Home / Education / भारतीय भाषाओं के बारे में 21 रोचक तथ्य

भारतीय भाषाओं के बारे में 21 रोचक तथ्य

January 24, 2019


Please login to rate

भाषाओं के बारे में रोचक तथ्य

भाषा संचार का एक माध्यम है। हम सभी संचार के लिए अलग-अलग बोलियों, हाथ के इशारों और अभिव्यक्तियों का उपयोग करते हैं। पूरे विश्व में, विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न प्रकार की भाषाओं का उपयोग किया जाता है। भारत में विविध प्रकार की भाषाएं बोली जाती हैं। 1961 की जनगणना के अनुसार, भारत में लगभग 1652 भाषाएँ बोली जाती थीं। भारत देश में बोली जाने वाली आम भाषा हिंदी है। इसे 14 सितंबर 1949 को भारत की आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया गया था। इस दिन को भारत में हिंदी दिवस के रूप में भी मनाया जाता है।

यदि आप भारत में भाषाओं के ज्ञान को पूरी तरह से नहीं जानते हैं, तो नीचे कुछ तथ्य दिए गए हैं, जिसे आपको अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए पढ़ना चाहिए।

  1. भारत का संविधान अंग्रेजी और हिंदी को भारत सरकार की आधिकारिक भाषाओं के रूप में नामित करता है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 343 (1) के अनुसार यह केवल देवनागरी लिपि में लिखी जाने वाली हिंदी है जिसे केंद्र सरकार की आधिकारिक भाषा के रूप में स्वीकार किया जाता है।
  2. भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में 22 भाषाओं को मान्यता दी गई है, जिसे दर्जा और आधिकारिक प्रोत्साहन भी दिया जाता है। 22 भाषाओं को अनुसूचित भाषाओं के रूप में संदर्भित किया गया है।
  3. तमिल, संस्कृत, मलयालम, ओडिया और तेलुगु भाषा को काफी पुरानी होने की वजह से इनको शास्त्रीय भाषाओं का गौरव प्राप्त हुआ है।
  4. भारत की लगभग सभी भारतीय भाषाएँ एफ्रो-एशियाटिक, द्रविड़ियन, इंडो-आर्यन और सिनो-तिब्बती 4 समूहों में से एक में आती हैं।
  5. पूरे विश्व में हिंदी लगभग 500 मिलियन (50 करोड़) लोगों द्वारा बोली जाती है। हिंदी भाषा दुनिया भर में तीसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। बंगाली और पंजाबी भाषा भी शीर्ष 10 भाषाओं की सूची में शामिल है।
  6. मत्तूरु, जो कर्नाटक में शिमोगा जिले में स्थित है, गाँव के लोग एक-दूसरे से संस्कृत में बातचीत करते हैं।
  7. संस्कृत उत्तराखंड की दूसरी आधिकारिक भाषा है। इसे अक्सर लैटिन वंश से संबंधित माना जाता है।
  8. तेलुगु एक भारतीय भाषा है जिसे ‘इटैलियन ऑफ द ईस्ट’ कहा जाता है।
  9. आज के समय में फ्रेंच आमतौर पर पुडुचेरी में बोली जाती है।
  10. अंग्रेजी भारत के संविधान द्वारा निर्दिष्ट सर्वोच्च न्यायालय और उच्च न्यायालय की आधिकारिक भाषा है।
  11. सभी प्रमुख भारतीय महाकाव्य संस्कृत में लिखे गए हैं।
  12. अंग्रेजी भारत की मान्यता प्राप्त भाषाओं में से एक नहीं है। (संविधान की आठवीं अनुसूची के अनुसार, 22 भाषाएँ हैं जिन्हें मान्यता, दर्जा और आधिकारिक प्रोत्साहन दिया जाता है लेकिन अंग्रेजी उन 22 भाषाओं में से एक नहीं है)।
  13. सिंधी, कोंकणी, नेपाली, मणिपुरी, मैथिली, डोगरी, बोडो और संथाली वे भाषाएँ हैं जिन्हें संविधान में संशोधन के बाद संविधान की आठवीं अनुसूची में जोड़ा गया था। इससे पहले, 14 भाषाएँ थीं जिन्हें शुरू में संविधान में शामिल किया गया था।
  14. लगभग 99% उर्दू शब्द प्राकृत और संस्कृत भाषा से लिए गए हैं।
  15. लगभग सभी भारतीय लिपियाँ ब्राह्मी नामक एक ही लिपि से आती हैं।
  16. तमिल और संस्कृत, जो दोनों दुनिया की सबसे पुरानी भाषाओं में से एक है और यह बोलचाल की भाषा में निहायत सबल थी, क्योंकि यह लेखन में दुनिया के अन्य हिस्सों की तुलना भारत में बहुत बाद में आई।
  17. 1999 में यूनेस्को द्वारा 1952 में हुए बंगाली भाषा आंदोलन को मनाने के लिए 21 फरवरी को “अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस” घोषित किया गया था।
  18. भारत में कुछ राज्यों की अपनी आधिकारिक भाषाएं भी हैं जैसे जम्मू और कश्मीर की आधिकारिक भाषा उर्दू है, उत्तराखंड की संस्कृत और गोवा की कोंकणी है।
  19. 2011 की सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन रिपोर्ट के अनुसार 234 पहचान योग्य मातृभाषाओं को मान्यता दी गई है।
  20. अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लोग बंगाली, हिंदी, मलयालम, निकोबारी, तमिल और तेलुगु भी बोलते हैं।
  21. जर्मनी में संस्कृत काफी लोकप्रिय है। जर्मनी में लगभग 10 विश्वविद्यालय हैं जिनमें संस्कृत एक विषय के रूप में शामिल है।
Summary
Article Name
भारतीय भाषाओं के बारे में 21 रोचक तथ्य,
Author
Description
पूरे विश्व में, विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न प्रकार की भाषाएं बोली जाती हैं। भारत में विविध प्रकार की भाषाओं का प्रयोग होते हुए देखा जा सकता है। भारतीय भाषाओं के बारे में अधिक जानने के लिए पढ़ें।