Home / / बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना

July 10, 2018


बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ

जन-धन योजना, मेक इन इंडिया और स्वच्छ भारत अभियान के सफल क्रियान्वयन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी 2015 को हरियाणा के पानीपत में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना शुरू की है।

100 करोड़ रुपए के शुरुआती कॉर्पस के साथ यह योजना देशभर के 100 जिलों में शुरू की गई। हरियाणा में जहां बाल लिंगानुपात (सीएसआर) बेहद कम है, 12 जिले चुने गए है : रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, भिवानी, झज्जर, अंबाला, कुरुक्षेत्र, सोनीपत, रोहतक, करनाल, कैथल, पानीपत और यमुना नगर

इस योजना का लक्ष्य लड़कियों को पढ़ाई के जरिए सामाजिक और वित्तीय तौर पर आत्मनिर्भर बनाना है। सरकार के इस नजरिए से महिलाओं की कल्याण सेवाओं के प्रति जागरूकता पैदा करने और निष्पादन क्षमता में सुधार को बढ़ावा मिलेगा।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना की जरूरत क्यों?

2011 की ताजा जनगणना से 0 से 6 वर्ष आयु समूह में सीएसआर घटने का खुलासा हुआ है। हर 1,000 लड़कों पर लड़कियों की संख्या घटकर 919 रह गई है। 2001 में 1,000 लड़कों पर 927 लड़कियां थी।

अजन्मे बच्चे के लिंग का पता लगाने वाले आधुनिक उपकरणों की उपलब्धता से कन्या भ्रूण हत्या के मामले बहुत तेजी से बढ़े हैं। आर्थिक फायदों को लेकर लड़कों के प्रति सामाजिक पक्षपात होता रहा है। समाज में गहरे तक यह बात बैठी हुई है कि लड़कियों के साथ बड़ी जिम्मेदारी आती है। इन कारणों से लिंगानुपात को नुकसान पहुंचा है।

जन्म हो जाने के बाद भी लड़कियों के साथ भेदभाव नहीं थमता। स्वास्थ्य, पोषण और शिक्षा की जरूरतों को लेकर उनके साथ कई तरह से पक्षपात होता है।

इस वजह से, ठीक ही कहा जाता है कि महिलाओं के जन्म से पहले ही उनके अधिकारों का हनन शुरू हो जाता है। समन्वित रूप से, हकीकत यह भी है कि महिला सशक्तिकरण से समाज में विश्वास और अवैज्ञानिक प्रथाओं के पिछड़ेपन से मुक्ति मिलती है। अंधविश्वासी मान्यताओं और प्रथाओं तक सीमित ग्रामीणों के बीच से आगे निकलने के लिए नए मीडिया और संचार तरीकों का पूरी तरह से इस्तेमाल करने की आवश्यकता है। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान इसी लक्ष्य को हासिल करने, इसके बारे में जागरूकता फैलाने और बदलाव के लिए शुरू किया गया है।

मोदी ने क्या कहा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के बारे में

रोना रोते हुए कि हमारी मानसिकता अभी भी 18वीं सदी की है, प्रधानमंत्री ने बेटों और बेटियों के बीच भेदभाव खत्म करने की अपील की। उन्होंने कहा कि कन्या भ्रूण हत्या खत्म करने के लिए यह बेहद जरूरी है। मोदी ने बालिका भ्रूण हत्या में बराबरी से शामिल चिकित्सा बिरादरी को भी यह याद दिलाया कि उनकी चिकित्सा की शिक्षा जान बचाने के लिए है, लड़कियों की हत्या के लिए नहीं।

प्रधान मंत्री ने ‘सुकन्या समृद्धि अकाउंट’ की शुरुआत भी की, जिसका फायदा लड़कियों को मिलेगा। उन्होंने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ थीम पर एक डाक टिकट भी जारी किया। इस मोके पर बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की शपथ भी दिलाई।

बालिका भ्रूण हत्या रोकने के लिए आज पूरे समाज को लड़कियों के प्रति अपना नजरिया बदलने की जरूरत है। समाज के हर तबके में यह समस्या व्याप्त है। भले ही पूर्वोत्तर के क्षेत्र और आदिवासी इलाकों में लिंगानुपात बेहतर है, देश के कई हिस्सों में बालिका भ्रूण हत्या के मामले बहुत ज्यादा हैं।

सरकार ने यह अभिनव योजना कई लड़कियों को बचाने के लिए शुरू की है।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना पूरे समाज के लिए एक वरदान है।

इस बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, शिक्षा मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय जैसे अन्य मंत्रालयों के साथ मिलकर काम कर रहा है।

यह योजना न केवल लड़कियों बल्कि पूरे समाज के लिए एक वरदान साबित हो सकती है। इतना ही नहीं, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना ऐसे वक्त आई है जब देश महिलाओं की सुरक्षा से जुड़ी समस्याओं जैसे- दुष्कर्म और अन्य तरह के हमलों का सामना कर रहा है। सरकार ने यह दावा भी किया है कि गृह मंत्रालय बड़े शहरों  में महिला सुरक्षा बढ़ाने की योजना पर 150 करोड़ रुपए खर्च करने वाला है।

केंद्रीय बजट में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय को सार्वजनिक परिवहन में महिलाओं की सुरक्षा की पायलट योजना के लिए 50 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। यह एक स्वागत योग्य कदम हो सकता है क्योंकि इसके जरिए सिस्टम पर महिलाओं का भरोसा फिर से कायम किया जा सकता है।

यदि परियोजना दुर्जेय हो तो बेहतर शुरुआत और कार्यान्वयन के लिए कई सबसे प्रभावी तरीकों को गले लगाया जा सकता है। उदाहरण के तोर पर पश्चिम बंगाल में एक प्रणाली है, जिसमें बच्चे की शिक्षा के लिए एक निश्चित अंतराल के नकद पैसा ट्रांसफर किया जाता है। पंजाब में, गर्भवती लड़कियों को पहली तिमाही में ही रजिस्टर किया जाता है। ताकि अधिकारी भ्रूण हत्या के मामलों पर निगरानी रख सके। एक उदाहरण तमिलनाडु में भी है, जहां अम्मा बेबी केयर किट दी जाती है।

हालांकि, यह पहल भले ही अक्लमंद नजर आती हो, कई लोग इसकी आलोचना भी कर रहे हैं। यह कहा जा रहा है कि पैसा आवंटित करने या योजनाएं शुरू करना काफी नहीं है। कानून में बदलाव करना पड़ेगा और लड़कियों को नुकसान पहुंचाने वालों को सजा देनी होगी। जमीनी स्तर पर लड़कियों के अधिकारों के बारे में और जागरूक किए जाने की आवष्यकता है।

Click here to view Beti Bachao Beti Padhao Scheme in English

मोदी द्वारा शुरू किए गए अन्य कार्यक्रम:

भारत में सामाजिक सुरक्षा हेतु अटल पेंशन योजना (एपीवाय)

Beti Bachao Beti Padhao

सुकन्या समृद्धि अकाउंटः भारत में लड़कियों के लिए नई योजना

प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाय)

भारत में सामाजिक सुरक्षा हेतु अटल पेंशन योजना (एपीवाय)

2014 में मोदी द्वारा किये गए टॉप पांच कार्यक्रम

प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाय) – एक दुर्घटना बीमा योजना

स्वच्छ गंगा मिशन

Comments

Comments
Showing 45 Comments :
Dhirendra Kumar Nigam February 1, 2018 at 6:40 pm

Respected sir

How I can join this program? please tell me process of applying mathod in this program

Reply

me bhi pm ji ke sath beti bachao beti parao yojna me judna chahti hu mujhe bhi betio ke prati lagao hai

Reply

Nagpur me hai kya ye scheme. Aur hai to process Kaiser kare

Reply

Dear sir/ mam

i want to join the program

Reply

Make in India K That Ek bemishal Work Hai
Beti Bachao Beti Padhao

Reply
Tanveer hussain s/o Fareed hussain March 14, 2017 at 4:15 pm

Uttarakhand me kb aayegi yojna

Reply
Aklakh Ahamad March 2, 2017 at 7:57 am

Yah Yojna Bahut Hi Qabile Tareef Hai. Is Yojna Ko Jitne Bhi Tareef Ki Jaye Kam Hai .
Beti Bachao Beti Padhao

Reply

mera mannana hai ki har manushya ko yah sankalp lena chahiye ki hamare samaj me ho rhe atyachar ke virudh ladai ladenge aur jan hit m Apna yogdan denge

Reply

Véry most yojana

Reply
AMBADAS DEVIDAS JAGTAP January 21, 2017 at 5:42 pm

I feel proud because I have 2 daughters. Many peoples told n suggest me that u have one boy. I m satisfy with my daughters .She’s are my love(mother ,sister,daughter).
Ambadas D. Jagtap
9226125885

Reply

Nice

Reply

good essay. easy wording.

Reply
pradeep kumar sharma January 14, 2017 at 8:47 am

It is a boon not just for the girl children, but also for the whole society. By the Bbbp scheme,can change the worst mentality of the people about girl child. I just want to per fully support to the pm.and the scheme to decrease the female feoticide. Thanks.

Reply

beti hai to kal ha betio ko na samjho abhisap kyuki ye hai dunia ka samman dosto beti bacho beti padhao ko itna failao ki koi bhi betio ko abhiaap na samjhe

Reply
jeetendra priyanshu October 20, 2016 at 5:03 am

very nice for all indian people.acctualy i want to addmission your mudra yojna(tarun lone)

Reply
Purnima bhattacharya October 7, 2016 at 5:39 pm

bbbp yojna se jurna chahti .kyo ki aadarniye pm sahab hum ladkiyo k liye ye yojna suru kiya lekin humare ghar me kai ladki dum torne k kagar par hai .mai unse binti karti hu ki Hume bacha le ….

Reply
SUBHAM Kumar BARNWAL October 4, 2016 at 3:02 pm

I like PM of our country and all over world whose for girls many many yougna created

Reply

Respected Sh, P.M Modi,

Sir,
Beti bachao youjna ke bare m janna h. sir ek ladki bahut intelligent h vo hamesha 98% 99% leti h vah Dr. banna chati h pr peso ki kmi uske age a rhi h. kya koi scheme h jisse ki vo ladki apni age ki padai puri kr ske.

Reply
Dittakavi Lakshminarayana charyulu August 10, 2016 at 12:21 pm

Programme is good, these are the roots of our culture, if a girl is educated it means,a family is educated. She becomes strong support to the country.

Reply
ravindra kumar singh August 9, 2016 at 4:07 pm

Good yojna ye yojna se samaj mai betiyo ko man samman milega

Reply

Good think modi

Reply

I want to be join this abhiyan.
l am fully agree.

Reply

right think

Reply

Me is scheme se judna chahti hoon mujhe uchit marg darshan de
Dhanwad

Reply

very very nice try

Reply

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ muje ye kam or es ka parchar bhut acha lgta h me bhi sub ko ye parchar kr ta hu ki beti bcha ho sub ko pda ho

Reply
chandan singh bhati November 29, 2015 at 5:48 pm

I am also agree with you. I am ready for help as and when required from me.

Reply

Modi ji i salute u mjhe ap pe garv h….or hum bhi apka is karya me sath denge…..

Reply

I want Rs. 500000/- loan under Mudra Bank load scheme. I want to open my nefcafe. My age is 40 years, presently I am working in BSNL as a computer operator and my monthly salary is Rs. 8000/- P.M. My account in Allahabad Bank Bareilly civil Lines Branch. Guide me, can I apply this loan or not.

ASHOK SINGH
9458687555

Reply

मै इस योजना से कैसे जुड सकता हू? मै भी एक बेटी का पिता हू,

Reply

Beti bachao beti padhao

Reply
Ram Prakash Mandal August 7, 2015 at 8:31 am

good

Reply

This yojna make a progress India.

Reply

Good think of beti bachao

Reply

Yah yojna hamare samaj me betion ki pratistha ko punah stapith karega.Hindu Maa k rup me Devi puja karte h lekin betion k janm ko abhishap mante h

Reply
ANIL KUMAR SINHA July 19, 2015 at 5:18 pm

Yah yojna hamare samaj me betion ki pratistha ko punah stapith karega.Hindu Maa k rup me Devi puja karte h lekin betion k janm ko abhishap mante h.Shayad Hindustan jag jaye

Reply

sfertrhytdjhgfchg

Reply

Sir yadi atal pension mai kisi member ki deth 60 se pahle ho jaati to use kitna amount milega

Reply

    I agree with this scheme

    Reply

    In some villages ,some parents don’t follow of this scheme while this scheme is very good and our pm thought about girls life .after that he made such a lots of nice scheme for our society.so we should follow it.thanks PM uncle

    Reply

docoment kb bime ke bad

Reply
Prachita Vadera June 24, 2015 at 3:19 pm

Every parents our child well educated and save her child

Reply