Home / Cricket / भारत बनाम पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी 2017

भारत बनाम पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी 2017

June 3, 2017


Please login to rate

icc-champions-trophy-2017-ind-vs-pak-hindi

4 जून को बर्मिंघम में खेले जाने वाले, भारत बनाम पाकिस्तान से बडा मुकाबला आपको देखने को नही मिल सकता। दोनों देशों के बीच क्रिकेट के संबंधों में स्थिरता बनी हुई है क्योंकि भारत सरकार ने एक दृढ़ प्रतिज्ञा कर ली है कि जब तक सीमावर्ती आतंकवाद पूरी तरह से समाप्त नहीं हो जाता, वे अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान के साथ कोई क्रिकेट सीरीज नहीं खेलेंगे। इस फैसले के मद्देनजर, जब दोनों देश अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में एक दूसरे के सामने आते हैं, तो क्रिकेट प्रेमियों को क्रिकेट में सबसे बड़ा मुकाबला देखने का आनन्द एक निश्चित समय पर ही लिया जा सकता है। दुनिया भर के प्रशंसकों और आईसीसी को यह खेल कितना पसन्द है, इस तथ्य से पता लगाया जा सकता है कि इस मुकाबले को करवाने के लिए दलों में बदलाव किया गया था।

50 ओवर ओडीआई हो या 20 ओवर टी-ट्वेन्टी आईसीसी विश्व कप के टूर्नामेंट में पाकिस्तान भारत को कभी नहीं हरा पाई है। चैंपियन्स ट्रॉफी या मिनी वर्ल्ड कप के नाम से लोग इसे संबोधित करते हैं,  यह पूरी तरह से दूसरे प्रारूपों से भिन्न है, इस मुकबले में पाकिस्तान 2-1 की बढ़त के साथ भारत से ऊपर है। भारत और पाकिस्तान आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में तीन बार आमना सामना हुआ है और भारत उन्हें हराने में केवल एक बार कामयाब रहा है।

उन तीन मैचों की संक्षिप्त झलक:

चैंपियंस ट्रॉफी 2004 – मैच 12,  बर्मिंघमः पाकिस्तान ने भारत को 3 विकेट से हराया

बल्लेबाजी के तिलिस्म कहे जाने वाले भारतीय ओपनर सचिन तेंदुलकर अपनी कोहनी की चोट के कारण यह मैच नही खेल पाए जिसका असर तब दिखाई दिया जब पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया और 28 रन के स्कोर पर भारत के 3 महत्वपूर्ण विकेट हासिल करने में सफल रहा। द्रविड़ और कैफ ने भारतीय पारी को एक बार फिर से सँभालने की कोशिश की लेकिन कैफ 28 रन का निजी स्कोर बनाने के बाद पवेलिन लौट गए जब टीम का स्कोर 73 रन था। इससे यह सिद्ध हो रहा था कि भारत बड़ा स्कोर बनाने में कामयाब नही हो पाएगा। इसके बाद द्रविड़ ने 67 रनों का योगदान दिया और निचले क्रम में अगरकर ने 47 रनों का योगदान देकर टीम का स्कोर 200 रनों तक पहुँचाया।

200 रनों का स्कोर सुरक्षित नही था लेकिन इरफान पठान ने शुरुआती सफलताएँ हासिल कीं और पाकिस्तान के 27 रन के स्कोर पर 3 विकेट गिराने में सफल रहे। इससे थोड़ी आशा की किरण नजर आई लेकिन अनुभवी इंजमाम और स्टाइलिश युसूफ योहाना की जोड़ी ने इस स्कोर का जल्द ही पीछे कर कर लिया। चौथे विकेट के लिए युसूफ योहाना की शानदार 75 रनों की अर्धशतकीय पारी से भारत की उम्मीदो पर पानी फिर गया। अंत में शाहिद अफरीदी ने 12 गेंदों पर ताबडतोड़ 25 रन बनाकर मैच जीत लिया। योहाना की 81 रनों की सर्वश्रेष्ठ पारी की वजह से भारत को हार का स्वाद चखना पड़ा। यूसुफ योहाना मैन आफ दि मैच रहे।

चैंपियंस ट्रॉफी 2009 – मैच 6,  सेंचुरियन

2009 में पाकिस्तान ने टॉस जीता लेकिन इस बार उन्होंने सेंचुरियन के अच्छे विकेट पर बल्लेबाजी करने का फैसला किया और भारत को  54 रन से हराया। नेहरा और आरपी सिंह ने शुरुआती दौर में पाकिस्तान के 65 रन पर 3 विकेट गिरा दिए। आप ऐसे बड़े मैचों के खिलाडियों से अच्छे खेल की उम्मीद करते हैं जिसका दायित्व शोएब मलिक और यूसुफ योहाना की चौथी विकेट के लिए 206 रनों की रिकार्ड साझेदारी से निभाया और भारतीय गेंदबाजों के हौसलों को पस्त कर दिया। मलिक ने 128 रनों की शानदार पारी खेली और योहाना जिन्होंने इस्लाम को कुबूल करने के लिए अपना नाम बदलकर मोहम्मद यूसुफ रखा, उन्होंने 88 गेंदों पर 87 रन बनाए। पाकिस्तान के निचले क्रम ने बहुत अधिक योगदान नहीं दिया लेकिन फिर भी पाकिस्तान ने 302 रनों का लक्ष्य बनाने में सफल रही।

इस बड़े लक्ष्य का पीछा करने के लिए भारत को एक बड़ी साझेदारी की जरूरत थी, लेकिन 23 रन के स्कोर पर मोहम्मद आमिर ने सचिन को कैच आउट कर दिया। द्रविड़ और गंभीर की 67 रन की साझेदारी ने पाकिस्तान को एक बार सोचने के लिए मजबूर कर दिया, लेकिन गंभीर 57 रन पर रन-आउट हो गए, इसके बाद भारत संकट़ में आ गया। रैना ने 46 रनों की पारी खेली, लेकिन भारतीय टीम के लिए मैच जीतना एक मुश्किल काम था और भारतीय टीम 54 रनों से हार गई। मलिक अपने 128 रनों की बदौलत मैन आफ दि मैच चुने गए।

चैंपियंस ट्रॉफी 2013 – मैच 10, बर्मिंघमः भारत ने पाकिस्तान को डकवर्थ लुइस नियम के अनुसार 8 विकेट से हराया

आखिरकार, भारत ने 2013 के चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के खिलाफ जीत दर्ज कर ली थी। बारिश  के कारण, यह 40 ओवरों का मैच खेला गया था। खेल शुरू होने के बाद, भारतीय गेंदबाज़ों ने काफी प्रभाव डाला। भुवनेश्वर कुमार ने नासिर जमशेद को 2 रन पर आउट कर दिया, उस समय टीम का स्कोर 4 रन था। कामरान अकमल और हफीज ने 46 रन की साझेदारी की, लेकिन हफीज विकेट के पीछे धौनी के द्वारा कैच किए गए। इसके बाद पाकिस्तान की पारी कहीं पर भी सँभल नहीं पाई और अंततः 39.4 ओवर में 165 रन बना पाई।

बारिश ने फिर से मैच बाधित किया और भारत के लिए 102 रनों का लक्ष्य निर्धारित किया गया। शिखर धवन ने शीर्ष क्रम में 41 गेंद पर 48 रन की पारी खेली, जिससे पाकिस्तान को मैच में वापस आने की कोई उम्मीद नहीं रह गई। विराट कोहली और दिनेश कार्तिक ने क्रमशः 22 और 11 रन बनाकर टीम को जीत दिलाई। भुवनेश्वर कुमार को 2 विकेट और 19 रन बनाने के लिए, मैन ऑफ द मैच चुना गया।