Home / India / इस त्यौहार के मौसम में स्वस्थ रहने के लिए 10 युक्तियाँ

इस त्यौहार के मौसम में स्वस्थ रहने के लिए 10 युक्तियाँ

October 9, 2017
by


इस त्यौहार के मौसम में स्वस्थ्य रहने की 10 युक्तियाँ

यह समय कोलाहपूर्ण प्रदर्शन, अवसर का आनंद लेने व त्यौहार के मौसम के रूप में विख्यात है। यह खुशी, प्रेम, स्नेह और गर्मजोश हवाओं के साथ साल के मुख्य त्यौहारों का समय है। यह त्यौहार का मौसम आपके पड़ोसियों और प्रियजनों के प्यार व स्नेह का गठबंधन करने के साथ-साथ अपने विशेष लजीज व्यंजनो के लिए प्रसिद्ध है। त्यौहार लजीज व्यंजनो के साथ हृदय जनित रोगों के कारक भी माने जाते हैं। त्यौहार के समय, हम सावधानी बरतना भूल जाते हैं और स्वादिष्ट भोजन का सेवन करने में व्यस्त रहते हैं। अगर लोगों ने इस समय आवश्यक सावधानी न बरती तो, यह परहेज करने वाले लोगों और कुछ बीमारियों से ग्रस्त लोगों या अन्य लोगों के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।  समय के बीतने के साथ साथ कहावत “स्वास्थ्य ही धन है” बिल्कुल सटीक बैठती है। स्वास्थ्य का दर्जा सब से ऊपर माना जाता है। इसलिए, हम त्यौहार के मौसम के आगमन पर यह सलाह देते हैं कि आप अपने स्वास्थ्य को हल्के में न लें।

त्यौहारों के इस मौसम में स्वस्थ्य जीवन शैली को बनाए रखने के लिए सावधानी बरतें, ताकि आप अपने पड़ोसियों और प्रियजनों के साथ मिलकर आनंद और खुशियाँ बाँट सकें। यहाँ त्यौहार के मौसम के दौरान स्वस्थ्य रहने के कुछ सुझाव दिए गए हैं: –

  • इस समय मिलावटी सामग्रियों से बने हुए खाद्य पदार्थों से दूर रहने की सलाह दी जाती है।
  • त्यौहार के मौसम के दौरान या लगभग प्रतिदिन व्यायाम करें। निश्चित रूप से स्वस्थ्य भोजन के साथ-साथ दैनिक व्यायाम एक स्वस्थ्य जीवन शैली बनाए रखने का सबसे अच्छा तरीका माना जाता है।
  • त्यौहार के मौसम के दौरान मुँह में पानी लाने वाली स्वादिष्ट मिठाईयों का सेवन करना कोई जरूरी नहीं है। मधुमेह रोगियों के लिए, अपने आहार योजना के आधार पर स्थिर जाँच और खाने की आदतो पर संयम बरतना महत्वपूर्ण है।
  • अधिक तले हुए खाद्य पदार्थों का सेवन न करें, क्योंकि यह खाद्य पदार्थ न केवल कोलेस्ट्रॉल के स्तर में वृद्धि करते हैं, बल्कि यह वसा की मात्रा को भी बढ़ाने में अहम भूमिका निभाते हैं।
  • स्वस्थ्य जीवन शैली में हाइड्रेशन (जल-योजन) महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, न केवल त्यौहार के मौसम में हाइड्रेटेड का उपस्थितीकरण आवश्यक है, बल्कि शेष दिनों में भी इसकी आवश्यकता होती है।
  • बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए दवाइयाँ महत्वपूर्ण हैं। मधुमेह रोगियों के लिए, भोजन करने और साथ ही उपवास के दौरान नियमित रूप से अपनी दवाइयाँ लेने की सलाह दी जाती है।
  • भोजन बनाने में प्रयोग किए जाने वाले तेल में हानिकारक तत्व मौजूद होते हैं, जो किसी भी स्वस्थ्य व्यक्ति की जीवन शैली को प्रभावित कर सकते हैं। एक त्यौहार का मौसम हो अन्यथा कोई भी दिन हो, खाना पकाने के लिए स्वस्थ्य तेल का चुनाव करना उचित होता है। इसके लिए फॉर्च्यून विवो डायबिटीज – केयर ऑयल का प्रयोग करने का सुझाव दिया जाता है। हालांकि, लोग जिस स्वस्थ्य तेल को पसंद करते है उनका भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • कार्ब्स में रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ाने की क्षमता निहित होती है। इसलिए त्यौहार के मौसम में, कार्ब्स का सेवन करने की सलाह दी जाती है।
  • मधुमेह से ग्रस्त लोगों के लिए, रक्त शर्करा के स्तर पर नियंत्रण रखना सबसे महत्वपूर्ण है। रक्त शर्करा के स्तर की नियमित रूप से जाँच कराना आवश्यक है, क्योंकि त्यौहार के मौसम में कोई भी व्यक्ति रक्त शर्करा के स्तर पर नियंत्रण रखने से मात खा सकता है।
  • स्वस्थ्य जीवन शैली को बनाए रखने के लिए, ताजे फल और सलाद का सेवन करने के साथ-साथ नियमित रूप से व्यायाम करने से शरीर का प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होता है।