Home / Government / सुकन्या समृद्धि खाता योजना : भारत में लड़कियों के लिए नई योजना

सुकन्या समृद्धि खाता योजना : भारत में लड़कियों के लिए नई योजना

July 25, 2018


Please login to rate

सुकन्या समृद्धि खाता योजना

भारत में हर लड़की के लिए पैसे बचाना है। इस विचार पर दोबारा भरोसा जगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  22 जनवरी, 2015 को ‘सुकन्या समृद्धि अकाउंट योजना’ शुरू की। यह लघु बचत योजना बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान का हिस्सा है। इसे घरेलू बचत का प्रतिशत बढ़ाने के लिए सरकार की एक पहल भी माना जा रहा है, जो 2008 में जीडीपी का 38 प्रतिशत थी, जबकि 2013 में घटकर 30 प्रतिशत रह गई। यह योजना माता-पिता को अपनी लड़की की शिक्षा और भविष्य के लिए पैसे बचाने के लिए प्रोत्साहित करेगी।

सुकन्या समृद्धि अकाउंट कैसे खुलवाएं?

1.  अभिभावक को खोलना होगा अकाउंटः माता-पिता या कानूनी अभिभावक अधिकतम दो लड़कियों के लिए यह खाता खोल सकते हैं। जुड़वा या तीन बच्चियों का जन्म एक साथ होने की स्थिति में अधिकृत चिकित्सालयों से प्रमाण पत्र देने पर ही उन्हें भी योजना में शामिल किया जा सकेगा

2. उम्र की पात्रताः लड़की की उम्र 10 साल की होने तक सुकन्या समृद्धि अकाउंट खोला जा सकता है। यह योजना 2 दिसंबर 2014 को शुरू हुई थी। शुरुआत में सुविधा को ध्यान में रखते हुए ग्रेस पीरियड एक साल का रखा है। जो भी लड़की 2 दिसंबर 2003 और 1 दिसंबर 2004 के बीच जन्मी है, उसका अकाउंट भी एक दिसंबर 2015 तक खोला जा सकता है।

3. निवास: इस योजना की अवधि के दौरान लड़की बच्चा भारत की निवासी होनी चाहिए।

4. हितग्राही के नाम पर अकाउंटः सुकन्या समृद्धि योजना में लड़की के नाम पर ही अकाउंट खोला जा सकता है। जमाकर्ता (अभिभावक) एक व्यक्ति होगा, जो नाबालिग लड़की की ओर से अकाउंट में पैसा जमा करेगा।

5. एक लड़की एक अकाउंटः एक लड़की के नाम पर सिर्फ एक ही खाता खोला जाएगा। एक परिवार में अधिकतम दो लड़कियों के लिए खाता खोला जा सकता है।

6. खाता कहां खुलेगाः सुकन्या समृद्धि अकाउंट पोस्ट ऑफिस या अधिकृत बैंकों (इनमें से कुछ बैंक हैं- भारतीय स्टेट बैंक,  बैंक ऑफ बड़ौदा, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, कैनरा बैंक, आंध्रा बैंक, यूसीओ बैंक और इलाहाबाद बैंक) में खोले जा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि अकाउंट के बारे में ज्यादा जानकारी

1. अकाउंट ट्रांसफर हो सकता हैः अकाउंट को एक हजार रुपए से खोला जा सकता है। लड़की के एक शहर से दूसरे शहर जाने पर इसे मूल स्थान से भारत के किसी भी शहर में ट्रांसफर किया जा सकता है।

2. न्यूनतम भागीदारीः हर साल में कम से कम एक हजार रुपए हर खाते में जमा होने चाहिए। अधिक से अधिक 1,50,000 रुपए जमा किए जा सकते हैं। एक वित्त वर्ष में कितनी बार पैसे जमा किए जाएं, इस पर कोई पाबंदी नहीं है। पैसे नगद, चेक, ड्राफ्ट या ऑनलाइन ट्रांसफर के जरिए जमा किए जा सकते हैं।

3. अर्थदंडः यदि खाते में हर साल न्यूनतम राशि जमा नहीं कराई गई तो 50 रुपए का अर्थदंड लगाया जाएगा।

4. ब्याज की दरः इस योजना में वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए ब्याज की दर 8.1 प्रतिशत रखी गई है। हालांकि, हर साल अप्रैल में इसकी समीक्षा होगी और जो भी बदलाव होगा उसकी जानकारी तत्काल दे दी जाएगी। ब्याज की गणना सालाना होगी, जिसे सीधे बैंक खाते में जमा करवाया जाएगा।

5. अवधिः अभिभावक इस अकाउंट में 14 साल पूरे होने तक ही पैसे जमा करवा सकते हैं।

6. निकासीः लड़की की उम्र 18 साल होने के बाद अकाउंट परिपक्व हुए बिना यदि पैसे निकालना चाहते हैं तो जमा की हुई राशि (पूर्व वित्त वर्ष के समाप्ति की राशि) का 50 प्रतिशत निकाल सकते हैं। यदि लड़की 18 वर्ष की है या कक्षा 10 की परीक्षा पास कर चुकी है और एक शैक्षिक संस्थान में प्रवेश लेना चाहती है तो उच्च शिक्षा के लिए शुल्क का भुगतान करने के उद्देश्य से पैसे निकाले जा सकते हैं।

7. अकाउंट बंद करनाः लड़की की उम्र 21 वर्ष होने पर ही अकाउंट बंद किया जा सकेगा।

8. कराधानः आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत छूट में शामिल। इस धारा के तहत सालाना 1.5 लाख रुपए तक के निवेश पर कर में छूट मिलती है। ब्याज और पूर्ण परिपक्वता राशि समेत सभी तरह के भुगतान पूरी तरह से करमुक्त हैं।

9. खाता बंद करने के समय आवश्यक दस्तावेज: खाता बंद करने के लिए एक आवेदन, पहचान, निवास और नागरिकता का प्रमाण।

10. खाते की अवधि: एसएसवाई बचत खाता खाता खोलने की तिथि से अधिकतम 21 वर्षों तक चालू रहता है, इस अवधि के पूरा होने के बाद खाते पर ब्याज मिलना बंद हो जाता है।

खाता खुलवाने के लिए कौन-कौन से दस्तावेज की जरूरत पड़ेगी?

1. बिटिया का जन्म प्रमाण पत्र

2. अभिभावक के पते का प्रमाण, पते और फोटो पहचान पत्र (पैन कार्ड, वोटर आईडी, आधार कार्ड)

3. अकेली या कई लड़कियों के जन्म के प्रमाण के लिए चिकित्सा प्रमाण पत्र

सुकन्या समृद्धि खाता योजना पर ब्याज दरें 8.6% तक कम

सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ) योजना पर ब्याजदर की वृद्धि को 8.7 फीसदी से घटाकर 8.1 फीसदी कर दिया गया है। सुकन्या समृद्धि खाता योजना पर भी ब्याज दरें 9.2 प्रतिशत से घटाकर 8.6 प्रतिशत कर दी गई हैं। इस निर्णय से बैंकों को अपनी जमा दरों को कम करने और उधारकर्ताओं को कम दरों पर ऋण और क्रेडिट का विस्तार करने की उम्मीद जताई जा रही है।

पढ़ेंः क्या आपको अपनी बेटी के लिए सुकन्या समृद्धि के माध्यम से निवेश करना चाहिए?

हालिया परिवर्तन

2014 में इस योजना की शुरुआत के बाद सुकन्या समृद्धि खाते में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं। इस योजना का लाभ उठाने के इच्छुक लोगों को इन बदलावों का ध्यान रखना चाहिए। परिवर्तन निम्नानुसार हैं:

  • योजना में परिवर्तन के बाद, अब आप गोद ली गई बिटिया के नाम भी यह खाता खुलवा सकते हैं।
  • नकदी और चेक के अलावा, बैंक या डाकघर में कोर बैंकिंग समाधान की सुविधा के साथ अब आप खाते में ऑनलाइन पेमेंट भी कर सकते हैं।
  • निवेश की गई राशि धारा 80 सी के तहत कटौती के लिए पात्र है, छूट-छूट-छूट (ईईई) कर व्यवस्था का पालन करती है।
  • इससे पहले, लड़की के विवाह के समय खाता बंद कर दिए जाने का प्रावधान था। हालांकि, नए नियमों के अनुसार भले ही बिटिया की शादी हो जाए फिर भी खाता 21 वर्ष की आयु तक जारी रखा जा सकता है।
  • शिक्षा के उद्देश्य के लिए पहले जमा की गई राशि का 50% वापस लिया जा सकता है, बशर्ते वह 18 साल की हो या मानक के अनुसार 10 वीं पास हो। लेकिन अब निकासी की अनुमति देय शुल्क के आधार पर होगी। राशि को एकमुश्त या पांच वार्षिक किश्तों के दौरान वापस लौटाया जा सकता है।
  • खाते को समय से पहले, पांच साल के पूरा होने से पहले, बंद करने की अनुमति नहीं है, हालांकि खतरनाक बीमारियों में चिकित्सा सहायता के लिए संवेक्षाशील आधार पर छूट की अनुमति है।
  • इसके विपरीत अब सुकन्या समृद्धि योजना खाते को डाकघर से बैंक में स्थानांतरित करने का विकल्प उपलब्ध है। सुकन्या समृद्धि योजना खाता हस्तांतरण कराने के लिए ग्राहक द्वारा जिस चालू डाकघर / बैंक में खाता खुलवाया गया हो, वहाँ जाकर एक फॉर्म भरना होगा। इस फॉर्म में खाताधारक के ब्योरे के साथ जिस बैंक/डाकघर में खाते को ट्रांसफर कराना है, उसका नाम और पता बताना होगा। सभी औपचारिकताओं के सफल समापन के बाद, खाते से संबंधित दस्तावेज खाता शेष राशि के साथ डिमांड ड्राफ्ट सहित ग्राहक को नए बैंक / डाकघर में जमा करने के लिए सौंप दिए जाएंगे।
  • अब, यह खाता आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड, एक्सिस बैंक लिमिटेड, एचडीएफसी बैंक और आईडीबीआई बैंक लिमिटेड जैसे निजी क्षेत्र के बैंकों के साथ भी खोला जा सकता है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना खाते में निवेश वाले महीने के 10 वें महीने या उससे पहले 8.1% प्रतिवर्ष ब्याज मिलेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना के फायदों के तुलनात्मक अध्ययन के लिए यहां क्लिक करें

टोल फ्री नंः  1800-223-060

मोदी द्वारा शुरू किए गए अन्य कार्यक्रम:

वर्ष 2017 की महत्वपूर्ण सरकारी योजनाएं 

पंजाब किसानों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना

भारतीय राष्ट्रीय ध्वज का सफर

गणतंत्र दिवस पर एक शानदार भाषण लेखन

परम्परागत कृषि विकास योजना

गणतंत्र दिवस समारोह (1950 से 2018) में मुख्य अतिथियों की सूची

क्यों मनाया जाता है मकर संक्रांति का त्यौहार?

महिला साक्षरता दर में कमी और हमारे समाज पर इसका प्रभाव

कर्मचारी भविष्य निधि –अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न और नई निकासी प्रक्रिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली मेट्रो मैजेंटा लाइन का किया उद्घाटन

2015 की शीर्ष 10 भारतीय हस्तियाँ

दिल्ली सरकार बनाम उपराज्यपाल – कौन है किस लिए जवाब देह?

जन धन योजना – वित्तीय समावेशन का युग

भारत में स्वास्थ्य सेवा: निजी बनाम सरकारी स्वास्थ्य सेवा

रूस-भारत-चीन (आरआईसी) की 15 वीं एशियाई त्रिपक्षीय बैठक

गुजरात चुनाव – भाजपा की जीत को मुश्किल बनाने वाली 5 चुनौतियां

राज्य चुनावों में मतदान को अनिवार्य बनाया जाना चाहिए

कौशल भारत कार्यक्रम (स्किल इंडिया) – उद्देश्य, सुविधाएं और लाभ

माता-पिता के लिए बच्चे पर परीक्षा के तनाव को कम करने हेतु युक्तियाँ

छात्रों के लिए नए साल के 5 उचित संकल्प

मिशन 150

सर्दियों में आपकी त्वचा को कोमल और चमकदार बनाए रखने के 10 सुझाव

“किंगडम ऑफ ड्रीम्स” गुरुग्राम– कल्पनाओं की दुनिया को महसूस करें

मानवाधिकार दिवस: जहाँ भारत लोगों के अधिकारों को बचाने में खड़ा है

भारत में सामाजिक सुरक्षा हेतु अटल पेंशन योजना (एपीवाय)

छः सेवा क्षेत्र जहाँ आधार कार्ड लिंक करना अनिवार्य है

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017: पार्टियों द्वारा अत्यधिक खर्च क्या मतदाताओं को लुभा पाएगा?

‘बेटी बचाओ, बेटी पदाओ योजना’

सुकन्या समृद्धि अकाउंटः भारत में लड़कियों के लिए नई योजना

प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाय)

भारत में सामाजिक सुरक्षा हेतु अटल पेंशन योजना (एपीवाय)

2014 में मोदी द्वारा किये गए टॉप पांच कार्यक्रम

 प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाय) – एक दुर्घटना बीमा योजना

स्वच्छ गंगा मिशन

सूचना: यह लेख 10 अप्रैल 2015 को ऋतुपर्णा सेनगुप्ता द्वारा लिखा गया है। इस लेख में निहित जानकारी हाल ही में अपडेट की गई है।

Read Sukanya Samriddhi Scheme in English

Summary
Article Name
सुकन्या समृद्धि खाता योजना : भारत में लड़कियों के लिए नई योजना
Author
Description
सुकन्या समृद्धि खाता योजनाः बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ 'अभियान के हिस्से के रूप में एक लघु बचत योजना है। इसे घरेलू बचत का प्रतिशत बढ़ाने के लिए सरकार की एक पहल भी माना जा रहा है।