My India - All about India

दिल्ली में स्प्लैशः द वाटर पार्क

स्प्लैश- द वाटर पार्क, उत्तरी दिल्ली में अपने तरह का एक अनूठा एम्युजमेंट पार्क है। यह तरोताजा होने और दोस्तों व परिवार के साथ दिन गुजारने के लिए बेहतरीन जगह है। इस पार्क में आपको वाटर स्लाइड्स, वेव पूल्स, राइड्स और सिम्युलेटेड रेन डांस के तौर पर मनोरंजन और आनंद की दावत मिलती है। स्प्लैश के साथ सबसे अच्छी बात यह है कि इसका रख-रखाव बहुत अच्छा है। पानी साफ है, जिससे पूरा दिन आप [...]

पवित्र अमरनाथ गुफा भगवान शिव से जुड़े महत्वपूर्ण तीर्थस्थलों में से एक है

‘एकम सत’ का अर्थ है ‘सत्य एक ही है।’ यह ऋग्वेद का प्रसिद्ध छंद वाक्य है। इसके मुताबिक, ईश्वर के पास पूरी दुनिया के काम करने के लिए तीन देवता हैं। इन्हें त्रिदेव कहा जाता हैः ब्रह्मा यानी सृष्टि निर्माता, विष्णु जीवन के संचालक हैं और भगवान शिव बुराई को नष्ट करने वाले, शुद्धिकरण करने वाले और अच्छाई के अग्रदूत। ऋग्वेद में भगवान शिव का उल्लेख रुद्र के तौर पर किया गया है। यजुर्वेद में [...]

भारत में रहने वाले द्रविड़ों का इतिहास

कुछ लोगों का दावा है कि द्रविड़ मूल रूप से भारत के उत्तरी हिस्से में रहा करते थे और बाद में आर्यों के आक्रमण के बाद उन्हें देश के दक्षिणी हिस्से की ओर धकेल दिया गया। इस वजह से 28 प्रतिशत भारतीय द्रविड़ हैं और वह दक्षिण भारत में रहते हैं और द्रविड़ भाषाओं में से एक (जिनमें तमिल, मलयालम, तेलुगू, कन्नड़ और तुलू शामिल हैं) उनकी मुख्य भाषा है। द्रविड़ भाषा में तीन उप-समूह [...]

बीवायजेयू’ज भारत में एजुकेशन टेक्नोलॉजी उपलब्ध कराने वाली शीर्ष कंपनियों में से एक है। उसने हाल ही में चान-जकरबर्ग इनिशिएटिव (सीजेआई) और चार अन्य वेंचर कैपिटल पार्टनर- सेकोइया, सोफिना, लाइटस्पीड और टाइम्स इंटरनेट- से 50 मिलियन डॉलर हासिल किए हैं। इस पैसे का इस्तेमाल वह अपनी विस्तार योजनाओं में करेगा। संगठन के संस्थापक और सीईओ बीवायजेयू रवीन्द्रन का कहना है कि फंड्स का इस्तेमाल अंतरराष्ट्रीय बाजारों में विस्तार के लिए किया जाएगा। साथ ही इसके [...]

भारत में ई-बाइक क्रांति सफर करने का तरीका बदल देगी

चेन्नई स्थित स्टार्ट-अप वोल्टा मोटर्स ने हाल ही में वोल्टा जैप लॉन्च की है। दावा किया जा रहा है कि यह भारत की पहली ‘क्रॉसओवर’ ई-बाइक है। जिसे पूरी तरह से भारत में ही डिजाइन किया गया है और बनाया भी है। यह ई-बाइक सफर करने के इको-फ्रेंडली विकल्प के तौर पर सामने आई है। इसका इस्तेमाल मोपेड या बाइक के तौर पर भी किया जा सकता है। वोल्टा जैप एक स्टार्ट अप है, जो [...]

लापरवाही की शिकार भारत की राजधानी दिल्ली

दिल्ली को लोग जिन्नों के शहर के तौर पर भी जानते हैं। यह भारत की राजधानी है। इस शहर का अपना बहुत ही लंबा इतिहास है। पौराणिक कथाओं में तो इसका इतिहास पांडवों के इंद्रप्रस्थ तक जाता है। दिल्ली को हमेशा से संस्कृति और परंपराओं वाला शहर माना जाता है। जिसमें कई संस्कृतियों का समावेश दिखता है और यह ही इसे भारत की सबसे रंगीला और खूबसूरत शहर बनाता है। दिल्ली की पुरातत्व संपदा का [...]

दादरी- हरियाणा का नया जिला 

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 18 सितंबर 2016 को दादरी को नया जिला बनाने की घोषणा की। इस घोषणा के साथ ही दादरी राज्य का 22वां जिला हो गया। हरियाणा के मुख्यमंत्री ने यह भी घोषणा की कि राज्य सरकार दादरी को जिले का दर्जा देने की प्रक्रिया शुरू कर देगी। यह उम्मीद की जा रही है कि जिला बनने के बाद दादरी के विकास की प्रक्रिया में तेजी आएगी। खट्टर के मुताबिक, [...]

भारत में राजनीतिक शरण लेना चाहता है बलूच नेता ब्रहुमदाग बुगती

बलूच नेता ब्रहुमदाग बुगती ने भारत में राजनीतिक शरण लेने का फैसला किया है। ब्रहुमदाग बुगती, नवाब अकबर बुगती के पोते हैं। वे बलूच रिपब्लिकन पार्टी (बीआरपी) के अध्यक्ष और बुगतियों के प्रमुख हैं। बलूचिस्तान में बुगती जनजाती की आबादी सबसे ज्यादा है। जनरल परवेज मुशर्रफ के राष्ट्रपति काल में ब्रहुमदाग बुगती 2006 में अपने दादा की हत्या के बाद बलूचिस्तान से भाग निकले थे। अफगानिस्तान में बने पासपोर्ट के आधार पर वे जेनेवा में [...]

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर, 2016 की रात नाटकीय कदम उठाकर पूरे देश को चकित कर दिया। इस बड़े सुधार का फायदा किसे हुआ और नुकसान किसे, अब इस पर चर्चा हो रही है। फायदे में 1000 रुपए के नोट को चलन से बाहर करने और 500 रुपए के नए नोट को लाने का असर अर्थव्यवस्था में प्रवाहित हो रही कम से कम 90 प्रतिशत मुद्रा पर होगा। साथ ही अवैध रूप से जिन [...]

लद्दाख में नरोपा फेस्टिवल 2016: हिमालय का कुंभ मेला

यह एक ऐसा फेस्टिवल है जो हर 12 साल में होता है। इसका अपना इतिहास और परंपरा है। धार्मिक पौराणिक कथाओं के साथ ही खूबसूरत रीति-रिवाज भी इससे जुड़े हैं। पूरी दुनिया से लोग आते हैं और इस मेले में भाग लेते हैं। यदि आपको लग रहा है कि ऊपर दिया गया विवरण भारत में लगने वाले कुंभ मेले का है, तो आपको देश की नदी घाटियों से निकलकर उत्तर की ओर हिमालय में पहुंचना [...]