Home / Bollywood / बॉलीवुड राउंड-अप 2018 – 5 मिनट में इंडस्ट्री की झलक

बॉलीवुड राउंड-अप 2018 – 5 मिनट में इंडस्ट्री की झलक

January 4, 2019


Please login to rate

बॉलीवुड 2018 की पूरी झलक फटाफट

नये साल का आगमन हो चुका है इसलिए हमारे द्वारा संजोई गईं पुरानी यादों को एक बार तरोताजा करना तो बनता है। आइए मनोरंजन की दुनिया के लिए कुछ समय निकालें और 2018 की कुछ यादों के साथ इस वर्ष को विदा करें। यहाँ हम सभी प्रमुख घटनाक्रमों, नुकसान और सफलताओं को कवर करते हुए टिनसेल शहर के उतार-चढ़ाव वाले एक रोमांचकारी मनोरंजन के बारे में जानते हैं।

आइए समानता के अधिकार के बंद दरवाजों को खोलते हुए देश के विकास की दिशा में एक मजबूत संदेश वाली फिल्मों से हम शुरुआत करें।

और इसके लिए एक बड़े स्टार कास्ट को चुनना एक रास्ता है। हालांकि पैडमैन एक व्यावसायिक फिल्म नहीं बनी, लेकिन इसने बॉक्स ऑफिस पर ताबड़तोड़ कमाई की। एक ऐसा देश जहां स्वच्छता एक बड़ी समस्या बनी हुई है, हमें इस तरह की फिल्म की जरूरत थी। एक है मुल्क जो आपको हिंदू-केंद्रित समाज में एक मुस्लिम परिवार की सैर कराएगी। या, यदि आप एक ऐसी फिल्म चाहते हैं, जो महिलाओं के बॉडी शेमिंग के मुद्दे का सामना करती है, तो वह है इस वर्ष की फन्ने खान। और, यदि आपको लगता है कि छात्र के जीवन पर आधारित फिल्म तारे ज़मीन पर के बाद एक और कदम उठाने की ज़रूरत है, तो हमारे पास हिचकी मूवी है, जो बताती है कि छात्र अपने स्कूली जीवन के दौरान होने वाली कठिन परीक्षाओं से कैसे गुजरते हैं। 2018 में आपके लिए यह सब कुछ था।

हमारे दिल के तार हिला देने वाली फिल्में

इस फिल्म में हमारे अंदर की दृढ़ भावनाओं को उत्तेजित करने के लिए बहुत कुछ है वह भी केवल 110 मिनट के अंतराल में। लेकिन, यदि कोई जानता हो कि यह कैसे किया जाना है तो इसमें अधिक समय नहीं लगता। शूजित सिरकार ने हमें यही चीज अपनी प्रतिभाशाली आर्टवर्क अक्टूबर मूवी के माध्यम से महसूस कराया है। नायक द्वारा अदा की गई सुंदर भावनात्मक यात्रा को पर्दे पर बड़ी खूबसूरती के साथ उतारा गया है। इसमें बहुत कुछ न कहकर भी बहुत कुछ कहा गया है। यही कारण है कि अप्रैल 2018 में इसकी रिलीज को लेकर लोगों में बहुत उत्साह था। हमारा दिल भावनाओं में डूब गया।

नथिंग इज टू बोल्ड

जहां कुछ चलचित्र आपकी आंखों को नम करते हैं, तो वहीं कुछ आपको अपने कम्फर्ट जोन से भी बाहर निकालते हैं और आपको दिखाते हैं कि 21वीं सदी का ऑन-स्क्रीन ड्रामा कितना बोल्ड हो सकता है। जबकि हेट स्टोरी 4 ने कामुकता को आगे बढ़ाया, वीरे दी वेडिंग ने भी ऐसा अंडरकवर और सूक्ष्म तरीके से ही किया। वीरे दी वेडिंग फिल्म में दिल्ली की लड़कियों के बारे में दिखाया है कि वे अपनी जिंदगी अपने तरीके से जीती हैं।

सुपरहिट

इस साल कुछ बड़े रिकार्ड टूटे जो इससे पहले कभी नहीं टूटे थे और जिनकी झंकार अभी तक मौजूद हैं। इस साल सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्मों की सूची में संजू शीर्ष पर रही जो जल्द ही पाँच सौ करोड़ के क्लब में शामिल हो गई और दूसरे स्थान पद्मावत रही है। इस फिल्म में प्राचीन भारत के राजशी प्यार को दर्शया गया है। भंसाली का अच्छा निर्देशन और कलाकारों के समर्पण के साथ, यह फिल्म इस समय की सबसे बेहतर फिल्म थी। संजू के बारे में बात करें तो यह संजय दत्त के जीवन पर आधारित एक शक्तिशाली कहानी थी और इसमें रणबीर कपूर ने शानदार अभिनय किया। हमें जानते है कि यह भी हिट फिल्मों में से एक थी। पैड मैन स्पष्ट कारणों के लिए एक और सुपर-डुपर हिट थी। अगली कड़ी में एक और फिल्म है राजी, जिसने बॉक्स ऑफिस कलेक्शन पर बम्पर कमाई की। यह एक जासूसी नाटक था, वह भी एक भारतीय और पाकिस्तानी के बीच।..दर्शकों में उत्सुकता थी। और अंत में, बधाई हो एक कॉमेडी फिल्म थी जहां एक 25 साल का बेटा अपनी मां की गर्भावस्था से हतप्रभ है। यह मनोरंजन से भरपूर फिल्म थी। इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि इस फिल्म ने 220 करोड़ से अधिक की कमाई की।

फ्लॉप

हालांकि कुछ फिल्मों के बारे में पहले से ही उनके सफल होने के कयास लगाए गए थे लेकिन ऐसा नहीं हुआ और वो बुरी तरह से फ्लॉप हुई। इस साल आंखों को चौंका देने वाला खुलासा हुआ है। जिसमें पहला और सबसे महत्वपूर्ण ठग्स ऑफ हिंदोस्तान था। इस फिल्म की कमाई के बारे में तो छोड़िये, फिल्म अपनी बजट की लागत को भी निकला नहीं सकी। हम आमिर की फिल्म से ऐसी उम्मीद नहीं करते। निश्चित रूप से तब नहीं जब फिल्म यशराज के बैनर तले बनी हो और इसमें अमिताभ बच्चन जैसे बड़े कलाकार हो। अभी हाल ही में शाहरूख की फिल्म जीरो आई थी। जिसे 200 करोड़ रुपयें की लागत के साथ बनाया गया था और इसमें यह संदेह है कि यह अपनी लागत का आधा हिस्सा दे पाएगा। इस साल एसआरके की एक ही प्रमुख फिल्म आई थी और जो अच्छा प्रर्दशन करने में असफल रही।

कुछ सुखद आश्चर्य

अब एक अच्छे पक्ष को देखते हुए हमारे पास कुछ सुखद आश्चर्य भी हैं। कुछ जो ब्लॉकबस्टर पर हिट हुई, जैसे सोनू के टीटू की स्वीटी। यह फिल्म न तो बड़े बजट की थी और न ही इसमें कोई अनुभवी कलाकार था, इसके अलावा फिल्म का कथानक भी मजबूत नहीं था। बाधाओं ने इसके पक्ष में काम किया और फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर 150 करोड़ रुपये की करोबार के साथ अपनी लागत से तीन गुना ज्यादा की कमाई की। 100 करोड़ के क्लब में शामिल होने पर फिल्म को उद्योग के हॉल ऑफ फेम में एक स्थान प्राप्त होता है और इस फिल्म ने सीधे तौर वो स्थान प्राप्त किया। अगली आश्चर्यजनक फिल्म स्त्री थी। यह केवल हिट ही नहीं बल्कि सुपरहिट रही। यह इस साल की बॉलीवुड की दसवीं सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म भी है। सबसे पहले बात, हॉरर फिल्म को सेलिंग मुश्किल है। दूसरी बात, हॉरर-कॉमेडी को सेलिंग और भी मुश्किल है, इस मुश्किल अवधारणा के आस-पास यह एक अकेली फिल्म है। इस फिल्म ने उम्मीद से ज्यादा सफलता प्राप्त की और इस शौली के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। अब एक नई थीम  को पाकर हम खुश है जैसा कि अब हम जानते हैं कि इस पर काम किया जा सकता है।

व्यक्ति जन्म ले सकता है और मर सकता है लेकिन शो हमेशा चलते रहते हैं

जहां श्रीदेवी की तरह कुछ और भी लोग हमेशा के लिए सिर्फ अपनी यादें छोड़ गए, वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो हमारे साथ जुड़ गए हैं। इस साल नए हुनरमंदो ने शुरूआत की। शुरूआत श्रीदेवी की बेटी जान्हवी कपूर से हुई जिन्होंने इस साल धड़क से डेब्यू किया और उन्हें शुरुआत से ही समीक्षकों की प्रशंसा मिली। इसके बाद मौनी रॉय हैं जो टीवी सीरियल नागिन और अपने मोहक आकर्षण के लिए जानी जाती हैं। इन्हें गोल्ड में अक्षय कुमार के साथ कास्ट किया गया था। काफी अच्छी शुरुआत इस बंगाली ने की थी। इसके बाद सारा अली खान आईं, जो एक समृद्ध पृष्ठभूमि से तालुक रखती हैं। वह पटौदी खानदान से हैं सारा, सैफ अली खान की बेटी और शर्मिला टैगोर की पोती हैं। केदारनाथ भले ही एक लहर उत्पन न कर पाई हो लेकिन निश्चित तौर पर यह अगली सुपरस्टार है। इस बीते साल आपको कौन सी फिल्म सबसे अच्छी लगी? हमारे साथ अपने पसंदीदा साझा करें।

Summary
Article Name
बॉलीवुड राउंड-अप 2018 - 5 मिनट में इंडस्ट्री की झलक
Author
Description
नये साल का आगमन हो चुका है इसलिए हमारे द्वारा संजोई गईं पुरानी यादों को एक बार तरोताजा करना तो बनता है। आइए मनोरंजन की दुनिया के लिए कुछ समय निकालें और 2018 की कुछ यादों के साथ इस वर्ष को विदा करें।