Home / / प्रधानमंत्री मोदी का न्यू इंडिया विजन 2022

प्रधानमंत्री मोदी का न्यू इंडिया विजन 2022

August 18, 2017


Please login to rate

Untitled-1पिछले कुछ वर्षों में नीति आयोग ने भारत के विकास एजेंडे को बदलने में अग्रिम भूमिका निभाई है। प्रधानमंत्री मोदी का न्यू इंडिया विजन 2022 वास्तविक रूप से देश को एक गतिशील और उत्साही संस्था के रूप में देखता है, उम्मीद की जाती है कि नीति आयोग इस बदलाव में एक महतिवपूर्ण भूमिका निभायेगा। इसके अलावा, भारत सरकार के साथ-साथ राज्यों के नेतृत्व वाले विभिन्न संस्थान को बदलते माहौल के अनुकूल होना भी बेहद जरूरी है। उन्हें इस प्रस्ताव पर नई चुनौतियों को मन से अपना लेना चाहिए। इसी समय यह भी बहुत महत्वपूर्ण है कि किए गए यह परिवर्तन संविधान में निहित मूल्यों के आधार पर किए गए हैं।

उचित प्रस्ताव का महत्व

यह बहुत महत्वपूर्ण है, कि इन संस्थानों ने लंबे अस्तित्व की वजह से भारत को महत्वपूर्ण मात्रा में ज्ञान लेने में सक्षम बना दिया है और इस अवधि ने उन्हें सामाजिक-आर्थिक-सांस्कृतिक संदर्भों में उचित स्थान प्रदान किया है। यह भी महत्वपूर्ण है कि लोगों के साथ-साथ देश की आकांक्षाओं को वह सम्मान दिया गया है, जिसके वह योग्य थे और यह करने के लिए प्रशासन के विभिन्न क्षेत्रों में कई महत्वपूर्ण बदलाव करने होंगे। यह भी महत्वपूर्ण है कि नीतियों में परिवर्तन गतिशील हो ताकि अद्वितीय बदलाव को प्रोत्साहन प्रदान किया जा सके और इसका अच्छी तरह उपयोग किया जा सके।

सबका विकास

पाँच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले नरेंद्र मोदी ने यह वादा किया था, कि उनकी सरकार सभी लोगों के लिए एक समान रूप से विकास कार्य करेगी चाहे उन्होंने उनकी सरकार को वोट दिया हो या न दिया हो। ऐसा करके उन्होंने देश और देश में रहने वाले लोगों को फिर से परिभाषित करने की कोशिश की। उन्होंने कहा है कि इस चुनाव के परिणाम न्यू इंडिया की नींव रखेंगे। उन्होंने लोगों से यह भी वादा करने को कहा कि वे 2022 तक होने वाले इस बदलाव में अपनी अहम भूमिका निभाएंगे। दिलचस्प बात तो यह है कि वर्तमान राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार की मौजूदा अवधि केवल 2019 तक ही है।

2022 का महत्व

तथ्य यह है कि भारत की आजादी की 75 वीं वर्षगांठ के रूप में वर्ष 2022 देश के इतिहास में एक महत्वपूर्ण वर्ष है। उन्होंने अपने इस महत्वाकांक्षी नए कार्यक्रम के उद्देश्यों में गरीबों के लिए पक्के घर, किसानों के लिए दोहरी आय, भारतीय महिलाओं और युवाओं के लिए बहुत से अवसरों पर प्रकाश डाला तथा कहा कि भारत में जातिवाद, भ्रष्टाचार, आतंकवाद और भाई-भतीजेवाद जैसी बीमारियों के लिए कोई जगह नहीं है। वे 2022 भारत को सच्चे अर्थों में एक स्वच्छ भारत बनाना चाहते हैं।

सरकार की प्रतिक्रिया

प्रधानमंत्री कार्यालय, पूरे देश के लोगों से एक लेटेस्ट भाषण के लिए उस क्षेत्र के प्रशासन के महत्वपूर्ण क्षेत्रों पर अपने विचार प्रदान करने को कहता था, लोग अपने विचारों को ईमेल या स्मार्टफोन के माध्यम से भेज सकते थे। इच्छुक लोगों को Narendra Modi ऐप के साथ-साथ MyGov वेबसाइट के माध्यम से भी ऐसा करने के लिए कहा गया था। जाहिर है, प्रधानमंत्री ने पूरे भारत के लगभग 10,000 सुझाव प्राप्त किए। उन्होंने निम्नलिखित मुद्दों पर अपने विचार प्रकट किये –

  • काला धन
  • शिक्षा
  • पर्यावरण
  • नौकरियाँ
  • अर्थव्यवस्था का डिजिटलीकरण