Home / India / कच्छ रण उत्सव 2017-18: गुजरात की संस्कृति और परम्परा की एक झलक

कच्छ रण उत्सव 2017-18: गुजरात की संस्कृति और परम्परा की एक झलक

November 28, 2017
by


Please login to rate

कच्छ रण उत्सव 2017-18

प्रत्येक वर्ष की भाँति, इस वर्ष भी गुजरात में नवंबर और फरवरी के महीने के बीच होने वाले, कच्छ रण उत्सव का शानदार आयोजन किया गया है। यह तीन महीने तक चलने वाला महोत्सव है, जिसमें गुजरात की संस्कृति और परम्परा की कई गतिविधियाँ शामिल की जाती हैं, जो दर्शकों को संगीत के आनंद और नृत्य की झलक से अवगत कराता है।

कच्छ रण उत्सव का आयोजन कब किया जाएगा?

तीन महीने तक चलने वाले कच्छ रण उत्सव का आयोजन सर्दियों के दौरान होता है। यह महोत्सव काफी समय से इसी क्रम में आयोजित किया जा रहा है। इस उत्सव का शुभारंभ 1 नवंबर 2017 को हुआ था और इस उत्सव का समापन 20 फरवरी 2018 को होगा। गुजरात के पर्यटन विभाग द्वारा इस उत्सव का आयोजन राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए किया गया है।

इसका आयोजन कहाँ किया गया है?

यह शानदार कच्छ रण उत्सव भुज जिले से शुरू होता है। इस महोत्सव का समापन टेंट सिटी (तंबुओं का शहर) में होता है, जो गुजरात के एक छोटे से गाँव धोरडो के निकट स्थित है। टेंट सिटी एक आनोखा शहर है और यह अपने आप में बहुत ही अद्वितीय है और आने वाले पर्यटकों को मंत्रमुग्ध कर देता है। यह शहर एक अस्थायी मानव बस्ती है और इस बस्ती में 400 टेंट (तम्बू) सुविधाओं के साथ स्थापित है। आप यहाँ वातानुकूलित (एसी) या गैर-वातानुकूलित टेंट का विकल्प चुन सकते हैं। यह टेंट सिटी अच्छी तरह से सुसज्जित है और इस तंबू में सभी सुविधाएं मौजूद हैं, जो आपकी यात्रा को यादगार बनाती है। यह टेंट आपके ठहरने के लिए एकदम उचित हैं, क्योंकि इसके कमरों में हीटर लगे हुए हैं और गर्म पानी की भी आपूर्ति की जाती है। इसके अलावा, टेंट सिटी में शॉपिंग कॉम्प्लेक्स (खरीदारी की सामूहिक जगह) भी है, जहाँ से आप अपने उपयोग में लाए जाने वाले उत्पाद खरीद सकते हैं। टेंट सिटी में डाइनिंग हॉल की सुविधा भी मौजूद है, जो कि एक प्रदर्शनी केन्द्र है। गाँव में जाना कठिन नहीं है, क्योंकि यह भुज हवाई अड्डे से जुड़ा हुआ है।

महोत्सव के आकर्षण

गुजरात की संस्कृति और परंपराओं के बारे में जानने और शहर की भाग-दौड़ भरी जिंदगी से बचने के लिए इस महोत्सव का स्थान सबसे उचित और एक दम सही है। यह उत्सव नवंबर से फरवरी तक सर्दियों के महीनों के दौरान मनाया जाता है, क्योंकि यह मौसम गुजरात में छुट्टियाँ मनाने के लिए एकदम सही है।

यह महोत्सव पर्यटकों को कई विकल्प प्रदान करता है और जिनमें खरीददारी मुख्य विकल्पों में से एक है। इस उत्सव में कई चीजों जैसे अद्वितीय गुजराती हस्तशिल्प (हाथ से बना हुआ सामान) और कच्छ कढ़ाई, चाँदी के सामान, गहने, रसोई के सामान, दर्पण (आइना) के काम आदि का प्रदर्शन किया जाता है। इन वस्तुओं को घरेलू उपयोग के लिए खरीदा जा सकता है या फिर एक यादगार के रूप में घर ले जाया जा सकता है।

पूरे राज्य के सभी कलाकार महोत्सव पर अपने संगीत के जरिए पर्यटकों को मंत्रमुग्ध करने के लिए एकत्र होते हैं। यहाँ पर्यटक रेगिस्तान सफारी जैसी गतिविधियों का भी आनंद ले सकते हैं या एक गर्म गुब्बारे में बैठकर कच्छ रेगिस्तान के हवाई दृश्य का लुफ्त उठा सकते हैं। बच्चों के लिए यहाँ कुछ सामान्य साहसिक सवारी भी हैं। पर्यटक मल कार्ट (ऊँट गाड़ी) पर बैठकर भ्रमण, गोल्फ कार्ट, एटीवी सवारियों का भी आनंद ले सकते हैं।  रात में आप टेंट के चारों ओर टहलते हुए तारों से जगमगाते आकाश का नुमायना कर सकते हैं। पर्यटक यहाँ पर आकर नारायण सरोवर या टेश्वर शिव मंदिर जैसे कुछ अन्य शानदार मंदिरों का भी भ्रमण कर सकते हैं। यह प्रकृति प्रेमियों के बिल्कुल अनुरूप है, क्योंकि कच्छ के रेगिस्तानी वन्यजीव पास में ही है और आप यहाँ पर राज्य के अद्वितीय जानवरों की खोज-बीन कर सकते हैं।

इसलिए, कच्छ रण उत्सव में अपनी उपस्थिति दें और गुजरात की अपनी यात्रा को यादगार बनाएं।