Home / Travel / भारत में बैकपैकर्स के लिए घूमने वाली जगहें

भारत में बैकपैकर्स के लिए घूमने वाली जगहें

February 8, 2018
by


भारत में बैकपैकर्स के लिए सर्वश्रेष्ठ गंतव्य

भारत में बैकपैकर्स के लिए सर्वश्रेष्ठ गंतव्य

क्या आप स्वभाव से एक यात्री हैं? क्या सड़कें आपको समय-समय पर इशारे से बुलाती हैं? तो उसके लिए भारत एकदम सही स्थान है, क्योंकि यह कई ऐसे स्थलों का गढ़ है, जो बैकपैकर्स के लिए आदर्श हैं। इसलिए, हमें अपनी यात्रा में शामिल करें, क्योंकि हम आपको सबसे सर्वश्रेष्ठ यात्रा स्थलों में से कुछ से अवगत करा रहे हैं।

मुन्नार 

मुन्नार एक अति आकर्षक हिल स्टेशन है, जो केरल के इडुक्की जिले में स्थित है। मुन्नार अपने आप में चाय बागानों, आलीशान पर्वत श्रृंखलाओं और सुदंर झरनों के लिए प्रसिद्ध है। मुन्नार में वर्ष भर मौसम सुहावना रहता है। मुन्नार में गर्मियों में तापमान 15 डिग्री सेल्सियस और 25 डिग्री सेल्सियस के बीच हो सकता है, जबकि सर्दियों में यहाँ का तापमान 5 डिग्री सेल्सियस और 25 डिग्री सेल्सियस के बीच होता है। मुन्नार और उसके आस पास देखने लायक स्थानों में सुब्रमण्य मंदिर, एराविकुलम राष्ट्रीय उद्यान, मुन्नार चाय संग्रहालय और कर्मेलगिरि एलिफेंटा पार्क आदि शामिल हैं।

पार्वतीघाटी

पार्वती घाटी हिमाचल प्रदेश में स्थित है, जो मनाली, कसोल, तोष और खीरगंगा जैसे अन्य प्रमुख पर्यटक आकर्षणों के बेहद करीब है। शायद इसी कारणवश यह दुनियाभर के युवा और बूढ़े बैकपैकर्स के लिए पसंदीदा स्थान है। यहाँ से आप नजदीक के ‘जोगिनी’ नामक झरने का भी दौरा कर सकते हैं, जो वशिष्ठ में स्थित है। खीरगंगा में प्राकृतिक गर्म जल स्त्रोत भी देखने लायक एक बेहतरीन स्थान है। पार्वती घाटी की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय मार्च और जुलाई के बीच का है।

मैकलोडगंज और धर्मशाला

जब बैकपैकर्स की बात आती है, तो उस मामले में धर्मशाला और उसका पड़ोसी शहर मैकलोडगंज उत्कृष्ट स्थलों में से एक है। ये हरे भरे शहर हिमालय की तलहटी में स्थित हैं। धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी शीतकालीन राजधानी है। दलाई लामा का निवास स्थान भी धर्मशाला में स्थित है। मैकलोडगंज और धर्मशाला दोनों घने जंगलों से परिपूर्ण हैं और आप आसानी से इनके मध्य से ट्रेकिंग कर सकते हैं। यहाँ प्रचुर मात्रा में झरने भी हैं। पास में ही धौलाधार के पर्वत स्थित हैं, इनकी गणना भी प्रमुख आकर्षणों में की जाती है। इन स्थानों की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय जून और सितंबर के बीच का है।

जैसलमेर

जैसलमेर, जो कि थार के रेगिस्तान का केंद्र और एक विश्व विरासत स्थल है। इस स्थान पर स्थाई व अस्थाई रेत के ऊँचे-ऊँचे टीले हैं, जो इसके प्रमुख पर्यटक आकर्षण हैं। राजस्थान का यह शहर हवेलियों और किलों के लिए काफी प्रसिद्ध है और यह बैकपैकर्स के लिए एक लोकप्रिय आकर्षण है। शहर के 60 कि.मी. के दायरे के भीतर का स्थान चट्टानी और पथरीला है। जैसलमेर की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर में शुरू होने वाली और मार्च में ख़त्म होने वाली सर्दियों के दौरान होता है।

स्पीति

यदि आप एक ऐसे बैकपैकर हैं, जो अकेले यात्रा करना पसंद करते हैं तो शायद यह आपके लिए एक सबसे अच्छा स्थान है। इस घाटी में बहुत ही कठिन रास्ते हैं, इसलिए यह साहसिक कार्यों की तलाश करने वाले बाईकर्स और ट्रेकर्स के लिए एक बेहतर स्थान माना जाता है। स्पीति की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय मध्य मई और मध्य अक्टूबर के बीच का है। यहाँ पर निवास के बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं।

लेह लद्दाख

दुनिया भर में बैकपैकर्स के सबसे अधिक पद चिन्ह लेह लद्दाख में मिलते हैं। यह वह स्थान है जहाँ आपको दुनिया का सबसे ज्यादा ऊंचाई पर स्थित फूड कैफे, सबसे ज्यादा ऊंचाई पर स्थित एटीएम और सबसे ज्यादा ऊंची सड़क आदि जैसे आकर्षण देखने को मिलते हैं। यदि आप सड़क के माध्यम से यात्रा करना चाहते हैं, तो वहाँ जाने का सबसे अच्छा मार्ग दिल्ली से है और फिर आप श्रीनगर और कारगिल के माध्यम से वापस आ सकते हैं। लेह लद्दाख जैसे स्थान पर जाने का सबसे अच्छा समय जून और सितंबर के बीच का है।

भारत में निम्नलिखित कुछ अन्य गंतव्य भी हैं, जो वास्तव में बैकपैकर्स द्वारा काफी पसंद किए जाते हैं।

  • गोकर्ण
  • गोवा
  • ऋषिकेश
  • मेघालय
  • हम्पी
  • पुष्कर
  • वर्कला