Home / / नवंबर 2018 में भारतीय सांस्कृतिक त्यौहार

नवंबर 2018 में भारतीय सांस्कृतिक त्यौहार

October 29, 2018


Please login to rate

नवंबर 2018 में भारतीय सांस्कृतिक त्यौहार

नवंबर 2018 का महीना उल्लासपूर्ण उत्सवों के साथ शुरू होने वाला है। इस महीने के पहले सप्ताह में भव्य त्यौहार दीपावली के साथ-साथ गोबरधन पूजा और भाईदूज का त्यौहार मनाया जाएगा। इन सभी त्यौहारों के समाप्त होने के बाद, हमारा मन और मस्तिष्क उदास होने लगता है। लेकिन चिंता न करें! धार्मिक त्यौहारों के समापन के तुरंत बाद आपके लिए काफी संख्या में सांस्कृतिक त्यौहारों की शुरुआत होने लगती है। आपको पूरे देश में कार्तिक के शुभ महीने में भव्य मेले और धार्मिक उत्सव देखने को मिलेंगे। तो आप भारतीय संस्कृति का बेहतरीन अनुभव करने के लिए तैयार हो जाएं।

कच्छ का रण उत्सव

कच्छ का रण उत्सव

रण उत्सव नवंबर-फरवरी के महीनों में गुजरात में कच्छ के रण की सफेद रेत पर मनाया जाने वाला एक समृद्ध सांस्कृतिक त्यौहार हैं। आकर्षक और भव्यता के साथ यह पौराणिक त्यौहार सौहार्दपूर्ण आतिथ्य, साहसिक खेल, लोक नृत्य और जातीय अभिव्यक्तियों के साथ आनंद से भरपूर है।

उत्सव का स्थान: कच्छ का रण, गुजरात

मुख्य आकर्षण: घुड़सवारी, फूड स्टॉल, कैमेल सफारी, तीरंदाजी, और पैरामोटरिंग

उत्सव की तिथियां: 22 नवंबर – 23 नवंबर

पुष्कर पशु मेला

पुष्कर पशु मेला

परंपरागत पुष्कर पशु मेला दुनिया भर के यात्रियों के बीच एक मुख्य आकर्षण है। इस पशु मेले में लगभग 50,000 ऊंट शामिल होते हैं जो प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए काफी आकर्षक ढंग से सजाए जाते हैं। इस भव्य त्यौहार में घोड़ों, ऊंटों, गायों का व्यापार भी होता है।

उत्सव का स्थानः पुष्कर राजस्थान

मुख्य आकर्षणः कैमेल रेस, कैमेल सफारी, हॉर्स शो, ऊँट और गायों का ब्यूटी कान्टेस्ट, लोकनृत्य और गीत और एक्रोबेटिक्स

उत्सव की तिथियां- 15 नवंबर से 23 नवंबर 2018 तक

गंगा महोत्सव और देव दीपावली

गंगा महोत्सव और देव दीपावली

गंगा महोत्सव जैसा कि नाम से ही पता चलता है, कि यह त्यौहार जिसमें हजारों महिलाएं पवित्र नदी, गंगा के किनारे पूजा-अर्चना करती हैं। इस त्यौहार के दौरान शाम के समय नदी के किनारे हजारों जलते हुए मिट्टी के दीपक को देखना आपके लिए एक अद्भुत दृश्य होगा। देव दीपावली के दौरान नदी के किनारों पर वैदिक भजनों का जप करने जैसे विशेष अनुष्ठान भी किए जाते हैं।

उत्सव का स्थान: वाराणसी, उत्तर प्रदेश

मुख्य आकर्षण: बिरजू महाराज, सुजात खान, गिरिजा देवी, भीमसेन जोशी, जिला खान, अमजद अली खान और जाकिर हुसैन द्वारा आनंदपूर्ण प्रदर्शन

उत्सव की तिथियां: 20 नवंबर से 23 नवंबर 2018 तक

इंडिया सर्फ फेस्टिवल

इंडिया सर्फ फेस्टिवल

सर्फिंग प्रेमियों के लिए इंडिया सर्फ फेस्टिवल एक आनंद प्रदान करने वाला त्यौहार है। इस भव्य त्यौहार की शुरुआत सुबह योग के साथ शुरू होती है, बाकी दिनों में आप यहां की सर्फिंग प्रतियोगिताओं को देख सकते हैं। यह आयोजन पूरी दुनिया से अधिक संख्या में आए सर्फर्स को आकर्षित करता है। इस कार्यक्रम में पहली बार आए लोगों के लिए कार्यशालाएं एवं प्रशिक्षण सत्र भी आयोजित किए जाते हैं। इस त्यौहार का जश्न मनाने के लिए रात में नृत्य और संगीत कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाते हैं।

उत्सव का स्थानः उड़ीसा के पुरी के पास रमचंदी बीच

मुख्य आकर्षणः सर्फिंग प्रतियोगिता, नृत्य और संगीत कार्यक्रम

उत्सव की तिथियां: तारीखों की घोषणा अभी तक की जा रही है

बांगला महोत्सव

बांगला महोत्सव

बांगला महोत्सव फसलों के मौसम का उत्सव है और भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र में सर्दियों की शुरुआत है। इस त्यौहार को लोकप्रिय रूप से 100 ड्रम्स उत्सव के नाम से भी जाना जाता है। चमकदार वस्त्रों को पहन कर लोग सूर्य भगवान की पूजा- प्रार्थना करते हैं, ऑर्केस्ट्रा बजाते हैं और संगीत की धुन पर नृत्य करते हैं।

उत्सव का स्थान: असम और मेघालय का गारो क्षेत्र

मुख्य आकर्षण: सांस्कृतिक लोक नृत्य के साथ बड़े ड्रम, घंटा, बांसुरी और संगीत जैसे वाद्ययंत्र बजाना

उत्सव की तिथि: नवंबर 2018 का दूसरा सप्ताह

बूंदी उत्सव

बूंदी उत्सव

बूंदी उत्सव प्राचीन शहर बूंदी में उत्साह और जोश के साथ तीन दिनों तक मनाया जाने वाला एक सांस्कृतिक त्यौहार है। यह त्यौहार आरटीडीसी द्वारा आयोजित जातीय खेल आयोजनों, लोक नृत्य और अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों और प्रतियोगिताओं के साथ एक भव्य मेले का आयोजन करता है। इस उत्सव के दौरान शाम के कार्यक्रमों के समय शानदार आतिशबाजी की जाती है जो बच्चों और वयस्कों को काफी आकर्षित करती है।

उत्सव का स्थान: बूंदी, राजस्थान

मुख्य आकर्षण: दुल्हन मेकअप, पगड़ी बांधना, मूंछें, घुड़सवारी, कबड्डी और कैमेल रेस की प्रतियोगिता

उत्सव की तिथियां: 26 नवंबर – 28 नवंबर 2018