Home / Bollywood / 2018 की सर्वश्रेष्ठ बॉलीवुड फिल्में

2018 की सर्वश्रेष्ठ बॉलीवुड फिल्में

December 19, 2018


Please login to rate

2018 की सर्वश्रेष्ठ बॉलीवुड फिल्में

हम भारतीय सबसे ज्यादा मनोरंजन से प्यार करते हैं, यह बात एकदम सही है। हॉलीवुड और बॉलीवुड दोनों प्राचीन काल से अस्तित्व में हैं। हालांकि भारत में, कोई भी कह सकता है कि फिल्में केवल समय गुजारने का जरिया नहीं बल्कि हमारे लिए यह एक धर्म की तरह हैं।

हम सिनेमा के साथ बढ़ते हैं, हम इसके साथ रोते और हंसते हैं और हम इसके साथ जीवन जीते हैं। इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि 2-3 घंटे की फिल्म हमारे लिए बहुत मायने रखती है। यह एक अनुभव है। तो जैसा कि वर्ष 2018 समापन की ओर है और हम एक नई शुरुआत की प्रतीक्षा कर रहे हैं। तो आइए हम आपको अपनी विशेष क्ययूरेटेड सूची से अवगत कराते हैं।

2018 की सर्वश्रेष्ठ फिल्में किसी विशेष क्रम में नहीं –

अंधाधुन

2018 प्रतिभाशाली आयुष्मान खुराना के लिये अच्छा रहा है। इन्होंने एक के बाद एक ब्लाकबस्टर फिल्में दी हैं चाहे वह अंधाधुन हो या दिल धड़काने वाली फिल्म ‘बधाई हो’।

अंधाधुन फिल्म एक अंधे पियानोवादक आकाश के (खुराना द्वारा निभाई गई भूमिका) जीवन के ईर्द-गिर्द घूमती है, जो एक अपराध का गवाह है। आकाश की एकमात्र समस्या यह होती है कि वह जो कुछ भी हुआ उसे देख नही पाता है।

यह फिल्म अपनी तरह की एक आश्चर्यजनक फिल्म है जो आपको 2 घंटे और 30 मिनट तक अपनी सीट पर बैठे रहने के लिए मजबूर करती है। यह फिल्म विनोदी है, गहन है और एक रहस्य की उत्कृष्ट कृति है इसका मतलब एक ही फिल्म में सब कुछ है। अंधाधुन एक उत्तम प्रमाण है कि हमारा सिनेमा कहाँ से कहाँ आ गया है। वे दिन गए जब ब्लाइंड रोमांस दर्शकों को लुभाता था।

अब, दर्शक नये प्रयोग देखना चाहते हैं, जो रचनात्मक हो। फिल्म सभी लोगों द्वारा अच्छी तरह से पसंद की गई है, कई लोगों ने इसे 2018 की सर्वर्श्रेष्ठ फिल्म मानी है।

संजू

संजय दत्त के जीवन पर आधारित, यह फिल्म शुरुआत से आखिरी तक विवादों में घिरी रही है। हालांकि ये विवाद इसे ब्लॉकबस्टर बनने से रोक नहीं पाए और सभी लोगों के लिए यह फिल्म मनोरंजन का एक पूर्ण पैकेज बनी, विशेष रूप से संजू के प्रशंसकों के लिए।

संजय दत्त का चरित्र रणवीर कपूर द्वारा निभाया गया है, अभिनेता ने एक बार फिर से साबित कर दिया कि उन्हें बालीवुड के बेहतरीन अभिनेताओं में से एक क्यों माना जाता है। अभिनय निर्विवाद है, प्रस्तुति अच्छी तरह से सोच कर की गई है। कपूर का रूपांतर इतना वास्तविक है कि फिल्म के कुछ दृश्यों में आपको यह विश्वास हो जाता है कि फिल्म में संजय दत्त स्वयं अभिनय कर रहें हैं। सबसे अच्छा उदाहरण मुन्ना भाई एमबीबीएस फिल्म का है।

चाहे आप संजय दत्त को या इस फिल्म को पसंद करें या न करें, लेकिन आपको यह स्वीकार करना होगा कि यह फिल्म एक पंच पैक्ड है। इसमें कोई संदेह नही है कि यह फिल्म 2018 की सबसे चर्चित फिल्मों में से एक है।

राजी

जैसा की हमने पहले ही कहा है कि भारतीय सिनेमा ने पिछले कुछ वर्षों में कुछ बड़ी छलांग लगाई है। अन्यथा बॉलीवुड जासूस थ्रिलर की कल्पना करना भी संभव नही था, सही कहा ना? और भारतीय जासूस की भूमिका भी अलिया भट्ट द्वारा निभाई गई है।

फिल्म सहमत खान के जीवन पर केंद्रित है, जो एक अंडरकवर रॉ एजेंट (रिसर्च एंड एनालिसिस विंग) हैं। एक ऑपरेशन को पूरा करने के लिए, वह सिर्फ जानकारी इकट्ठा करने के लिए एक पाकिस्तानी परिवार में शादी कर लेती है। अब तक फिल्म ठीक-ठाक दिखती है? खैर, जैसे ही फिल्म आगे की ओर बढ़ती है इसकी शैली और रहस्यमय हो जाती है।

फिल्म दर्शकों के दिलों पर छा गई है, यहां तक कि संगीत भी लोगों के बीच लोकप्रिय है। निर्देशक मेघना गुलजार द्वारा निर्देशित यह फिल्म बहुत ही बेहतरीन है निश्चित रूप से 2019 में लोग इस के बारे में प्रमुखता से बात करेंगे।

बधाई हो

कुछ हल्के-फुल्के मनोरंजन का समय है? हमारे पास आपके लिए फिल्म ‘बधाई हो’ है। अक्टूबर महीने के मध्य में रिलीज हुई, यह फिल्म अभी भी देश में कई थिएटर स्क्रीनों पर चल रही है। और क्यों नहीं? हालांकि हम कॉमेडी फिल्मों को “हल्के मे” लेते हैं, वे लोहे के चने चबाने की तरह होती हैं विशेष रूप से आज के युग में जहां अधिकांश “कॉमेडी” फिल्में नीरस हो जाती हैं।

फिल्म ‘बधाई हो’ हमारे भारतीय समाज के भीतर एक मूल समस्या को, हास्यास्पद तरीके से, के द्वारा दर्शाती है। फिल्म में, 25 वर्षीय व्यक्ति नकुल (आयुष्मान खुराना) को पता चलता है कि उनकी मां गर्भवती है। इसके बाद जाहिर सी बात है हमें कैसा लगेगा, वह शर्मिंदा महसूस करता है और यहां तक कि समाज उसके माता-पिता का मजाक उडाना शुरू कर देता है। यह सराहनीय है कि कैसे सभी को स्क्रीन पर लाइव लाया जाता है बिना किसी प्रतिक्रिया के बारे सोचे।

सभी अभिनेत्री और अभिनेताओं ने अपनी भूमिका को बाखूबी निभाया है और यही सबसे अच्छी बात है। यह क्लिची कॉमेडी से नहीं बल्कि वास्तविक कॉमेडी से भरपूर है।

मुल्क

स्क्रीन पर संवेदनशील मामलों को चित्रित करना बहुत मुश्किल होता है, और वह भी मूलतत्त्व को खोये बिना या यहां तक ​​कि किसी भी समुदायों को चोट पहुंचाए बिना। अक्सर, जब सिल्वर स्क्रीन पर किसी भी सामजिक आवाज को उठाया जाता है तो कुछ या अन्य महत्वपूर्ण पहलू उसे दबाने की कोशिशें करते हैं। यही वह जगह है जहां एक खूबसूरत मुल्क का निर्माण होता है।

यह फिल्म भारत में हिंदू और मुस्लिम समुदाय के बीच मनमुटाव को दिखाती है, एक मनमुटाव जिसे हम अपना बुरा समय आने तक महसूस नहीं कर पाते। यह फिल्म निर्णय, अनुमानित रूढ़िवाद और संदेह के सभी प्रसिद्ध विचारों को दिखाती है। यह फिल्म सभी जगह पर इस संदेश को फैलाने के लिए एक बहुत नए कोण से सांप्रदायिक अंतराल को पकड़ने का प्रबंधन करती है।

21 वीं शताब्दी में, चाहे 2017 या 2018 हो, हमारे अंदर इस तरह की फिल्मों को देखने की लालसा जागती है। ऐसी फिल्में हमें समाज के अराजक तत्वों से जागरुक कराती हैं।

2018 बॉलीवुड के लिए, साथ ही हमारे लिए अभी तक एक और इवेंटफुल वर्ष रहा है, कई अच्छी फिल्में बनाई गईं और इसमें बहुत सी हमारी पसंद की थीं। कौन सी फिल्में आपको पसंद आई किन फिल्मों ने आपको किया निराश? आप क्या सोंचते हैं? हमें अपनी राय बताने के लिए नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करिए!

Summary
Article Name
2018 की सर्वश्रेष्ठ बॉलीवुड फिल्में
Author
Description
जैसा कि 2018 समाप्त होने वाला है, अपनी यादों में वापस जाना और अपनी सर्वोत्तम यादों और क्षणों को याद करना स्वाभाविक है। बॉलीवुड के लिए भी, यह साल यादगार रहा है। आइए हम अपनी बीत चुकी बातों को याद करते हुए इस साल की शीर्ष 5 फिल्मों को देखें।