Home / Education / नेट परीक्षा 2018 : रजिस्ट्रेशन प्रारम्भ, तिथि, योग्यता, परीक्षा पैटर्न, पाठ्यक्रम, उपक्रम और प्रवेश पत्र

नेट परीक्षा 2018 : रजिस्ट्रेशन प्रारम्भ, तिथि, योग्यता, परीक्षा पैटर्न, पाठ्यक्रम, उपक्रम और प्रवेश पत्र

September 5, 2018
by


Please login to rate

नेट परीक्षा 2018

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के तहत राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए), नेट (राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा) आयोजित करती है जिसमें भारत के छात्रों के लिए सहायक प्रोफेसर कार्यक्रम और जूनियर रिसर्च फैलोशिप का आयोजन होता है। यह परीक्षा उम्मीदवारों को आईआईटी या अन्य राष्ट्रीय संस्थानों से अपने विषय में शोध करने की अनुमति प्रदान करती है। यह परीक्षा पास करने के बाद छात्र विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थानों में सहायक प्रोफेसर भी बन सकते हैं।

इस साल, एनटीए ने परीक्षा आयोजित करने के तरीके में थोड़ा बदलाव किया है। पहले, यूजीसी नेट ऑफलाइन मोड में आयोजित की जाती थी लेकिन अब से यह परीक्षा ऑनलाइन आयोजित की जाएगी। पाठ्यक्रम, फीस संरचना और पेपर की भाषा पिछले वर्ष की तरह ही रहेगी।

यूजीसी नेट 2018 के बारे में अधिक जानकारी के लिए, नीचे पढ़ें       

यूजीसी नेट परीक्षा दिसंबर 2018   तारीख
ऑवेदन फॉर्म जमा करने की शुरुआत 09/01/18
आवेदन फॉर्म जमा करने की अंतिम तिथि 09/30/18
यूजीसी नेट प्रवेश पत्र उपलब्धता 11/19/18
परीक्षा की शुरुआत 09 से 23 दिसंबर 2018
यूजीसी नेट 2018 (दिसम्बर) के परिणाम 01/10/19

 

आगामी सरकारी नौकरी के अवसरों की जांच करें

 

नेट परीक्षा 2018 परीक्षा पैटर्न

इस साल से, नेट परीक्षा वर्ष में दो बार आयोजित की जाएगी, पहली परीक्षा 9 से 23 दिसंबर 2018 तक और दूसरी परीक्षा जुलाई, 2019 के महीने में आयोजित की जाएगी। इससे पहले, नेट परीक्षा तीन सत्रों में आयोजित की जाती थी जिसमें उम्मीदवारों को तीन अलग-अलग परीक्षाओं के लिए उपस्थित होना पड़ता था, लेकिन इस बार से पैटर्न में कुछ बदलाव हुए हैं। अभ्यर्थियों को केवल दो परीक्षाओं के लिए उपस्थित होना होगा। सहायक प्रोफेसर और जूनियर रिसर्च फैलोशिप के पद उम्मीदवारों को उनके प्रदर्शन के अनुसार दिए जाएंगे। हालांकि, नेट परीक्षा पास करने वाले कुल उम्मीदवारों में से केवल 6% सहायक प्रोफेसर पद के लिए पात्र घोषित किए जाएंगे। इस परीक्षा में 6% आरक्षण नीति भी लागू है।

नेट परीक्षा 2018 पात्रता

जिन उम्मीदवारों ने यूजीसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से अपनी परास्नातक परीक्षा में 55% या उससे अधिक अंक प्राप्त किए हैं वे इस परीक्षा में शामिल होने के योग्य हैं। एससी / एसटी / ओबीसी या विकलांग उम्मीदवारों को यूजीसी नेट पात्रता मानदंडों में शामिल होने के लिए न्यूनतम 50% प्रतिशत की आवश्यकता है।

जो उम्मीदवार अंतिम वर्ष के परिणामों की प्रतीक्षा कर रहे हैं या परास्नातक के अंतिम वर्ष में पढ़ाई कर रहे हैं तो वे यूजीसी नेट 2018 में भी उपस्थित हो सकते हैं। हालांकि, ऐसे उम्मीदवारों को नेट परिणाम की तारीख से दो साल के अंदर ही अपनी परास्नातक परीक्षा पास करनी होगी।

नेट परीक्षा आवेदन शुल्क    

सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों को परीक्षा में शामिल होने के लिए 800 रुपये का शुल्क जमा करना होगा। ओबीसी श्रेणी के उम्मीदवारों को 400 रुपये का शुल्क जमा करना होगा जबकि अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति / विकलांग / ट्रांसजेंडर उम्मीदवारों को 200 रुपये का शुल्क जमा करना होगा।

परीक्षा के लिए शुल्क गैर-हस्तांतरणीय है और किसी भी परिस्थिति में वापस नहीं किया जाएगा। शुल्क का भुगतान क्रेडिट / डेबिट कार्ड या ई-चालान के माध्यम से किया जा सकता है।

श्रेणी आवेदन शुल्क
सामान्य 800 रुपए
ओबीसी-एनसीएल 400 रूपए
एससी/एसटी/पीडबल्यूडी 200 रूपए

 

आवेदन कैसे करें     

उम्मीदवार केवल ऑनलाइन मोड के माध्यम से फॉर्म भर सकते हैं। आवेदन करने के लिए चरण नीचे दिए गए हैं-

  • उम्मीदवार यूजीसी नेट की वेबसाइट पर जाएं।
  • “नेट दिसंबर 2018 के लिए आवेदन” पर क्लिक करें। “नए उम्मीदवार पंजीकरण” अनुभाग पर जाएं।
  • सभी निर्देशों को ध्यान से पढ़ें और “ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आगे बढ़ें” पर क्लिक करें।
  • स्क्रीन पर एक प्रमाणीकरण फॉर्म होगा।
  • राष्ट्रीयता, राज्य पहचान, राज्य / संघ राज्य जैसे आप अपना विवरण दर्ज करें जिनसे आप संबंधित हैं।
  • एक बार विवरण की जांच करें और फिर “सबमिट करें” बटन पर क्लिक करें।
  • एक बार प्रमाणीकरण प्रक्रिया पूरी हो जाए, ऑनलाइन आवेदन भरने के लिए आगे बढ़ें।
  • आपका विवरण जमा होने के बाद एक आवेदन संख्या जनरेट हो जाएगी।
  • आवश्यक प्रारूप में अपने हस्ताक्षर और नवीनतम फोटो को स्कैन करके अपलोड करें।
  • अब, ऑफलाइन और ऑनलाइन मोड के माध्यम से शुल्क का भुगतान करें।
  • भुगतान पूरा करें और पुष्टिकरण पृष्ठ का प्रिंटआउट लें।

 

नेट परीक्षा 2018 पाठ्यक्रम 

  • यूजीसी परीक्षा के लिए उपस्थित उम्मीदवार को मौजूदा पाठ्यक्रम के बारे में पता होना चाहिए।
  • पेपर 1 के लिए: यूजीसी नेट पेपर 1 इस तरह से तैयार किया गया है कि यह उम्मीदवार की शिक्षा और उम्मीदवार की शोध क्षमता का परीक्षण करता है।
  • पेपर 2 के लिए: पेपर 2 के लिए, उम्मीदवार आम तौर पर परीक्षा के लिए एक विषय का चयन करते हैं जो विशेष रूप से उनके परास्नातक का विषय है।
  • विभिन्न विषयों की दी हुई लिस्ट में से अपने विषय को डाउनलोड करने के लिए https://www.ugc.ac.in/net/syllabus.aspx पर जाएं

 

नेट परीक्षा 2018 तैयारी की युक्तियाँ

अपने स्वयं के नोट्स बनाएं – अपने स्वयं के बने हुए नोट्स चीजों को आसान तरीके से समझने में मदद करते हैं। आप साधारण भाषा में महत्वपूर्ण विषयों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।

अपने नोट्स को अच्छी तरह से दोहराएं – इसके लिए सबसे अच्छी बात यह है कि अपने नोट्स को अच्छी तरह से दोहरा लें। शॉर्ट ट्रिक्स और बेसिक फार्मूला को ध्यान में रखें।

योजना बनाएं – अपने मजबूत और कमजोर विषयों का पता लगाएं और अच्छी तरह से अध्ययन करने के लिए एक योजना बनाएं, उन विषयों को अवश्य दोहराएं जिन्हें आप पहले ही तैयार कर चुके हैं।

अपनी स्पीड बढ़ाएं और सटीकता पर ध्यान केंद्रित करें – सीमित समय में प्रश्नों को हल करना एक आसान काम नहीं है। तो, अपनी गति के साथ-साथ सटीकता पर विशेष रूप से ध्यान रखें।

पेपर I और II दोनों के लिए तैयारी करें – कई बार उम्मीदवार दोनों में से एक के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। दोनों परीक्षाओं के लिए बराबर तैयार रहना चाहिए क्योंकि दोनों परीक्षाएं बेहद महत्वपूर्ण हैं।

अपने आत्मविश्वास को बढ़ावा दें – हर कोई जानता है कि यूजीसी नेट एक राष्ट्रीय स्तर की प्रतिस्पर्धात्मक परीक्षा है इसलिए प्रतियोगिता कठिन होती जा रही है। किसी को इससे निराश नहीं होना चाहिए, बल्कि एक व्यक्ति को अच्छी तरह से तैयारी और खुद को प्रेरित करना चाहिए।

इसलिए, अंतिम तिथि से पहले फॉर्म भरें और तैयारी शुरू करें।

Summary
Article Name
नेट परीक्षा 2018: रजिस्ट्रेशन प्रारम्भ, तिथि, योग्यता, परीक्षा पैटर्न, पाठ्यक्रम, तैयारी युक्तियाँ और प्रवेश पत्र 
Author
Description
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के तहत राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए), नेट (राष्ट्रीय योग्यता परीक्षा) आयोजित करती है जिसमें भारत के छात्रों के लिए सहायक प्रोफेसर कार्यक्रम और जूनियर रिसर्च फैलोशिप का आयोजन होता है।