Home / / भारत में शीर्ष पाँच क्रिकेट अकादमी

भारत में शीर्ष पाँच क्रिकेट अकादमी

July 25, 2017


Please login to rate

top-five-cricket-academies-in-india-hindiभारत में क्रिकेट एक धर्म की तरह है, यह देश में सबसे लोकप्रिय खेल का ही नहीं बल्कि उससे भी कुछ अधिक मायने रखता है। भारतीयों को यह खेल ब्रिटिश से आये औपनिवेशिक स्वामियों (अंग्रेजों) द्वारा सिखाया गया था। क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करके भारत शीर्ष पर पहुँच गया है और इसका सारा श्रेय क्रिकेट अकादमियों को दिया जा सकता है।

नेशनल क्रिकेट अकादमी

बेंगलुरु में स्थित नेशनल क्रिकेट अकादमी, बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया (बीसीसीआई) द्वारा संचालित एक आधिकारिक क्रिकेट अकादमी है। राष्ट्रीय स्तर के प्रशासक द्वारा समर्थित होने के कारण, यह भारत में अपनी तरह की सबसे बेहतरीन क्रिकेट अकादमी है। इस अकादमी की स्थापना वर्ष 2000 में चिन्नास्वामी स्टेडियम में की गई थी। वर्तमान समय तक भारत के कई महान क्रिकेटरों सहित कपिल देव, सुनील गावस्कर, अनिल कुंबले और रवि शास्त्री के इस अकादमी से रिश्ते जुड़े हुए हैं। इस अकादमी का मुख्य उद्देश्य भारत में क्रिकेट की उभरती प्रतिभाओँ के साथ-साथ वर्तमान में भारत की राष्ट्रीय टीम की स्थिति को सुधारना है, इसके लिए इस अकादमी को क्रिकेट की नवीनतम और सर्वोत्तम सुविधाओँ से लैस किया गया है। वास्तव में, यहाँ पर पुरुषों की नेशनल टीम, ए टीम और अंडर 19 टीम के शिविर आयोजित किये जाते हैं।

कर्नाटक इंस्टीट्यूट ऑफ क्रिकेट

कर्नाटक इंस्टीट्यूट ऑफ क्रिकेट (केआईओसी) भारत की सबसे प्रसिद्ध क्रिकेट अकादमियों में से एक है। बेंगलुरू के ठीक मध्य में स्थित इस अकादमी की स्थापना 1966 में की गई थी। इस अकादमी के दुनिया के अन्य हिस्सों में स्थित इस प्रकार की अकादमियों के साथ अच्छे संबंध हैं। यह देश की एकमात्र ऐसी क्रिकेट अकादमी है जो पूरे साल पाठ्यक्रम प्रदान करती है। अकादमी को एक उत्कृष्ट ख्याति प्राप्त है, यहाँ पर इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका और मलेशिया जैसे देशों के छात्र अध्यन करते हैं। इसमें फिटनेस प्रोग्राम, तकनीकी विश्लेषण और अकादमिक सत्रों के साथ विविध पाठ्यक्रम शामिल हैं।

नीरजा मोदी क्रिकेट अकादमी

जयपुर में स्थित नीरजा मोदी क्रिकेट अकादमी, एनएमसीए के नाम से जानी जाती है। इसकी स्थापना वर्ष 2001 में विनोद माथुर द्वारा की गई थी। अकादमी में सभी प्रकार की बेहतरीन क्रिकेट सुविधाएं उपलब्ध हैं जो किसी भी इच्छुक खिलाड़ी को खेलने के लिए प्रदान की जाती हैं और यहाँ कोच भी उपल्बध हैं जो क्रिकेट के विशेषज्ञ हैं। इन सभी महत्वपूर्ण कारकों के संयोजन के लिए इसका धन्यवाद, एनएमसीए अब भारतीय क्रिकेट के क्षेत्र में सबसे अधिक प्रसिद्ध नाम बन गयी है। इस अकादमी के मुख्य कोच विनोद माथुर ने स्वयं राजस्थान की रणजी टीम का नेतृत्व किया है और अब वह बीसीसीआई की तकनीकी समिति के सदस्य हैं। हाल ही में भारतीय क्रिकेट टीम में खेलने वाले पंकज सिंह इस समय एनएमसीए के मौजूदा कोच हैं।

जयपुर क्रिकेट अकादमी

जयपुर क्रिकेट अकादमी देश की शीर्ष पर दूसरी क्रिकेट अकादमी होने का दावा कर सकती है। वास्तव में, यह कहा जाता है कि भारत में कुछ बेहतरीन प्रशिक्षण सुविधाएं और कोच उपलब्ध हैं। राजस्थान के लिए पूर्व रणजी खिलाड़ी शमशेर सिंह ने 2010 में इस अकादमी की स्थापना की थी। 2013 में उनका निधन हो गया लेकिन उसके बाद भी यह अकादमी निरंतर चल रही है। इसका उद्देश्य अपने छात्रों को एक सुविधाजनक वातावरण उपलब्ध कराना है जहाँ उन्हें ठीक से प्रशिक्षित करके उनकी संभावित क्षमताओँ को विकसित किया जा सके। यहाँ पर खिलाड़ियों को हर संभव नये कौशल को सिखाने का प्रयास किया जाता है। कोचिंग पाठ्यक्रम वर्ष में हर समय उपलब्ध हैं। मोहम्मद हबीब और देवेंद्र पाल सिंह यहाँ के मुख्य कोच हैं।

नेशनल स्कूल ऑफ क्रिकेट

भारत की शीर्ष क्रिकेट अकादमियों में से एक नेशनल स्कूल ऑफ क्रिकेट, देहरादून के पुरुकुल से लगभग 15 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। यह अपने छात्रों को सभी नवीनतम और सर्वोत्तम सुविधाएं मुहैया कराता है। वास्तव में, यहाँ पर कोचिंग सुविधाएं और ग्राउंड की गुणवत्ता को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) से मंजूरी प्राप्त है, जो आपको इस अकादमी की गुणवत्ता के बारे में बताता है। यहाँ पर उपलब्ध समग्र बुनियादी ढांचा वास्तव में बहुत अच्छी तरह से संगठित किया गया है। इस अकादमी के छात्र पूर्णकालिक संवर्धन (प्रशिक्षण) और आवासीय कार्यक्रमों के लिए आवेदन कर सकते हैं।