Home / Health / एड्स के बारे में 12 आम मिथक और सच्चाई

एड्स के बारे में 12 आम मिथक और सच्चाई

January 16, 2019


Please login to rate

एड्स से संबंधित मिथक

एड्स के बारे में कई गलत धारणाएँ और मिथक मौजूद हैं। यहां तक कि शिक्षित लोग और प्रतिष्ठित व्यक्ति भी इस बीमारी के कुछ बुनियादी तथ्यों से अनजान हैं। जिस वजह से जो लोग इस बीमारी से पीडित हैं उन्हें छुआछूत जैसे मामलों का सामना करना पड़ता है। तो, आइए कुछ बातों को समझते हैं और ऐसी स्थिति के बारे में थोड़ा और जानकारी लेते हैं? यह जानकर कि यह कैसे हो सकता है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह फैलता नहीं है, आप अपने आप को इन सब चिंताओं से मुक्त कर सकते हैं। यह समय एड्स के मिथकों पर विराम लगाने का है। आइए सबसे पहले यह जानते हैं कि यह कैसे स्थानांतरित होता है।

एचआईवी / एड्स संक्रमित शरीर के तरल पदार्थ जैसे स्तन का दूध, गुदा या योनि स्राव, वीर्य और रक्त से ही फैलता है। यह आमतौर पर निम्नलिखित तरीकों से फैलता है :

  • स्तनपान के दौरान, और गर्भावस्था के दौरान मां से बच्चे में भी। यह बच्चे के जन्म के दौरान भी हो सकता है।
  • असुरक्षित यौन संबंध
  • संक्रमित अंग प्रत्यारोपण और रक्त दान
  • संक्रमित सुइयों का उपयोग करना

ये चार तथ्य मुख्य हैं और बाकी जो हम इस बीमारी के बारे में सुनते हैं वे तर्कहीन और भय पैदा करने वाली और झूठी अफवाहें हैं। आइए एचआईवी / एड्स को लेकर फैले आम मिथकों पर एक नजर डालें।

मिथक 1: मुझे किसी ऐसे व्यक्ति से एचआईवी / एड्स हो सकता है जो प्रभावित नहीं है।

वास्तविक तथ्य: आपको केवल उसी व्यक्ति से संक्रमण हो सकता है जो पहले से ही प्रभावित है। यदि आप किसी डाइग्नोस व्यक्ति के संपर्क में नहीं हैं तो आप सुरक्षित हैं।

मिथक 2: मैं एचआईवी प्रभावित व्यक्ति के शौचालय का उपयोग नहीं कर सकता।

वास्तविक तथ्य: संक्रमित व्यक्ति के मूत्र, पसीने, आँसू या मल में एचआईवी मौजूद नहीं होता है। इस प्रकार, एचआईवी इनसे नहीं फैल सकता है।

मिथक 3: मच्छरों से एचआईवी फैल सकता है।

वास्तविक तथ्य: आपको मच्छर के काटने से एचआईवी नहीं फैल सकता। जब मच्छर किसी व्यक्ति को काटता है तो सिर्फ सैलाइवा ही ह्यूमन बॉडी में ट्रांसमिट होता है। किसी प्रभावित व्यक्ति का चूसा हुआ एचआईवी इन्फेक्टेड ब्लड मच्छर ट्रांसमिट नहीं करता। तो, इस स्थिति में संक्रमण फैलने की कोई संभावना नहीं होती।

मिथक 4: एचआईवी संक्रमित व्यक्ति के आस-पास रहने से यह व्यक्ति को संक्रमित कर सकता है।

वास्तविक तथ्य: एक ही कमरे में रहने से भी एचआईवी प्रभावित व्यक्ति से आपको एड्स नहीं होगा। इसका मुख्य कारण है कि एचआईवी हवा में नहीं फैलता। तो, भले ही वे थूकते हों, छींकते हों, या खांसते हों, आपको एचआईवी नहीं होगा। हालांकि, इस बीमारी से आपको ठंड का एहसास हो सकता है, लेकिन यह जानलेवा बीमारी नहीं है।

मिथक 5: मुझे एचआईवी हो सकता है यदि मैं किसी ऐसे व्यक्ति को छूता हूं जिसे एड्स है।

वास्तविक तथ्य:  एचआईवी केवल शरीर के अंदर ही जीवित रह सकता है। बाहर नहीं। तो आपको किसी संक्रमित व्यक्ति को छूने मात्र से एड्स नहीं हो सकता। स्पर्श करना, गले लगाना और हाथ मिलाना इन सभी से आप सुरक्षित हैं।

मिथक 6: मुझे जानवरों से एचआईवी हो सकता है।

वास्तविक तथ्य:  एचआईवी केवल मनुष्यों के माध्यम से फैल सकता है। एचआईवी खुद मानव इम्युनोडिफीसिअन्सी वायरस से होता है। अतः उनसे इस बीमारी के होने का औचित्य ही नहीं बनता। और, यह एड्स प्रभावित लोगों द्वारा पालतू जानवरों को छूने और उनके साथ खेलना पूरी तरह से सुरक्षित है।

मिथक 7: मुझे पानी से एचआईवी हो सकता है।

वास्तविक तथ्य:  एचआईवी पानी में जीवित नहीं रह सकता है। यदि आप एड्स से पीड़ित लोगों के साथ शॉवर क्षेत्र, स्नान स्थान, स्विमिंग पूल पर जाते हैं, तो यह पूरी तरह से सुरक्षित है। आप अपने कपड़े भी उनके साथ धो सकते हैं। वास्तव में, इससे आपको कोई नुकसान नहीं।

मिथक 8: मुझे विसंक्रमित या नई सुइयों से एचआईवी हो सकता है।

वास्तविक तथ्य:  सबसे पहले, नई सुई पूरी तरह से सुरक्षित होती है क्योंकि वे एड्स संक्रमित व्यक्ति के अंदर नहीं गईं हैं। उपयोग की गई सुइयों का उपयोग भी किया जा सकता है, यदि वे ठीक से साफ और कीटाणुरहित हैं।

मिथक 9: मुझे भोजन से एचआईवी हो सकता है।

वास्तविक तथ्य:  यहां तक कि अगर आपका भोजन तैयार करने वाला व्यक्ति एचआईवी से संक्रमित है, तो यह संभावना नहीं है कि आपको एड्स हो जाएगा। हालाँकि, संक्रमित व्यक्ति की लार में एचआईवी की बहुत कम मात्रा मौजूद होती है। जो आपको संक्रमित करने के लिए बहुत कम है। इसी तरह, एचआईवी सतहों पर जीवित नहीं रह सकता है। तो, खाना पकाने के लिए एक ही बर्तन का उपयोग करना सुरक्षित है।

मिथक 10: मुझे पियर्सिंग और टैटू बनवाने से एचआईवी हो सकता है।

वास्तविक तथ्य: अगर सुइयों को संक्रमित व्यक्तियों के टैटू बनवाने के लिए इस्तेमाल किया गया है तो वह किसी अन्य व्यक्ति के लिए जोखिम हो सकता है। हालांकि, अधिकांश पेशेवर प्रत्येक ग्राहक के लिए नई या निष्फल सुइयों का उपयोग करते हैं। जिससे खतरा नहीं रहता।

मिथक 11: यदि मुझे और मेरे साथी दोनों को एचआईवी है, तो हमें इसके बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं है।

वास्तविक तथ्य: यह आपके लिए चिंता का विषय है। स्पष्ट रूप से एचआईवी के कई उपभेद हैं। यदि आप एक-दूसरे के साथ यौन संबंध बनाते हैं तो यह आपके लिए खतरनाक हो सकता है। और, यह आपके उपचार में हस्तक्षेप कर सकता है।

मिथक 12: मैं एचआईवी से बचाव कर सकता हूं <यहां पर सबसे घृणित चीज की प्रविष्टि करें जिसे आपने सुना है>

वास्तविक तथ्य: यदि आप सेक्स कर रहे हैं, तो एकमात्र तरीका है कि आप एड्स को रोक सकते हैं या तो कंडोम का उपयोग करके या प्री-एक्सपोजर प्रोफिलैक्सिस द्वारा।

मुझे आशा है कि आप जीवन और एड्स से पीड़ित लोगों को अब एक नई रोशनी में देखेंगे।

Summary
Article Name
एड्स के बारे में 12 आम मिथक और सच्चाई
Author
Description
एड्स को लेकर कई मिथक और भ्रांतियां हैं। यह लेख उनकी चर्चा करता है और उनका पर्दाफाश करता है।