आमेर किला, जयपुर

राजस्थान की राजधानी जयपुर से लगभग 11 किलोमीटर की दूरी पर जयपुर दिल्ली हाइवे के पास एक पहाड़ी पर आमेर का किला स्थित है। इसकी वास्तुकला मुगल और राजपूत वास्तुकला शैली की है और इसमें संगमरमर और लालपत्थरों का मिश्रण है। मावठा झील इस किले को और खूबसूरत बनाती है। मजबूत प्राचीर और सुंदर महल जयपुर के आमेर के किले को राज्य का सबसे खास आकर्षण बनाते हैं। इस किले का लोकप्रिय नाम आमेर किला है।

किले के परिसर में शिला माता मंदिर या काली माता मंदिर है। शिला माता कछवाहा राजपूत राजघराने की कुल देवी हैं। माना जाता है कि देवी की काले पत्थर से बनी मूर्ति को पूर्व बंगाल से आयात किया गया था।

आमेर किले के अंदर आमेर महल एक भव्य भवन है। आमेर महल में लंबे और फैले हुए मैदान, भव्य और विशाल कमरे, कीमती सजावट और उत्कृष्ट योजना है। मुगल सेना के जनरल और कछवाह राजवंश के राजपूत शासक मान सिंह प्रथम ने आमेर के किले को बनवाया था। आमेर महल में कई खास और शानदार भवन हैं जो देखने लायक हैं, जैसे गणेश पोल, जय मंदिर, शीश महल और सुख निवास। यह सब ऐतिहासिक स्मारक हैं और इन्हें विभिन्न भव्य और सजावटी वस्तुओं से सजाया गया है। आमेर महल में चमचमाता और दर्पणों का हाॅल शीश महल और विजय का मंदिर जिसे जय मंदिर कहते हैं मौजूद है। सुख निवास महल में एयर कंडीशनर का प्रभाव देने के लिए एक सरल और प्राकृतिक जल प्रवाह भी बनाया गया है।

राजस्थान में देखने योग्य स्थान
अल्बर्ट हॉल संग्रहालयकुम्भलगढ़ किला
आमेर किलामेहरानगढ़ किला
सिटी पैलेसरणथम्भौर नेशनल पार्क
गलताजी मंदिरसरिस्का नेशनल पार्क
हवा महलभांडेसर मंदिर
जंतर मंतररानी सती मंदिर


अंतिम संशोधन : दिसंबर 4, 2014