Home / society / 2018 की सफल महिलाएं

2018 की सफल महिलाएं

January 2, 2019


Please login to rate

2018 की सफल महिलाएं

नए साल का स्वागत करने के साथ हमारी कुछ पुरानी यादें हमारे जहन में आती हैं। निश्चित रूप से वर्ष 2018 काफी उतार-चढ़ाव भरा रहा, जिसमें कुछ का उतार-चढ़ाव काफी यादगार हैं।

हमारी वंडर वुमन ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि एक कदम पीछे रहने के दिन चले गए हैं। कई खूबसूरत महिलाओं ने यह दिखा दिया है कि अपने हुनर के साथ आगे बढ़ना कितना शानदार होता है, जो देश को गौरवान्वित कर रहा है। जबकि सूची लंबी है, हमने छह महिलाओं के नाम दिए हैं जिन्होंने 2018 में हम सभी भारतीयों को गौरवान्वित किया है। सूची निम्न है।

जस्टिस इंदु मल्होत्रा

2018 समाप्ति की ओर है, देश में शायद ही कोई ऐसा हो, जिसने इंदु मल्होत्रा का नाम न सुना हो। अप्रैल 2018 में नियुक्त, वह सर्वोच्च न्यायालय में पहली महिला न्यायाधीश बनी। 2007 में, उन्हें सुप्रीम कोर्ट में एक वरिष्ठ अधिवक्ता नामित किया गया था, और यह पदवीं प्राप्त करने वाली वह दूसरी महिला बनीं।

जस्टिस इंदु मल्होत्रा सितंबर 2018 में धारा 377 के कुछ मानकों को समाप्त करते हुए, ऐतिहासिक फैसले को सुनाने वाली सर्वोच्च न्यायालय की पीठ का हिस्सा थीं।

फ्लाइट लेफ्टिनेंट अवनी चतुर्वेदी

2016 में, अवनी चतुर्वेदी साथ ही मोहना सिंह और भावना कंठ ने भारत की पहली महिला लड़ाकू पायलटों में से एक बनकर इतिहास रच दिया।

अवनी चतुर्वेदी को इस वर्ष फ़्लाइट लेफ़्टिनेंट के पद पर पदोन्नत किया गया था, इससे पहले वर्ष 2016 में अवनी को लड़ाकू स्क्वाड्रन में शामिल किया गया था। फरवरी 2018 में, अवनी मिग-21 फाइटर प्लेन उड़ाने वाली देश की पहली महिला बन गईं हैं। अपने इस लक्ष्य की रफ्तार को कम न करते हुए युवा पायलट को यकीन है कि आगे कई और मील के पत्थर हैं।

मैरीकॉम

पिछले कुछ समय से भारत की स्टार बेटी होने के नाते, मैरी कॉम ने इस साल एक बार फिर से साबित कर दिया है कि क्यों उन्हें “सबसे बेहतर” माना जाता है।

2018 के राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के बाद उसी वर्ष अक्टूबर में विश्व चैंपियनशिप का खिताब हासिल किया। ऐसा करते हुए, 35 वर्षीय मुक्केबाज मैरी कॉम ने 6 बार विश्व एमेच्योर बॉक्सिंग चैंपियन का खिताब जीतने वाली पहली महिला बनकर इतिहास रच दिया।

मिताली राज

अपनी टीम के साथ गर्व से सिर ऊँचा करने वाली, पुरुषों के ठीक बगल में, मिताली राज ने पुरानी धारणा – कि क्रिकेट पुरुषों का खेल है, को तोड़ दिया है ।

भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तान, मिताली राज के नाम कई प्रशंसाएँ हैं। इस साल जून में, वह टी 20 पारी में 2000 रन तक पहुंचने वाली पहली भारतीय क्रिकेटर बनीं। 2005 और 2017 में विश्व कप फाइनल में अपनी टीम का नेतृत्व करने के बाद, वह एकमात्र भारतीय कप्तान (पुरुष या महिला) है, जिसने एक से अधिक विश्व कप फाइनल में उस पद को धारण किया।

मनिका बत्रा

23 साल की छोटी उम्र में, सफलता की बड़ी छलांग लगा चुकी मनिका बत्रा ने इस साल सम्मानित पहचान प्राप्त की। कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में, बत्रा ने भारतीय महिला टेबल टेनिस टीम का, अपनी पहली फाइनल जीत के लिए, नेतृत्व किया। टीम ने स्टैंडिंग चैंपियन, सिंगापुर को हराकर स्वर्ण पदक जीता।

उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में एक और कमाल करते हुए युगल में मौमा दास के साथ एक रजत भी हासिल किया। इतना ही नहीं, बल्कि मनिका ने इस स्पर्धा के एकल में स्वर्ण पदक भी जीता। युवा खिलाड़ी ने 2018 में असाधारण प्रदर्शन करते हुए, यह साबित किया कि हमारे खिलाड़ियों की रगों में क्रिकेट के अलावा भी कुछ अधिक है।

दीपिका पादुकोण

आईएमडीबी के अनुसार, यह खूबसूरत अभिनेत्री इस वर्ष की नंबर वन भारतीय स्टार रही हैं, यहां तक कि इन्होंने एसआरके की पसंद को भी पीछे छोड़ दिया। बेशक, 2018 पादुकोण के नाम रहा।

हाल ही में रणवीर सिंह के साथ अपनी खूबसूरत, मंहगी बॉलीवुड शादी के लिए खबरों में रहीं, दीपिका ने अपनी लोकप्रियता को बनाए रखा। फोर्ब्स इंडिया 2018 की सबसे अमीर हस्तियों की सूची में, अभिनेत्री चौथे स्थान पर रहीं। यह पहली बार था जब किसी महिला ने शीर्ष पांच में अपनी जगह बनाई हो, इन ऊंचाईयों को छूने के बाद अब और क्या दीपिका के लिए करना बाकी रह गया है?

Summary
Article Name
2018 की सफल महिलाएं
Author
Description
छह महिलाएं जिन्होंने 2018 में हम भारतीयों को गौरवान्वित किया है। अधिक जानने के लिए पढ़े।