Home / India / डैंड्रफ से छुटकारा पाने के 6 आयुर्वेदिक उपाय

डैंड्रफ से छुटकारा पाने के 6 आयुर्वेदिक उपाय

February 7, 2019
by


 

डैंड्रफ से छुटकारा पाने के 6 आयुर्वेदिक उपाय

डैंड्रफ एक ऐसी समस्या है जो बालों के झड़ने के बारे में लोगों के मन में घबराहट पैदा कर रही है। सिर की शुष्क त्वचा पर बैक्टारिया का पनपना और ड्राई स्किन फ्लेक्स का ज्यादा बनना डैंड्रफ (रूसी) का कारण बनता है। डैंड्रफ की समस्या वास्तव में आपको कई बार हो सकती है जो सिर में होने वाली खुजली का कारण बन सकता है। ड्राइनेस फंगल इन्फेक्सन के अलावा, सिर में डैंड्रफ होने का मुख्य कारण साफ-सफाई, तनाव और आहार प्रमुख नियंत्रण कारक हैं।

नीचे डैंड्रफ (रूसी) की समस्या पर अंकुश लगाने के कुछ आयुर्वेदिक उपाय दिए गए हैं जिन्हें आप आजमा सकते हैं –

1. टी ट्री ऑयल

टी ट्री ऑयल में मुँहासों और त्वचा रोग के उपचार की असाधारण शक्ति है। यह बैक्टीरिया और फंगल संक्रमण से भी लड़ सकता है। एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुणों से समृद्ध होने के कारण, यह तेल तनाव से होने वाले फंगस को खत्म करने में भी प्रभावी है, जो खोपड़ी में डैंड्रफ का कारण बनता है।

उपयोग करने की विधि : जैसा कि यह तेल गाढ़ा होता है, इसलिए इसे नारियल तेल के साथ मिलाकर पतला करके लगाने की सलाह दी जाती है। आप इसे अपने शैम्पू के साथ भी मिला सकते हैं या इसे सीधे खोपड़ी पर लगा सकते हैं और इसे सिर की त्वचा में अवशोषित कर सकते हैं।

यह एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल तेल पूरी तरह से सिर की सभी समस्याओं को खत्म करने में सहायक है।

2. एलोवेरा

एलोवेरा न केवल हल्के से त्वचा को एक्सफोलिएट करता है, बल्कि यह त्वचा की स्थिति जैसे कि कोल्ड सोर और सोरायसिस के इलाज में मदद करने के लिए भी माना जाता है। एलोवेरा जेल सूजन को कम करने और डैंड्रफ के इलाज में मददगार है। एलोवेरा का अर्क जो गाढ़ा और पारदर्शी होता है, त्वचा को ठंडक प्रदान करने में सक्षम होता है और त्वचा में फंगस के कारण होने वाली जलन को शांत करता है। एलोवेरा सूजन से भी राहत दिलाता है। एलोवेरा जेल डैंड्रफ की समस्या के लिए एक उपचारात्मक उपाय है।

उपयोग करने की विधिः: एलोवेरा जेल लेकर आप इसे अपनी खोपड़ी पर लगा सकते हैं, इसके अलावा, बेहतर परिणामों के लिए प्याज के रस के साथ एलोवेरा मिला कर लगा सकते हैं।

3. नारियल का तेल

नारियल से निकाले गये तेल में विटामिन और फैटी एसिड की प्रचुरता होती है। इसके साथ ही यह आवश्यक विटामिन जैसे कि के और ई, कैप्रिक एसिड, लॉरिक एसिड और प्रोटीन से समृद्ध होता है जो बालों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। तेल खोपड़ी में आसानी से अवशोषित हो जाता है और सिर की त्वचा को कंडीशनिंग, मॉइस्चराइजिंग और हाइड्रेटिंग प्रभाव देता है। नारियल तेल के नियमित प्रयोग से आपके सिर की मृत त्वचा सही हो सकती है और डैंड्रफ से होने वाली समस्या जैसे जलन और बाल झड़ने की समस्या भी खत्म हो जाती है। डैंड्रफ के दौरान बालों के झड़ने और टूटने की समस्या को कम करने के लिए नारियल का तेल उचित सुझाव है। नारियल तेल लगाने से आपके बाल फिर से चमकदार और घने हो जाएंगे।

उपयोग करने की विधि: नारियल तेल को गर्म करें और इसे अपने बालों पर समान रूप से लगाएं। कम से कम 20 मिनट तक धीरे-धीरे मालिश करें और इसे एक घंटे के लिए लगा रहने दें। शैम्पू से अपने बालों को धोलें।

4. सेब का सिरका

सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर) त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटाता है और सिर के पीएच स्तर को संतुलित करने के लिए भी उत्तरदायी होता है। यह किसी भी फंगल संक्रमण को बढ़ने से रोकता है और इस प्रकार सिर को डैंड्रफ से बचाता है। सेब के सिरके में एंटी-बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जो सिर से जुड़ी सभी समस्याओं को प्रभावी रूप से ठीक करता है। सिरके में एन्टी- इन्फ्लामैटरी गुण भी होते है, जो रूसी की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करते है। सेब का सिरका सिर में अतिरिक्त तेल को सामान्य करने में सक्षम है।

उपयोग करने की विधिः एक कटोरे में सेब का सिरका लें और धीरे-धीरे सिर पर मालिश करें। इसे लगभग 30 मिनट के लिए लगा रहने दें और फिर शैम्पू से धो लें। सिरके का उपयोग करने के बाद कंडीशनर का उपयोग करना न भूलें।

5. बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा, जो आमतौर पर रसोई में पाया जाता है, डैंड्रफ को दूर करने के लिए आसानी से उपलब्ध है। यह एक एक्सफोलिएंट है जो त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटा सकता है और खुजली को कम करता है। इसमें एंटी-फंगल गुण भी होते हैं जो डैंड्रफ को हटाने में सहायक हो सकते हैं। बेकिंग सोडा सोरायसिस की समस्या को भी कम कर सकता है। बेकिंग सोडा सिर से अतिरिक्त तेल सोख सकता है और यह डैंड्रफ को ठीक करने में मददगार है।

उपयोग करने की विधिः एक बड़ा चम्मच बेकिंग सोडा लें और इसे अपने सिर और बालों पर रगड़ें। इसे सिर पर एक मिनट के लिए लगा रहने दें और फिर अच्छी तरह से धो लें। बालों से इसे निकालने के लिए शैम्पू का उपयोग करें।

6. नींबू का रस और दही

नींबू और दही दोनों में मौजूद प्राकृतिक एंजाइम सिर में फंगस को दूर करने के लिए जिम्मेदार होते हैं। नींबू में मौजूद एसिड पीएच को संतुलित करता है और सिर में नमी को बनाए रखता है। दही बालों को पोषण प्रदान करता है और इन्हें चमकदार और मुलायम बनाता है। दही और नींबू के नियमित उपयोग से त्वचा से कैमिकल्स भी समाप्त हो जाते हैं और बाल सामान्य हो जाते हैं।

उपयोग करने की विधिः नींबू के रस और दही का मिश्रण तैयार करें और इसे अपने बालों पर लगाएं। मिश्रण को अपने पूरे बालों पर 30 मिनट तक लगा रहने दें और फिर धो लें। इसे हटाने के लिए शैम्पू का इस्तेमाल करें। बेहतर परिणाम के लिए आप इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार कर सकते हैं।

Summary
Article Name
डैंड्रफ से छुटकारा पाने के 6 आयुर्वेदिक उपाय
Description
डैंड्रफ एक प्रमुख कारक है जो बालों के झड़ने का कारण बनता है। इस समस्या पर अंकुश लगाने के कुछ आयुर्वेदिक उपायों के बारे में जानें।
Author