Home / Politics

Category Archives: Politics

पुलवामा अटैक पर ऐक्शन की जरूरत

पुलवामा अटैक आखिर हुआ क्यों? कहाँ हैं हमारी इंटेलिजेंस? कहाँ हैं हमारी काउंटर इंटेलिजेंस? हम हमेशा पाकिस्तान के प्रशासन और रक्षा बलों में अपने लोगों के बारे में बात करते हैं, कहाँ थे वे सब? क्या उरी या राज़ी को देखने में व्यस्त थे और खुद को बधाईयाँ दे रहे थे? गुरुवार को हम लोग एकबार फिर से एक राष्ट्र के रूप में सामने आए। हमारे बच्चों और दुनिया ने हमें एक अविकसित गणतंत्र और [...]

क्या सीबीआई बन गई है नेताओं के हाथ की कठपुतली?

यह एक ऐसा प्रश्न है जो जितना लोगों के सामने आता है उतना ही व्यक्तिपरक होता जा रहा है। सीबीआई (केंद्रीय जांच ब्यूरो) भारत सरकार की प्रमुख जाँच एजेन्सी है जो भारत के सर्वोच्च नागरिक द्वारा किए गए अपराध पर गौर करती है। हालांकि, सीबीआई के खिलाफ एक आम तर्क यह है कि यह हमेशा सत्ता पक्ष द्वारा अपने विरोधियों के खिलाफ अपने स्वयं के एजेंडे को लागू करने के लिए नियंत्रित की जाती है, [...]

क्या नेहरू-गांधी की विरासत को आगे बढ़ा पाने में सक्षम हो पाएंगी प्रियंका गांधी?

23 जनवरी 2019 को, प्रियंका गांधी वाड्रा को कांग्रेस पार्टी की महासचिव के रूप में नियुक्त किया गया था। 2019 के लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले ही इनका पार्टी में आना, वास्तव में एक महत्वपूर्ण कदम है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की छोटी बहिन प्रियंका को पार्टी की तरफ से पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी भी बनाया गया है। वास्तव में, ऐसा पहली बार है कि प्रियंका गाँधी को पार्टी के भीतर औपचारिक रूप [...]

लोकसभा चुनाव 2019 – कौन हैं दिग्गज?

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा 19 जनवरी को कोलकाता में यूनाइटेड इंडिया रैली का आयोजन किया गया था। इस रैली को लोकसभा चुनाव के पूर्व भाजपा के खिलाफ एकजुट विपक्ष की रणभेरी के रूप में देखा जा रहा है। हालाँकि, 2019 लोकसभा में आखिरी जीत हासिल करने के लिए कई दावेदार प्रयासरत हैं। पीएम की कुर्सी पर कई लोगों की नजरें टिकी हुई हैं लेकिन अब देखना यह है कि यह किसके हाथ [...]

राजनीतिक युद्ध का सबसे बड़ा मैदान उत्तर प्रदेश

1950 में राज्य का दर्जा प्राप्त करने वाला उत्तर प्रदेश, राष्ट्रीय राजनीति सहित कई चेतनाओं के साथ देश के सबसे लोकप्रिय और प्रमुख राज्यों में से एक रहा है। यह भारत का सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है और इसलिए यहाँ का वोट बैंक सबसे अधिक है। 80 लोकसभा सीटों के साथ उत्तर प्रदेश लोकसभा सीटों के मामले अव्वल है। राज्य को अक्सर संसद का मार्ग कहा जाता है, और शायद यह बात सौ फीसदी [...]

2018 की एक झलक

2019 के कैलेंडर को व्यवस्थित करने का समय आ गया है यह भी जरुरी है कि 2018 पर पुन: एक नजर डाली जाए। यही नए साल का सार है, सही कहा ना? पुन: नजर डालें और देखें कि हम कितना आगे आ गए हैं और इससे आगे क्या है। रुढ़ीवादिता या अनभिज्ञता, इनमें से किसी में भी कोई वृद्धि नहीं हुई। तो, आइए नजर डालें और 2018 को एक अंतिम रूप दें। इन 365 दिनों [...]

2018 में सुर्खियां बटोरने वाले राजनेता

देश में कांग्रेस के पुनरुद्धार और उत्तर प्रदेश के सीएम के सुर्खियों में रहने से लेकर, तेलंगाना और फिर जम्मू-कश्मीर में विधानसभा भंग करने तक, कई मायने में साल 2018 राजनीतिक उठापटक के परिदृश्य के साथ काफी महत्वपूर्ण रहा। राजनीति कभी इधर कभी उधर लुढ़कने वाले बिन पेंदी के लोटा की तरह है इसके सिवा और कुछ नहीं। हमारे प्रिय राजनेताओं के बिना राजनीतिक दृश्य क्या है? बिल्कुल, प्रिय ’नहीं? इसलिए, वर्ष की समाप्ति पर, [...]

केसीआर ने तेलंगाना के निर्विवाद नेता के रूप में अपने दावे पर लगाया जीत का ठप्पा

तेलंगाना की जनता ने तेलंगाना राष्ट्र समिति के (टीआरएस) के. चंद्रशेखर राव के पक्ष में दूसरे कार्यकाल के लिए निर्णायक रूप से मतदान किया। चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व वाले टीडीपी और कांग्रेस गठबंधन – महाकुट्टामी द्वारा आखिरी मिनट की चुनौती के बावजूद परिणाम आश्चर्यचकित करने वाले नहीं हुए। अंतिम परिणाम: कुल सीटें: 119           पार्टी            सीटें  वोटों की संख्या       वोट शेयर तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस)           88 9,700,749 46.9% इंडियन नेशनल कांग्रेस (आईएनसी) [...]

छत्तीसगढ़ चुनाव 2018

तीन महत्वपूर्ण राज्यों में हुई आश्चर्यजनक हार पार्टी के लिए खतरे की घंटी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2014 से देश पर शासन कर रहे हैं, लेकिन कई लोगों का मानना है कि उनकी अजेयता की पोशाक पहनने की शुरुआत अब हुई है। 2019 के आम चुनावों के लिए अब कुछ ही महीने बचे हैं, उसके बाद ऐसा लगता है कि मोदी के “अच्छे दिन” खत्म होने वाले हैं। हाल में हुई यह हार एक बड़ी [...]

कांग्रेस के हाथ से क्यों निकल गया मिजोरम?

16 दिसंबर को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) के अध्यक्ष राहुल गांधी की अध्यक्षता की पहली सालगिरह थी। और यह साल राहुल गाँधी के लिए कैसा रहा है! राहुल गाँधी को हर दूसरे दिन “पप्पू” कहने वाले मोदी के लिए, राहुल “2019 में गंभीर खतरे” के रूप में एक लंबा सफर तय कर चुके हैं। 11 दिसंबर को, पांचों राज्यों के विधानसभा चुनावों के लिए परिणाम घोषित किए गए थे और इन पांचों राज्यों में कांग्रेस [...]