Home / Education / चिंता से छुटकारा पाने के 10 तरीके

चिंता से छुटकारा पाने के 10 तरीके

August 8, 2018
by


Please login to rate

चिंता से छुटकारा पाने के 10 तरीके

चिंता? एक ऐसी स्थिति है जो व्यक्ति के मस्तिष्क में उसके दूसरे विचारों को हटाकर समाहित हो जाती है और इसके दुष्प्रभावों से अनजान लोग आमतौर पर इसके बारे में नहीं समझ पाते हैं लेकिन, जो लोग इससे पीड़ित हैं, वे जानते हैं कि घबराहट, चिंता, भय और शंका की यह सरल भावना कितनी पेंचीदा हो जाती हैः यह आपके दिमाग की शांति को कैसे छीन लेती है। चिंता हमारे व्यवहार और भावनाओं को भी प्रभावित करती है। मानसिक आघात किसी व्यक्ति में चिंता बढ़ाने वाले एक गंभीर कारण के रूप में कार्य करता है। कभी-कभी, चिंता से उत्पन्न उथल-पुथल का कारण शारीरिक लक्षण भी होते हैं। किसी भी व्यक्ति को शांतिपूर्ण जीवन जीने के लिए चिंता से छुटकारा पाना बहुत ही आवश्यक होता है।

चिंता से छुटकारा पाने के कुछ तरीके नीचे दिए गए हैं –

श्वास अभ्यास (ब्रीथिंग एक्सरसाइज)

चिंता पर नियंत्रण करने वाला सबसे प्रभावी तरीका तेजी से सांस लेने वाला व्यायाम करना है। सांस लेने के तरीके और इसकी गति को बढ़ाकर, चिंता से मुक्ति पा सकते हैं। शरीर को हमारे शांत कौशल पर प्रतिक्रिया करने में कुछ समय लगता है और फिर हमें तनाव से निपटने में सक्षम बनाने के लिए हार्मोन जारी करना शुरू कर देते हैं। यदि कोई भी व्यक्ति किसी ऐसी परिस्थिति में फंस जाता है, जो उसे चिंतित करती है, तो उस स्थिति में किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया देने से पहले गहरी साँस लेकर 10 तक गिनती गिननी चाहिए। यह आपके मस्तिष्क के साथ-साथ शरीर को भी उचित प्रतिक्रिया देने के लिए समय प्रदान करता है।

ध्यान और योग

अपनी मानसिक क्षमताओं को मजबूत बनाने के लिए स्वयं के साथ अधिक समय व्यतीत करना चिंता को कम करने के बेहतरीन तरीकों में से एक है। ध्यान आपकी मानसिक शक्ति को विकसित करने और एकाग्रता को बढ़ाने में सहायता करता है। इसके अलावा, ध्यान से गहरी नींद भी प्राप्त की जा सकती है। चूँकि नकारात्मकता पहले हमारे दिमाग पर धीरे-धीरे पकड़ बनाना प्रारंभ करती है और इसके बाद यह पूरी तरह से पकड़ बना लेती है। योग और ध्यान, यदि नियमित आधार पर किया जाए, तो यह आत्म-सम्मान को प्रोत्साहित करता है और इससे व्यक्ति स्वस्थ महसूस करता है।

नकारात्मकता को चुनौती दें

आपको हमेशा एक जरूरी बात याद रखनी चाहिए कि जीवन स्वयं को एक बेहतर संस्करण में विकसित करने वाली अंतहीन प्रक्रिया है। आप अपने दिमाग में मौजूद नकारात्मकता का विरोध करें और बेहतर जीवन जीने के हर सकारात्मक समाधान के बारे में सोचने का प्रयास करें। विश्वास करें और अपने आपको को विश्वास दिलाएं कि आप ‘जीवन’ में सबकुछ करने में सक्षम हैं।

तनाव को ढूंढे और खुद से दूर भगाएं

आप अपने जीवन में तनाव उत्पन्न करने वाले कारणों को ढूंढें। याद रखें, आपके मन की शांति से अधिक महत्वपूर्ण कुछ भी नहीं है। इसलिए तनाव उत्पन्न करने वाले लोगों या गतिविधियों से दूर रहें और अपनी आंतरिक शांति को खोजने के लिए कदम उठायें। किसी भी घटना या परिस्थितियों के बारे सोंचकर चिंता न करें  क्योंकि वे घटनाएं या परिस्थितियां हमेशा नहीं रहेंगी।

एक्यूपंक्चर जैसे वैकल्पिक उपचार पर कार्य

चिंता को दूर करने के लिए कई बार परंपरागत दवाएं समाधान के रूप में कार्य नहीं करती हैं। इस स्थिति से राहत पाने के लिए वैकल्पिक उपचार पर कार्य करने की कोशिश की जा सकती है। स्वास्थ्य लाभ के अलावा, एक्यूपंक्चर जैसे कार्य किसी व्यक्ति के अंदर आत्मविश्वास और जागरूकता में प्रभावी हो सकते हैं।

स्वयं की देखभाल

जिस तरह से आप आपने आप को प्यार कर सकते हैं उस तरह से कोई और आपको प्यार नहीं कर सकता और जिस तरह से आप अपने आप की देखभाल करेंगे उस तरह से कोई भी आपकी देखभाल नहीं कर सकता है। चिंता से छुटकारा पाने के लिए अपने अंदर एक पूर्ण दृष्टिकोण विकसित करना आवश्यक है। यदि आप शान्त महसूस नहीं करते हैं, तो आप आपने आप की देखभाल करने की कोशिश करें। अपने आप के मित्र बनें क्योंकि यह आप ही हैं जो स्वंय के लिए खड़े हो सकते हैं। अपने आप पर ध्यान देना शुरू करें, बढ़ते रहें कभी भी रुकें ना। अपने संसाधनों को पुनः पूर्ति करें, अपने बारे में अच्छा महसूस करें, अपनी क्षमताओं को कम न समझें। मालिश करवाएं या बाल कटवाएं। अपने आप पर रूपये खर्च करें, हर उपलब्धि के लिए खुद की प्रशंसा करें और अंतिम तौर पर खुद पर विश्वास करें।

कैफीन का सेवन कम करें

कभी-कभी त्रास और चिंता को शीघ्र कम करने में  कैफीन सहायक होता है। कैफीन का अधिक मात्रा में सेवन कम रक्त शर्करा के स्तर और आपके दिल की धड़कन का कारण बन सकता है। यह तंत्रिका तंत्र के अति सक्रियण में भी योगदान देता है जो अंततः चिंता को बढ़ाता है। इसलिए, कैफीन के सेवन को कम करने की सलाह दी जाती है जो आपको अतिरिक्त चेतावनी देता है और चिंताजनक व्यवहार की ओर ले जाता है।

चीजों का सामना करें, भागें मत

किसी समस्या के चलते चिंता तो होती ही है, क्योंकि किसी भी परिणाम के बारे में चिंतित होना स्वाभाविक है। परिस्थितियों से निपटने का सबसे अच्छा तरीका है कि हम परेशानियों के मूल कारण को जानें, सकारात्मक नतीजे के बारे में सोचें और परिणाम के बारे में चिंतित न हों। अपने डर को कम करें और अपने मन को किसी भी परिस्थिति में डरने न दें। एक बार जब आप परिस्थितियों का सामना करना शुरू कर देते हैं और सकारात्मक परिणाम मिलने लगेंगे, फिर ऐसी परिस्थितियां आपको परेशान करना बंद कर देंगी।

एक दिनचर्या बनाएं

एक दिनचर्या बनाएं जो निश्चित रूप से चिंता से निपटने में मदद कर सकती है, लेकिन एक बात ध्यान में रखें कि सभी चीजों पर नियंत्रण रखना आवश्यक या संभव नहीं है। अपने पूरे दिन की योजना बनाएं और अपनी दिनचर्या का पालन करें। इससे निश्चित रूप से शांति मिलेगी लेकिन इसके बारे में जुनूनी मत बनें।

सकारात्मक विचार रखने वाले लोगों के साथ समय बिताएं

सकारात्मक सोंच रखने वाले लोगों के साथ समय व्यतीत करना, चिंता से मुक्ति पाने में मदद कर सकता है। वास्तव में दोस्तों और परिवार का साथ समय व्यतीत करने पर आपको कई समस्याओं से निपटने में मदद मिल सकती है। सकारात्मक लोगों की संगति में आपके अंदर एक प्राकृतिक तनाव राहत ऑक्सीटॉसिन जारी होता है जो सभी नकारात्मक बातों का सामना करते हैं। जब आप अपने प्रियजनों की संगति में सुरक्षित महसूस करते हैं तो एड्रेनालाईन रस आपके सिर में घूमना बंद कर देता है।

चिंता से मुक्ति पाना एक धीमी प्रक्रिया है, कोई जादू इसे रात भर में ठीक नहीं कर सकता है। इसलिए, चिंता न करें और धीरे-धीरे इसे नियंत्रण में करने की कोशिश करें और इसे दूर करने के लिए कदम उठाएं।

Summary
Article Name
चिंता से छुटकारा पाने के 10 तरीके
Author
Description
चिंता से मुक्ति पाना एक धीमी प्रक्रिया है, कोई जादू इसे रात भर में ठीक नहीं कर सकता है। इसलिए, चिंता न करें और धीरे-धीरे इसे नियंत्रण में करने की कोशिश करें और इसे दूर करने के लिए कदम उठाएं।