Home / Imo / अविश्वास प्रस्ताव बहस के दौरान राहुल ने पप्पू को किया खत्म

अविश्वास प्रस्ताव बहस के दौरान राहुल ने पप्पू को किया खत्म

July 24, 2018
by


Please login to rate

अविश्वास प्रस्ताव बहस के दौरान राहुल ने पप्पू को किया खत्म

क्या राहुल गांधी ने आखिरकार “पप्पू” का टैग छोड़ दिया है? ऐसा मालूम पड़ता है कि अब राहुल गांधी बड़े हो गए हैं और उन्होंने भारतीय राजनीतिक क्षेत्र में बहुत ही शानदार तरीके से आने की घोषणा की। जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी संसद में अपना मनोरंजक भाषण दे रहे थे तब उन्होंने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की। जब बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने अविश्वास प्रस्ताव स्वीकार कर लिया था, तब बीजेपी को सदन में अपनी ताकत पर पूरा भरोसा था। जब अविश्वास प्रस्ताव पर बहस शुरू हुई, तो तेलुगू देशम पार्टी के जयदेव गल्ला ने सदन में एक स्पष्ट भाषण के साथ पहले वक्ता के रूप मे शुरुआत की।

जयदेव गल्ला ने मोदी सरकार के पाखंड और आंध्र प्रदेश के नए निर्धारित राज्य में विकास को बढ़ावा देने में उनकी असफलता को लेकर सीधा निशाना साधा। जयदेव गल्ला ने, प्रधानमंत्री की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए कहा भाजपा ने अपने झूठे वादों से धोखा दिया, देश भर में दलितों, जनजातियों, महिलाओं और अल्पसंख्यक के खिलाफ बढ़ते अत्याचारों के लिए सरकार को घेरा, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए शुरूआत कर दी है। सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला करते हुए राहुल गाँधी ने भाजपा सरकार में हुई “जुमला स्ट्राइक” को लेकर जोरदार बहस की। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री के राफेल सौदे में कथित तौर पर शामिल होने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री मोदी को उनके द्वारा की गई टिपण्णी के विपरीत उनको ‘चौकीदार नहीं बल्कि घोटाले का भागीदार’ कहा।

राहुल गाँधी ने उन लाखों भारतीयों की निराशा व्यक्त की है जो प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी के धोखे के विरोध में आवाज उठाने के लिए तैयार हैं। स्पष्ट रूप से प्रधानमंत्री का पाखंड तब दिखाई दिया जब वह चीनी समकक्ष के साथ झूले पर साथ बैठे दिखाई दिए, जिन्होंने किये गए आतिथ्य-सत्कार का बदला डोकलम में  चीनी सैनिकों को भेजकर चुकाया। राहुल ने कहा ‘मैं जो भी बोल रहा हूँ वह सच है, इसलिए वह मुझसे नजर नहीं मिला पा रहे हैं।

लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कुख्यात राफले जेट सौदे में हालिया हस्तक्षेप के दौरान देश के सामने झूठ बोलने का रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर आरोप लगाया। उन्होंने यह भी बताया कि उनके लिए जो अपशब्द बोला जाता है, पप्पू जो उनको नाम दिया गया था, उससे उन्हें नफरत है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने कहा कि वह सत्तारूढ़ सरकार की घृणा और क्रोध को प्यार में बदल देंगे। राहुल गांधी ने बीजेपी, आरएसएस और पीएम को धन्यवाद कहकर भावुक आवाज में अपना भाषण समाप्त किया। उन्होंने एक भारतीय, एक कांग्रेस नेता होने का वास्तविक मूल्य सीखा और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि वह एक हिन्दू हैं। सबसे निर्णायक क्षण तब आया जब राहुल ने अपना भाषण पूरा करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी को गले लगा लिया।

वर्ष 2016 में, उन्होंने कहा था कि अगर संसद में बात करने का मौका दिया जाएगा तो वह भूकंप ला देंगे, लेकिन उन्होंने वास्तव में भाजपा के कैंप में भूकंप ला दिया। जब से राहुल गांधी राजनीतिक परिदृश्य में आए हैं तब से मैं उनके अटपटे बयानों और भाषणों की वजह से उन्हें संदेह से देखता रहा हूँ। लेकिन, आज उन्होंने मेरे संदेह को अपने मंत्रमुग्ध भाषण के साथ आशावाद में बदल दिया। राहुल ने न केवल अपने इस भाषण से सत्तारूढ़ पार्टी को नीचा दिखाया बल्कि मोदी सरकार के दमनकारी शासन में बदलाव लाने के लिए सारे विपक्ष से एकजुट होने का आवाहन किया।

 

Summary
Article Name
अविश्वास प्रस्ताव बहस के दौरान राहुल ने की पप्पू की हत्या
Author
Description
सालों से राहुल गांधी को पप्पू और अन्य नामों से पुकारा गया है, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अविश्वास प्रस्ताव 2018 के दौरान एक वाक्पटु और शक्तिशाली भाषण देते हुए जबरदस्त तरीके से अपने आगमन की घोषणा की।