Home / Imo / इस स्वतंत्रता दिवस पर अच्छे नागरिक कैसे बनें

इस स्वतंत्रता दिवस पर अच्छे नागरिक कैसे बनें

August 13, 2018
by


Please login to rate

इस स्वतंत्रता दिवस पर अच्छे नागरिक कैसे बनें

अरस्तू ने एक बार कहा था, “एक अच्छा आदमी और एक अच्छा नागरिक होना हमेशा एक ही बात नहीं है”। ये कथन अस्पष्ट हैः जो तोड़ा-मरोड़ा और कई बार फिर से बनाया गया है।

15 अगस्त 1947 का वह दिन था जब इंडिया-भारत-हिंदुस्तान आधिकारिक तौर पर एक स्वतंत्र राष्ट्र और उसी के साथ दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र बन गया। लोकतंत्र शासन वह शासन है जिसमें शासन जनता का, जनता के लिए और जनता द्वारा हो, अगर हमारे अंदर हम की भावना नहीं हैं तो स्वाभाविक रूप से इसके पूर्ण होने में गुंजाइश बनी रहती है। नागरिकों के रूप में, राष्ट्रीय विरासत का निर्माण करने के लिए हमारी शक्ति में सबकुछ करने की हमारी अंतर्निहित प्राथमिकता हमारा मुख्य कर्तव्य बन जाती है। फिर ऐसा क्या है, जो एक अच्छे नागरिक को बुरा परिभाषित करता है?

राष्ट्रवाद – एक सही परिभाषा

एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र, भारत सदियों से कई धर्मों, संस्कृतियों, जीवन पद्धतियों का वास-स्थान रहा है। इसलिए यह स्वीकृति अनुलाभ स्थिति की तरह लगती है। दुर्भाग्यवश, पूर्व सहिष्णुता के साथ मिलकर, ऐसा कुछ नहीं है जिस पर हम नागरिक वर्तमान समय में इन चीजों पर गर्व कर सकें। भारत में सांप्रदायिक, धार्मिक हिंसा, असहिष्णुता हमेशा उच्च रहती है। शुरूआती अगस्त 2018 में, चार डॉक्टरों को कथित तौर पर एक फ्लैट खाली करने के लिए कहा गया था। जिसका कारण उनका धर्म था।

भारतीयों के रूप में, हमें यह सीखने की जरूरत है कि लोग राष्ट्रवाद की क्या परिभाषाएं हमें दे सकते हैं जबकि राष्ट्रवाद का तात्पर्य अपने देश के प्रति एकजुट होना है। सब कुछ ध्यान में रखते हुए, हम सब एक ही देश के नागरिक हैं चाहे वह किसी अल्पसंख्यक या बहुसंख्यक धर्म से संबंध रखते हो। आखिरकार, अपनी धार्मिक जरूरतों के मुताबिक राष्ट्रवाद को तोड़ना-मरोड़ना देशभक्ति नहीं है।

आप क्या प्रतिनिधित्व करते हैं

यदि आप बहुत ही कम अवधि में अपने आप को निम्न महसूस करते है तो स्वयं को एक भारतीय कहना किसी काम नहीं है। कोई भी देश पूर्ण रूप से सही नहीं है, कुछ राष्ट्र दूसरों की तुलना में अधिक कमजोर है। लेकिन यह वे लोग हैं जो एक राष्ट्र में भूमिका निभाते हैं और उनका निर्माण करते हैं। आप अपने देश के भीतर और बाहर किस तरीके का व्यवहार करते हैं इसी व्यवहार द्वारा दुनिया भारत को देखेगी। सुनिश्चित करें कि अपनी एक अच्छी छवि बनाएं।

आप क्या सलाह देते हैं : देशभक्ति

अन्य राष्ट्रों से नफरत करना उन्हें अमानवीय बनाती है, जो कि देशभक्ति नहीं है। स्वतंत्रता दिवस पर अपने सभी सोशल मीडिया एकाउंट में तिरंगे झंडे को लगाना ही देशभक्ति नहीं है। गर्व के साथ एक पल के लिए तिरंगा फहराना और फिर अगले ही पल सड़कों पर उसे कूड़ेदान में डालना देशभक्ति नहीं कहलाता है। समय के साथ, लोगों का विशेषण भी बदलता रहता हैं। किसी के द्वारा देश के लिए सशक्त समर्थन करने को देशभक्ति कहा जाता है। हालांकि, यह स्वचालित रूप से किसी विचारहीन चीजों का अनुसरण नहीं करता है। जब भी आपको लगता है कि इस प्रणाली में कोई दरार पड़ रही है, तो आप इसे इंगित कर सकते हैं, आप इसे सही करने का भी काम कर सकते हैं। यह सुनिश्चित करना कि आपका देश अपने सर्वोत्तम संभव स्तर पर है, जो एक निर्णायक महत्व है।

इसलिए, जब हम स्वतंत्रता दिवस के लिए तैयार होते हैं, तो उन लोगों को याद रखें जिन्होंने 15 अगस्त का जश्न मनाने के लिए अपने प्राणों का बलिदान कर दिया। उन्होंने आपको अपनी नागरिकता का अभ्यास करने का अधिकार, खुली हवा में सांस लेने का अधिकार दिया है। इस जश्न को बेहतर ढंग से मनाएं । स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!

 

Summary
Article Name
इस स्वतंत्रता दिवस पर अच्छे नागरिक कैसे बनें?
Author
Description
स्वतंत्रता दिवस- एक ऐसा अवसर जिसे हम वर्ष की समाप्ति के अंत में बहुत उत्साह के साथ सालाना मनाते हैं, चलो सीखें कि इसकी कैसे सराहना की जाए और कैसे समझा जाए।