हिंदू धर्म अपनी सभी जातियों और पुराने कुटुम्बों के साथ तीन-चैथाई से अधिक आबादी द्वारा पालन किया जाता है, शेष आबादी मुस्लिमों की है। पश्चिम बंगाल में 40 से ज्यादा मान्य आदिवासी समुदाय हैं। इनमें से ज्यादा जाने जाने वाले संतल, ओराओ, मुनस, लेपचाओं और भूटिया हैं। यह सब मिलकर कुल आबादी के दसवें हिस्से से भी कम हैं। राज्य में ज्यादातर लोग बंगाली बोलते हैं। हिंदी, उर्दू, नेपाली और अंग्रेजी कम बोली जाने वाली भाषाएं हैं। अंग्रेजी भाषा का इस्तेमाल प्रशासन और व्यावसायिक कार्यों के लिए किया जाता है।

पश्चिम बंगाल में पर्यटन


पूर्वी भारत के इस राज्य मेें देश भर से टूरिस्ट आते हैं। इसकी भौतिक विशेषताओं की विविधता इसे सैलानियों की पसंदीदा जगह बनाती है। चाहे हरे भरे जंगल हों या पहाड़, समुद्र तट हो या धार्मिक स्थान, इस राज्य में सबकुछ है। पश्चिम बंगाल के हिल स्टेशल राज्य का सबसे बड़ा आकर्षण हैं। दार्जिलिंग के मनभावन नजारों से लेकर, सिलिगुड़ी के शांत माहौल तक और चाय के खूबसूरत बागानों से लेकर भरे पूरे जंगलों तक, पश्चिम बंगाल के हिल स्टेशनों में सबके लिए कुछ ना कुछ है। कुछ हिल स्टेशनों में ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व के स्थल भी हैं। पश्चिम बंगाल के हिल स्टेशनों की मनमोहक खूबसूरती की वजह से ही दुनिया भर से पर्यटक यहां आते हैं। हर एक हिल स्टेशन दूसरे से अलग है, इसलिए सैलानियों को प्रकृति के आगोश में खोने का पूरा मौका मिलता है। यहां जंगल और घाटियां हैं, सुंदर, शांत और सुरम्य पहाड़ों पर खुश कर देने वाले पैदल रास्ते हैं। पश्चिम बंगाल के कुछ हिल स्टेशन बहुत पुराने हैं और उनका इतिहास प्राचीन भारत के इतिहास जितना ही पुराना है। सैलानियों के लिए ये पहाड़ों का एकदम परफेक्ट अनुभव देते हैं।

राज्य में देखने लायक जगहों में से कुछ हैं:
  • अयोध्या हिल
  • बंदेल चर्च
  • कूचबिहार पैलेस
  • कर्जन गेट
  • दीघा समुद्र तट
  • गांधी घाट
  • इंडियन बोटेनिकल गार्डन
  • मायापुर का इस्काॅन
  • कांतानगर मंदिर
  • रायगंज पक्षी अभयारण्य
  • शांतिनिकेतन
  • सुंदरबन राष्ट्रीय पार्क

परिवहन


ट्रांसपोर्ट के अलग अलग साधनों के चलते पश्चिम बंगाल अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। सड़कें राज्य का 92,000 किमी. का इलाका कवर करती हैं, जिसमें राष्ट्रीय राजमार्ग और राज्य राजमार्ग शामिल हैं। सड़कें राज्य के शहरों, कस्बों और गांवों को जोड़ती हैं। रेल नेटवर्क के जरिये भी राज्य अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में भारतीय रेलवे के तीन अलग अलग ज़ोन के मुख्यालय हैं - पूर्वी रेलवे, दक्षिण-पूर्वी रेलवे और कोलकाता मेट्रो। हवाई मार्ग से भी राज्य में पहुंचना बहुत आसान है। राज्य का सबसे बड़ा एयरपोर्ट दमदम स्थित कोलकाता का नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है। राज्य के कुछ अन्य हवाई अड्डे, बागडोगरा हवाई अड्डा और काज़ी नज़रुल इस्लाम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा हैं। काफी सरकारी स्वामित्व वाली संस्थाएं राज्य में बस सेवाएं भी चलाती हैं। इन संस्थाओं के अलावा कई निजी कंपनियां भी राज्य में बस सेवाएं चलाती हैं।

शिक्षा


राज्य सरकार और निजी संस्थाएं राज्य में कई स्कूल चलाते हैं। माध्यमिक विद्यालय पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, काउंसिल फाॅर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा और राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान से संबद्ध हैं। राज्य में कई विश्वविद्यालय और संबद्ध काॅलेज हैं। यह विश्वविद्यालय कई क्षेत्रों में कोर्स पढ़ाते हैं जैसे कला, विज्ञान, मेडिकल, प्रौद्यागिकी, प्रबंधन आदि। पश्चिम बंगाल में कई प्रसिद्ध मेडिकल संस्थान भी हैं, जैसे कलकत्ता मेडिकल काॅलेज, कलकत्ता नेशनल मेडिकल काॅलेज और नाॅर्थ बंगाल डेंटल काॅलेज आदि। लाॅ की पढ़ाई के लिए कई काॅलेज हैं, जैसे हाजरा लाॅ काॅलेज, साउथ कलकत्ता लाॅ काॅलेज, सुरेन्द्रनाथ लाॅ काॅलेज और जोगेशचंद्रा चैधरी लाॅ काॅलेज। इसके अलावा इंजीनियरिंग और फिल्म अध्ययन संस्थान भी राज्य में हैं।

भाषा


बंगाली और अंग्रेजी भाषा पश्चिम बंगाल की आधिकारिक भाषाएं हैं। राष्ट्रीय भाषा हिंदी भी राज्य में बड़े पैमाने पर बोली जाती है। दार्जिलिंग जिले के तीन उपखंडों की आधिकारिक भाषा नेपाली है। राज्य में बोली जाने वाली कुछ अन्य भाषाएं उर्दू, उड़ाया, संताली हैं।

पश्चिम बंगाल में मीडिया


आज के आधुनिक दौर में सूचना के प्रसार के लिए अखबार सबसे आसान और सामान्य साधन हैं। पश्चिम बंगाल में 500 से ज्यादा अखबार रोज प्रकाशित होते हैं जिनमें से 300 से ज्यादा बंगाली हैं। दूरदर्शन सरकारी स्वामित्व वाला प्रसारणकर्ता है और पब्लिक रेडियो स्टेशन आॅल इंडिया रेडियो है। निजी एफएम स्टेशन आसनसोल, कोलकाता और सिलीगुड़ी में ही उपलब्ध हैं। पश्चिम बंगाल के अखबार ज्यादातर राज्य, देश और दुनिया की ताजा खबरें प्रकाशित करते हैं। इन अखबारों में छपने वाली ज्यादातर खबरें राजनीति, सामाजिक, आपराधिक, सांस्कृतिक, व्यावसायिक और खेल की घटनाओं से संबंधित होती हैं। ये अखबार संपादकीय, समकालीन मुद्दों पर हास्य भरे कार्टून और प्रख्यात विद्वानों के लेख भी छापते हैं।

पश्चिम बंगाल के जिले



क्र.सं.जिला का नामजिला मुख्यालयजनसंख्या (2011) विकास दर लिंग अनुपात साक्षरता क्षेत्र (वर्ग किमी) घनत्व (/ वर्ग किमी)
1अलीपुरअलीपुर******
2बांकुराबांकुरा359667412.65%95770.266882523
3बर्द्धमानवर्धमान771756311.92%94576.2170241100
4बीरभूमसूरी350240416.15%95670.684545771
5दक्षिण दिनाजपुरबालुरघाट167627611.52%95672.822183753
6दार्जिलिंगदार्जिलिंग184682314.77%97079.563149585
7होराहावड़ा485002913.50%93983.3114673300
8हुगलीहुगली-चुचुरा55191459.46%96181.831491753
9जलपाईगुड़ीजलपाईगुड़ी387284613.87%95373.256227621
10कोच बिहारकूच बिहार281908613.71%94274.783387833
11कोलकाताकोलकाता4496694-1.67%90886.3118524252
12मालदहअंग्रेजी बाज़ार398884521.22%94461.7337331071
13मुर्शिदाबादबहरामपुर710380721.09%95866.5953241334
14नादियाकृष्णानगर516760012.22%94774.9739271316
15उत्तर चौबीस परगनाबारासात1000978112.04%95584.0640942463
16पश्चिम मेदिनीपुरमिदनापुर591345713.86%9667893451076
17पूर्ब मेदिनीपुरतामलुक509587515.36%93887.024736923
18पुरुलियापुरुलिया293011515.52%95764.486259468
19दक्षिण चौबीस परगनाअलीपुर816196118.17%95677.519960819
20उत्तर दिनाजपुररायगंज 300713423.15%93959.073180956


अंतिम संशोधन : नवम्बर 24, 2016