Home / Food / इन पैपीलोट (En Pappilotte) स्वादिष्ट मछली – भारतीय स्वाद के अनुसार बनाने की विधि

इन पैपीलोट (En Pappilotte) स्वादिष्ट मछली – भारतीय स्वाद के अनुसार बनाने की विधि

December 1, 2017
by


Please login to rate

क्या आप चाहते हैं कि आपकी मछली स्वाद से भरपूर हो और पकने के बाद भी बहुत हल्की रहे, तो इन पैपीलोट (En Pappilotte) मछली बनाने की इस रेसिपी का प्रयोग करें। इन पैपीलोट (En Pappilotte) पाउच, व्यंजन बनाने का एक सामान्य नाम है, जिसमें व्यंजन को पकाने के लिए सीधे आँच के संपर्क में नहीं रखा जाता है और कई समाग्रियों को डालकर तैयार किया जाता है। इन पैपीलोट मछली बनाने के लिए परंपरागत रूप से पाउच पार्चमेंट पेपर का प्रयोग किया जा सकता है या फिर पेपर बैग या घर पर प्रयोग की जाने वाली एल्यूमीनियम की पन्नी से बने पाउच का उपयोग किया जा सकता है। इस व्यंजन को भाप में पकाया जाता है, इसमें हर्बल मसालों का उपयोग किया जाता है, इससे निकलने वाली सुगंध पाउच के अंदर ही रहती है, जिसमें इस व्यंयन को पैक किया जाता है।

मैं अपनी मछली को विदेशी क्यों कहूँ? इसका कारण यह है कि इस व्यंजन को मैं भारतीय मसाले डालकर अपने तरीके से बनाना चाहता हूँ। मैंने दही, हल्दी और काली मिर्च का मसाला तैयार करके मछली को तैयार किया और इसे एक घंटे के लिए अलग रख दिया। मछली के अंदर सभी मसाले अच्छी तरह से मिल गए थे, मैंने अपने आप इसका पेस्ट तैयार किया, जिसको प्रत्येक पाउच में रखा जा सके। पेस्ट तैयार करने के लिए मैंने लौंग, इलायची, सफेद तुलसी, कसूरी मेथी, अजवायन की पत्तियाँ और अन्य भारतीय मसालों और अदरक लहसुन जैसे समाग्रियों का इस्तेमाल किया। एक बार जब मैं अपने तैयार मिश्रण से संतुष्ट हो गया, तो मैंने इसमें जैतून के तेल का उपयोग किया।

ओवन को 200 डिग्री पर गर्म किया। अब मोटी एल्युमीनियम की पन्नी को लगभग 4 इंच लंबे और पट्टिका के आकार के टुकड़े में काट लिया, एल्युमीनियम की पन्नी के टुकड़ों की चौड़ाई मछली के टुकड़ों से तीन गुना अधिक होनी चाहिए। मसालों से युक्त मछली को एल्युमीनियम के पाउच के बीच में रखा और उसके साथ में हर्बल मसालों को मिला दिया। मछली के बाकी टुकड़ों के साथ यही प्रक्रिया दोहराई। सभी पाउच को सावधानी पूर्वक बंद कर दिया। मेरे पिछले अनुभव ने मुझे बताया कि जो कुछ भी मैं कर रहा हूँ, थोड़ा बहुत रस उससे बाहर निकल सकता है। मैंने इन पाउचों को पकाने के लिए जाल के नीचे ट्रे रखने का फैसला किया और इससे मछली का रस नीचे नहीं टपकेगा साथ ही ओवन भी गन्दा नहीं होगा।

पाउचों को ओवन में 40 मिनट तक बेक किया। ओवन में 200 डिग्री के तापमान के लिए 40 मिनट बेक (भूनना) करना बुरा नहीं था, मेरे पास एक सुरक्षात्मक परत थी, जिसका मैंने प्रयोग किया था। ओवन के जाल के नीचे जो मैंने सुरक्षात्मक ट्रे रखी थी, मछली का रस उसी ट्रे में टपक रहा था, मैंने 20 मिनट के बाद पाउचों को दूसरी तरफ पलट दिया। मछली का कुछ रस निकल गया, लेकिन फिर भी बाहर से ही इसकी महक बहुत ही अच्छी आ रही थी, मुझे इसे चखने के लिए खुद को नियंत्रित कर पाना मुश्किल हो रहा था। इसे जाँचने के बहाने मैंने 30 मिनट में ही एक पाउच को ओवन से बाहर निकाला और इसको चखा, जिसका स्वाद बहुत ही अच्छा था, हालाँकि थोड़ा और पकाने की जरूरत थी। मैंने सभी पाउचों को 40 मिनट के बाद ओवन से बाहर निकाला और मैंने घर पर इन पैपीलोट (En Pappilotte) मछली तैयार कर ली थी।