Home / admin
सुकन्या समृद्धि खाता योजना

भारत में हर लड़की के लिए पैसे बचाना है। इस विचार पर दोबारा भरोसा जगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  22 जनवरी, 2015 को ‘सुकन्या समृद्धि अकाउंट योजना’ शुरू की। यह लघु बचत योजना बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान का हिस्सा है। इसे घरेलू बचत का प्रतिशत बढ़ाने के लिए सरकार की एक पहल भी माना जा रहा है, जो 2008 में जीडीपी का 38 प्रतिशत थी, जबकि 2013 में घटकर 30 प्रतिशत रह गई। यह योजना [...]

एनडीए सरकार के एजेंडे में जनता के लिए वित्तीय समावेशन, सामाजिक सुरक्षा, और कम लागत वाले लाभ देना प्रमुखता से है। जब से नरेंद्र मोदी सरकार केंद्र में सत्तारूढ़ हुई है, प्रधानमंत्री मोदी, वित्तमंत्री जेटली और कैबिनेट ने आम आदमी की वित्तीय सुरक्षा के लिए नई योजनाएं लागू करने के लिए अथक प्रयास किए हैं। सामाजिक सुरक्षा हासिल करने की दिशा में पहला कदम था प्रधानमंत्री जन धन योजना (पीएमजेडीवाय)। पहले चरण को बड़ी सफलता बताया [...]

भारत के सबसे साफ और सबसे गंदे रेलवे स्टेशन

भारत में “बेयास” रेलवे स्टेशन को सबसे साफ घोषित किया गया है। इसके बाद खम्मम और विशाखापट्टनम को सबसे साफ स्टेशन माना गया है। भारतीय रेलवे द्वारा पूरे भारत के 407 स्टेशनों के सर्वेक्षण के बाद यह परिणाम घोषित किया गया। इसमें भारत के सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशनों को शामिल किया गया जिसमें से 75 स्टेशनों को ए-1 तथा 332 स्टेशनों को ए श्रेणी प्रदान की गयी। समस्त श्रेणियों में भारत के जोगबनी, मधुबनी और सागौली [...]

भारत में महिला उद्यमी

भारत वर्कफोर्स में महिलाओं की भागीदारी के निचले स्तर की वजह से बदनाम है। 2013 की एक रिपोर्ट के मुताबिक सिर्फ 32 प्रतिशत भारतीय महिलाओं के पास घर से बाहर का कोई काम है। यहां तक कि स्टार्ट अप का जो माहौल है, वह भी महिलाओं के लिए बहुत अच्छा नहीं है। योरस्टोरी की एक हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, 670 स्टार्टअप को इस वर्ष आर्थिक मदद दी गई है। इसमें भी सिर्फ तीन प्रतिशत महिलाओं [...]

कला स्नातक के बाद नौकरी वाले पाठ्यक्रम

इस तथ्य के बारे में कोई संदेह नहीं है कि आजकल नौकरियों के लिए बहुत मुश्किल हो रही है। केवल स्नातक की डिग्री पाना पर्याप्त नहीं है, जब पूरा विश्व प्रासंगिक नौकरी पाने के लिए व्यवसायिक पाठ्यक्रमों के मामले में आगे बढ़ रहा हो। जब आप अपने स्नातक के दौरान कला या मानविकी लेते हैं, तब शिक्षा, मीडिया, वेश-भूषा, पर्यटन, जीवन शैली, आतिथ्य, सरकारी और निजी क्षेत्रों आदि में रोजगार पाने की अधिक उम्मीद की [...]

भारत विभिन्न प्रकार के जानवरों, पक्षियों और मछलियों का आवास स्थल है जिसमें बकरी, मुर्गी, गाय, भैंस, सूअर आदि जैसे कुछ महत्वपूर्ण कृषि पशु भी शामिल हैं। भारत वन्य जीवों जैसे कि बंगाल टाइगर, हिरण, भेड़िया, अजगर, भारतीय शेर, भालू, सांप, बंदर, कई प्रकार के जंगली बैल, एशियाई हाथी और मृग प्रजातियों वाला देश है। भारत दुनिया के सत्रह विशाल विविधता वाले देशों में से एक है। भारत सहित, यह सत्रह बड़े विविध देश, दुनिया के जैव [...]

जीएसटी बिल क्या है कई वर्षों तक चली बहस चली। गुड्स और सर्विस टैक्स या वस्तु और सेवा कर या जीएसटी के हर पहलू पर चर्चा हुई। पक्ष-विपक्ष में कई तरह के तर्क दिए गए। आखिरकार 3 अगस्त 2016 को जीएसटी से जुड़े संविधान (संशोधन) विधेयक ने राज्यसभा की बाधा भी पार कर ली। इसे भारत में अब तक के सबसे बड़े आर्थिक सुधार के तौर पर देखा जा रहा है। एक देश, एक टैक्स [...]

क्या भारत में अब भी आरक्षण या कोटा प्रणाली की आवश्यकता है? भारत में अब भी आरक्षण या कोटा प्रणाली की आवश्यकता है या नहीं यह देश में एक विवाद का विषय है। भारतीय संविधान में इसके लिए कानून भी है जिसके अनुसारः वंचित वर्ग को सामान्य वर्ग की श्रेणी के बराबर लाने के लिए आरक्षण लाया गया। यहां कई प्रकार के आरक्षण हैं, जैसे महिलाओं के लिए आरक्षण, विकलांगों के लिए आरक्षण, आर्थिक रुप [...]

कांग्रेस शासन के तहत भारत में घोटाले

कांग्रेस के नेतृत्व में कई मोर्चों पर यूपीए सरकार की आलोचना की जाती है;  इनमें से सबसे अधिक बातें उनके शासन के तहत किए गए घोटालों, भ्रष्टाचारों और रिश्वतखोरी के न खत्म होने वाली सूची के बारे में है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को शिक्षित भारतीयों की सरकार में एक बड़ा हिस्सा देने और भारत के कल्याण के लिए स्वतंत्रता संग्राम में सक्रिय और समेकित भाग लेने के लिए स्थापित किया गया था। लेकिन कब और [...]

भारत में लोकतंत्र सफल है या विफल? भारत भले ही दुनिया की सबसे पुरानी सभ्यता हो पर राष्ट्र के तौर पर काफी युवा है। भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्रिक देश है। भारत में लोकतंत्र तब आया जब 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ। यह संविधान विश्व का सबसे लंबा लिखित संविधान है। भारत में लोकतंत्र को एक मशीन की तरह आसानी से चलना चाहिए लेकिन कुछ हानिकारक तत्व इस काम में [...]