Home / India / प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए खाद्य पदार्थ

प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए खाद्य पदार्थ

July 25, 2018
by


Please login to rate

प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए खाद्य पदार्थ

प्रतिरक्षा प्रणाली हमारे शरीर में एक रक्षात्मक दीवार की तरह काम करती है जो इसे हमलावर संक्रमण और बीमारियों से बचाती है। लेकिन आज, हमारी खाने की आदतें हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को भारी क्षति पहुँचा रही हैं और इसे अधिक कमजोर और शक्तिहीन बना रही हैं। आज कल हमारे बीमार होने का जो अनुपात है वो चौंका देने वाला है। हमारे शरीर संक्रमण, बीमारियों, एलर्जी और कैंसर के खतरे को प्ररित कर रहे हैं। इन समस्याओं को ठीक करने के लिए, आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली की सुरक्षा और स्थिरीकरण आज के समय की आवश्यकता है। हमारी खाने की आदतों को बदलना तथा पोषक तत्वों से परिपूर्ण संतुलित आहार को शामिल करना, एक आवश्यकता बन गई है। इन पोषक तत्वों में सभी प्रकार के विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट, प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन और मैग्नीशियम शामिल हैं। इन पोषक तत्वों में समृद्ध खाद्य पदार्थों को शामिल करने से न केवल आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा मिलेगा बल्कि आपके शरीर को बीमारियों से लड़ने के लिए काफी मजबूती भी प्रदान करेगा।

केवल एक आहार प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में कोई मदद नहीं करेगा, नीचे कुछ खाद्य पदार्थ दिए गए हैं जो विशेष रूप से इस मानसून के मौसम के दौरान आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देंगे।

1. कीवी

जब शरीर में गंभीर विकारों और बीमारियों का इलाज करने की बात आती है तो कीवी जादू की तरह काम करता है। यह फोलेट, पोटैशियम, विटामिन के, और विटामिन सी जैसे सभी महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से परिपूर्ण होता है। यह आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाता है और आपके शरीर को संक्रमण से लड़ने में सक्षम बनाता है।

दृष्टि हानि के खतरे में कमी: कीवी दृष्टि हानि के खतरे को कम करने में मदद करता है।

ह्दय के स्वास्थ्य में सुधार: कीवी दिल को स्वस्थ रखने के अनुकूल फल है जो रक्त के थक्के में कमी और आपके खून में वसा को जमा करने में मदद करता है।

रक्तहीनता से पीड़ित रोगियों का इलाज करता है: रक्तहीनता से पीड़ित रोगियों को अत्यधिक आयरन के कारण हर दिन कीवी खाने की सलाह दी जाती है। यह आपकी लाल रक्त कोशिकाओं की गिनती बढ़ाने में मददगार साबित होगा।

डेंगू रोगियों के लिए फायदेमंद: कीवी डेंगू बुखार में प्लेटलेट (बिंबाणु) गिनती बढ़ाने में मदद करता है और बीमारी के कारण होने वाली थकान को भी कम करता है।

2. बादाम

बादाम विटामिन ई, आयरन, प्रोटीन, फाइबर, और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं जो एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। बादाम का सेवन अपने सर्वांगीण लाभ के साथ-साथ कई बीमारियों से लड़ने में भी मदद करता है।

मस्तिष्क के लिए अच्छा: बादाम में रासायनिक फेनिलालाइनाइन होता है, जो मस्तिष्क में दो हार्मोन-एड्रेनालाईन और डोपामाइन के उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद करता है। ये रसायन दिमाग की एकाग्रता, सतर्कता और स्मृति प्रतिधारण में भी वृद्धि करते हैं।

ह्दय के स्वास्थ्य में सुधार: बादाम में मैग्नीशियम और पोटेशियम सामग्री ह्दय की उचित कार्यप्रणाली में मदद करती है। मैग्नीशियम प्रतिरोध, नसों और धमनियों में रूकावट के खतरे को कम कर देता है। पोटेशियम दिल में तंत्रिकाओं को नियंत्रित करने के लिए प्रेरित करता है।

पाचन में सुधार: बादाम में पाई जाने वाली फाइबर सामग्री शरीर में पाचन और खाद्य संचार में सुधार करती है। यह पाचन तंत्र से जहरीले पदार्थों के संचय को हटाने में भी मदद करता है।

मधुमेह की रोकथाम: बादाम शरीर में ग्लूकोज सेवन को अवशोषित और संसाधित करके रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है।

3. खट्टे फल

खट्टे फलों में पाई जाने वाली विटामिन सी सामग्री हमेशा हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए अच्छी होती है। यह विटामिन शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या में वृद्धि करती है जो विभिन्न जीवाणु संक्रमण से लड़ने में मदद करता है। खट्टे फलों में संतरे, टेंगेरिन, नींबू, अंगूर, नींबू, आदि शामिल हैं।

सर्दी और फ्लू का इलाज करता है: संतरों की तरह खट्टे फल सर्दी और फ्लू जैसे संक्रमणों का इलाज करने के लिए एक अच्छे उपाय के रूप में माने जाते हैं।

रक्त वसा कम करता है: इन फलों में अद्वितीय फाइबर होते हैं जो शरीर में रक्तवसा के स्तर को कम करने में मदद करते हैं।

4. दही

दही में प्रोबियोटिक बैक्टीरिया की अच्छी मात्रा होती है जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को स्वस्थ रखने में सक्षम होती है। यह प्रोटीन, विटामिन ए, कैल्शियम, विटामिन डी, और जिंक के साथ भी समृद्ध है। फलों या नट्स और शहद के साथ सादा दही आपके स्वास्थ्य के लिए पौष्टिक होता है।

गंभीर सर्दी और फ्लू से ग्रसित होने की संभावना कम कर देता है: अपने नियमित भोजन में दही लेने से सर्दी या फ्लू से ग्रसित होने की संभावना कम हो जाएगी।

आंत में हानिकारक बैक्टीरिया मारता है: दही में मौजूद प्रोबियोटिक बैक्टीरिया आंत में छिपे हानिकारक बैक्टीरिया को मारता है और शरीर की पाचन क्रिया में सुधार करता है।

हड्डी के स्वास्थ्य में सुधार: दही में कैल्शियम और विटामिन डी सामग्री शरीर की हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ बनाती है। कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाता है और विटामिन डी कैल्शियम अवशोषण में सुधार करती है और रोगों के खिलाफ शरीर की प्राकृतिक रक्षा प्रणाली को मजबूत करती है।

5. लहसुन

लहसुन को स्वास्थ्य के लिए एक राम-बाण के रूप में माना जाता है। यह न केवल भोजन को सजीवता देने के लिए प्रसिद्ध है बल्कि आपके आहार में शामिल होने वाला एक महत्वपूर्ण तत्व भी है। यह सल्फर, कैल्शियम, पोटेशियम के साथ अत्यधिक समृद्ध भी है और इसमें एंटीवायरल और जीवाणुरोधी गुण हैं जो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार करने के लिए बहुत फायदेमंद साबित होते हैं।

रक्तचाप कम करता है: लहसुन को बिना तोड़े एक साथ जुड़ा हुआ खाने से यह रक्त कोशिकाओं के मुक्त संचार में मदद करता है। एस्पिरिन (दर्दनिवारक औषधि) की तुलना में अधिक लहसुन खाएँ।

सर्दी और फ्लू का इलाज करता है: लहसुन सर्दी और फ्लू के कारण शरीर में प्रवेश करने वाले रोगाणुओं को मारने में मदद करता है।

रक्तवसा को कम करता है: लहसुन की एंटीऑक्सीडेंट विशेषताएँ धमनियों की परत को नुकसान से बचाने के लिए रक्तवसा को कम कर देती हैं।

6. ब्रोकली

प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत बनाने के लिए ब्रोकली एक अद्भुत उपचार है। यह स्वास्थ्यवर्धक सब्जी विटामिन ए, सी, और ई, आयरन, एंटी-ऑक्सिडेंट्स, फाइबर और खनिजों से परिपूर्ण होती है।

कैंसर से लड़ती है: ब्रोकली एंटी-इन्फ्लैमटॉरी यौगिक आइसोथियोसाइनेट्स की मौजूदगी के कारण फेफड़े, पेट और कोलन में कैंसर के खतरे को कम कर देती है।

रक्तवसा को कम करती है: यह सब्जी घुलनशील फाइबर से समृद्ध होती है जो रक्तवसा के स्तर को कम करती है।

हृदय रोग के खतरे को कम करती है: जैसे ब्रोकली शरीर में रक्तवसा को कम करती है, वैसे ही यह हृदय रोगों, उच्च रक्तचाप और स्ट्रोक के खतरे को भी कम करने में सक्षम होती है।

हड्डियों को मजबूत बनाती है: इस सब्जी में उच्च ’विटामिन के’ की सामग्री कैल्शियम अवशोषण की दर को सक्रिय करती है। यह हड्डियों और दांतों को भी मजबूत बनाती है।

वजन घटाने में मदद करती है: ब्रोकली कैलोरी में कम है और फाइबर में उच्च है जो इस सब्जी को वजन घटाने के लिए एक आदर्श भोजन बनाते हैं। यह आपके पेट को लंबे समय तक भरा हुआ रखेगा और अधिक खाने की आदतों को भी नियंत्रित करने में मदद करेगा।

7. हल्दी

अपने उपचार गुणों के कारण हल्दी निस्संदेह एक प्रतिरक्षा को बढ़ावा देती है। इस सुवर्ण पीले मसाले में एंटी-ऑक्सिडेंट्स, एंटी-ऑक्सीडेंट, और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं जो बैक्टीरिया और वायरस प्रवण रोगों के खिलाफ लड़ते हैं। हल्दी में कर्क्यूमिन की उपस्थिति हमारे शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देती है और इसे स्वयं की रक्षा करने और इसकी पूर्ण क्षमता में काम करने की अनुमति देती है।

सफेद रक्त कोशिकाओं की गिनती में सुधार करती है: हल्दी शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में सुधार करती है। ये सफेद रक्त कोशिकाएँ शरीर को वायरस, बैक्टीरिया और अन्य विकारों के विरूद्ध लड़ने में मदद करती हैं।

चयापचय को बढ़ावा देती है: हल्दी एक गर्म मसाला होने के कारण, चयापचय को प्रोत्साहित करती है और चयापचय रोगों के खिलाफ लड़ने में मदद करती है।

शरीर से विषहरण करती हैहल्दी आहार में शामिल करने के लिए एक अच्छा स्रोत है क्योंकि यह यकृत से सभी विषाक्त पदार्थों को हटाकर इसे शुद्ध करती है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट यकृत, गुर्दे, और पूरी प्रतिरक्षा प्रणाली की कार्यशील क्षमता को बढ़ावा देता है।

 

Summary
Article Name
प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए खाद्य पदार्थ
Author
Description
यहाँ प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए खाद्य पदार्थों के अत्यधिक फायदे जानें।