Home / India / भारत में ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट: क्या करें और क्या न करें

भारत में ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट: क्या करें और क्या न करें

December 23, 2017
by


भारत में ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट: क्या करें और क्या न करें

ड्राइविंग, खुशी देने के अतिरिक्त, एक तरह का रोमांचक शौक है, जो हमें स्वतंत्रता की भावना प्रदान करता है। अब आपको अपने पिता के पसंदीदा भोजनालय पर छोड़ने के लिए किसी वाहन का इंतजार करना या फिर असुविधाजनक रूप से भरी हुई बस या मेट्रो में या फिर ऑटो चालकों द्वारा अतिरिक्त किराया लिए जाने पर मुसीबत में पड़ने की जरूरत नहीं है। यदि आप गाड़ी चलाना (ड्राइविंग) जानते हैं और आपके पास खुद का वाहन है, तो आप व्यावहारिक रूप से एक स्वतंत्र पक्षी की तरह हैं। कानूनी तौर पर वाहन चलाने के लिए, आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस होना आवश्यक है और यदि आप अपने ड्राइविंग कौशल को सिद्ध करना चाहते हैं, तो वास्तव में इसकी प्रक्रिया आसान है। नीचे हमने पूरी औपचारिक प्रक्रिया को विस्तार से बताया है साथ ही इस बात का भी उल्लेख किया है कि ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट देते समय क्या करें क्या न करें। चलिए बात करते हैं…

आपको ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने के लिए दो परीक्षाओं एक लिखित और दूसरी प्रायोगिक परीक्षा को पास करना आवश्यक है। अगर आप 18 वर्ष के पूरे हो चुके हैं, तो आप लिखित परीक्षा में बैठ सकते है और प्रायोगिक परीक्षा के लिए, आपको लिखित परीक्षा पास करने के बाद एक महीने तक इंतजार करना होगा। लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद, आपको एक लर्निंग लाइसेंस (सीखने वाला लाइसेंस) प्राप्त होता है, जो 6 महीने तक मान्य रहता है।

स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने की प्रक्रिया-

  1. आपको सबसे पहले परीक्षा देने के लिए एक अपॉइंटमेंट (नियुक्ति) बुक करना होगा या फिर आप इसको ऑनलाइन भी कर सकते हैं, सीएमवी 4 एप्लिकेशन फॉर्म डाउनलोड कर एक स्लॉट बुक करें और फिर निर्धारित समय पर आरटीओ (क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय) ऑफिस जाएं। फिर आप 3 फोटो और प्रासंगिक दस्तावेजों के साथ आरटीओ (क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय) जा सकते हैं।
  2. ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने के लिए या तो आप ऑनलाइन विकल्प अपनाएं या सीधे आरटीओ (क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय) में जा सकते हैं, लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आपको निम्न दस्तावेज तैयार करने होंगे: लर्निंग लाइसेंस, पीयूसी प्रमाणपत्र, विधिवत भरा हुआ आवेदन पत्र, नए पासपोर्ट साइज के फोटो, फिटनेस प्रमाण पत्र, वाहन से संबंधित दस्तावेज जिसे आप परीक्षण के दौरान प्रयोग करना चाहते हैं, जैसे कि बीमा प्रमाणपत्र, पंजीकरण प्रमाण पत्र, प्रदूषण के तहत नियंत्रण प्रमाणपत्र और टैक्स कार्ड।
  3. ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट देने के लिए, आपको आरटीओ (क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय) पर जाकर टेस्ट के लिए फीस का भुगतान करना होगा। पहले इस परीक्षा की फीस 50 रुपये थी, लेकिन वर्ष 2017 में संशोधित होकर 300 रुपये हो गई है। कार्यालय में, आवेदन पत्र के साथ सभी दस्तावेज जमा करें।
  4. यदि आप अपने वाहन को चलाने में अच्छी तरह से निपुण हैं, तो ड्राइविंग टेस्ट आपके लिए आसान होगा। अगर परीक्षण, परीक्षण प्राधिकारी द्वारा संतोषजनक समझा जाता है, तो सहायक आरटीओ (क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय) ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने की पुष्टि करेगा। फिर आपको एक कमरे में ले जाया जाएगा और कंप्यूटर द्वारा आपकी तस्वीर उसमें ली जाएगी अगले दिन 4.30 बजे से शाम 5.30 बजे के बीच, आप अपने ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त कर सकते हैं।

यदि किसी भी मामले में आप परीक्षा में असफल रह जाते हैं, तो आप 7 दिनों के बाद फिर से परीक्षा देने के योग्य हो जाएंगें।

टेस्ट (परीक्षा) में क्या होगा उसकी एक झलक!

  • 8 आकार वाले मार्ग पर वाहन चलाना होगा।
  • S आकार वाले मार्ग पर वाहन को पीछे करना होगा।
  • किसी एक मार्ग पर वाहन को ढलान पर चढ़ाना।
  • सामानांतर रूप से वाहन खड़ा करना।

अन्त में अब, क्या करें क्या न करें की एक सहायक सूची:

क्या करें

  • टेस्ट के लिए जल्दी आएं। यदि संभव हो, तो एक घंटा पहले पहुँचे।
  • संबंधित वर्ग के वाहनों को साथ लाएं, जिससे कि आप टेस्ट आसानी से पास कर सकें। उदाहरण के लिए, बाइक ड्राइविंग लाइसेंस के लिए एक बाइक और कार ड्राइविंग लाइसेंस के लिए एक कार साथ लाएं।
  • अगर टेस्ट में टू-व्हीलर (दो पहिया वाहन) चलाना हैं, तो आपको एक हेलमेट पहनना चाहिए और यदि आपको टेस्ट में फोर व्हीलर (चार पहिया वाहन) चलाना है तो सीट बेल्ट लगाकर चलाना चाहिए।

क्या न करें

  • जब तक आपको अपनी ड्राइविंग पर विश्वास न हो, तब तक आप टेस्ट में भाग न लें।
  • लिखित परीक्षा को हल्के में न लें। सभी यातायात कानूनों और सड़क के संकेतों की अच्छी तरह से पढ़े।
  • परीक्षा से पहले देर रात तक न जागें।

यदि आपकी उम्र 18 वर्ष से कम है, तो कृपया वाहन न चलाएं। यदि नहीं है, तो हम आपको आज ही ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने की प्रक्रिया से गुजरने के लिए आग्रह करते हैं। मुझ पर यकीन करें, ड्राइविंग करना बहुत ही रोमांचक है, जिसे आप छोड़ना नहीं चाहेगें।